Profile cover photo
Profile photo
Stambeshwar Mahadev
32 followers -
Shivling, Stambheshwar Mahadev, Ancient Shiva Shrine, ancient Shivling in India, Shiva Temple
Shivling, Stambheshwar Mahadev, Ancient Shiva Shrine, ancient Shivling in India, Shiva Temple

32 followers
About
Posts

Post has attachment
PhotoPhotoPhotoPhoto
HAR HAR MAHADEV
4 Photos - View album
Add a comment...

Post has attachment
सोमवती अमावस को स्तंभेश्वर महादेव कंबोई मे शिव पूजा के लिये आप आईए।तथा नौ नदियो के संगम मे स्नान कीजिये । जय महादेव

#ancient #shivling #shiva #temple #ancientshivling #india #shiv #oldshivling #mahadev #harharmahadev #shivtemple #gujarat #shivpooja
PhotoPhotoPhoto
Stambheshwar Mahadev Temple
3 Photos - View album
Add a comment...

Post has attachment
An Ancient Shivling, also known as Disappearing Shiva Temple in Gujarat.

#ancient #shivling #ancientshivling #shiva #temple #india #Gujarat #shiv #oldshivling #shivtemple #mahadev #harharmahadev #shiv
Photo
Add a comment...

Post has attachment
HAR HAR MAHADEV. An Ancient Shivling, also known as Disappearing Shiva Temple. #shivling #mahadev #ancient #stambheshwar #temple  
Photo
Add a comment...

Post has attachment
कई बार गायब भी हो जाता है गुजरात का स्तंभेश्वर महादेव मंदिर. स्तंभेश्वर महादेव मंदिर भारत सबसे रहस्यमय मंदिरों में से एक है। स्तंभेश्वर महादेव मंदिर को गायब मंदिर भी कहा जाता है। इस मंदिर को गायब मंदिर कहने के पीछे एक अनोखी घटना है। वह घटना वर्ष में कई बार देखने को मिलती है, जिसकी वजह से ये मंदिर अपने आप में खास है।

स्तंभेश्वर महादेव मंदिर के गुजरात राज्य के वड़ोदरा (बड़ोदा) शहर से लगभग 60 कि.मी की दूरी पर स्थित कवि कम्बोई गांव में है। यह मंदिर अरब सागर में खंभात की खाड़ी के किनारे स्थित है। समुद्र के बीच में स्थित होने की वजह से इसकी खुबसूरती देखने लायक है। समुद्र के बीच स्थित होने के कारण न केवल इस मंदिर का सौंदर्य बढ़ता है, बल्कि एक अनोखी घटना भी देखने को मिलती है।इस मंदिर के दर्शन केवल कम ज्वार (लहरों) के समय ही किए जा सकते है। ऊंची ज्वार (लहरों) के समय यह मंदिर डूब जाता है। पानी में डूब जाने के कारण यह मंदिर दिखाई नहीं देता, इसलिए ही इसे गायब मंदिर कहा जाता है। ऊंची लहरें खत्म होने पर मंदिर के ऊपर से धीरे-धीरे पानी उतरता है और मंदिर दिखने लगता है। मान्यताओं के अनुसार, इस मंदिर का निर्माण कुमार कार्तिकेय ने तारकासुर नामक राक्षस का वध करने के बाद किया था। भगवान शिव के इस मंदिर की खोज लगभग 150 सालों पहले हुई थी।

इस मंदिर की यात्रा के लिए पूरे एक दिन-रात का समय रखना चाहिए। ताकि यहां होने वाले चमत्कारी दृश्य को देखा जा सके। सामान्यतः सुबह के समय ज्वार का प्रभाव कम रहता है, तो उस समय मंदिर के अंदर जाकर शिवलिंग के दर्शन किए जा सकते है। शाम से रात के समय में ज्वार का प्रभाव अधिक रहता है, जिसकी वजह से मंदिर को पानी में डूबते हुए देखा जा सकता है।
#शिवलिंग #स्तंभेश्वर #महादेव #ancient #mahadev #stambheshwar  
Photo
Add a comment...

Post has attachment
Ancient Shivling - Stambheshwar Mahadev Temple
#ancient #oldestshivling #shivlinga #mahadev #shivling  
PhotoPhotoPhotoPhotoPhoto
Ancient Shivling
6 Photos - View album
Add a comment...

Post has attachment
Gandinagar C.M House Adhikari Amrit Bhai Patel Performing Pooja at Stambheshwar Mahadev #oldestshivling #shivling #ancient  
PhotoPhotoPhotoPhotoPhoto
Stambheshwar Mahadev Temple
7 Photos - View album
Add a comment...

Post has attachment
Stambheshwar Mahadev Darshan Time Table #stambheshwarmahadev #ancientshivling #darshantimetable  
Visit http://stambheshwarmahadev.com/ for more details
Photo
Add a comment...

Post has attachment
An Ancient Shivling, also known as Disappearing Shiva Temple in Gujarat #shivling #oldestshivling #ancientshivling #shivatemple  
Photo
Add a comment...

Post has attachment
Coverage of Stambheshwar Mahadev Temple in Gujarat Newspaper #oldestshivling #shivatemple #Stambheshwarmahadev #shivling  
Photo
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded