Profile cover photo
Profile photo
अफ़लातून Aflatoon
2,343 followers -
Anti-Globalisation activist , General Secretary,Samajwadi Janaparishad
Anti-Globalisation activist , General Secretary,Samajwadi Janaparishad

2,343 followers
About
Posts

Post has attachment
(सारनाथ) अखिल भारत शिक्षा अधिकार मंच की प्रदेश स्तरीय बैठक सम्पन्न
समान शिक्षा आन्दोलन उत्तर प्रदेश लड़ेगा सभी के लिए समान शिक्षा के अधिकार की लड़ाई

अखिल भारत शिक्षा अधिकार मंच द्वारा आयोजित, समान शिक्षा का अधिकार एवं उच्च शिक्षा का सिकुड़ता दायरा विषय पर एक दिवसीय बैठक सारनाथ वाराणसी में सोमवार को सम्पन्न हुई।

बैठक में प्रख्यात शिक्षाविद प्रो अनिल सदगोपाल ने उपस्थित सैकडों लोगों को बताया कि भारत की शिक्षा व्यवस्था 85% के लायक नहीं रह गयी है। सरकार संविधान और जनता के हितों को ध्यान में रख कर शिक्षा नीतियों को नहीं बना रही है बल्कि पूंजीपतियों और विश्व बैंक के नीतियों और सोच को ध्यान में रख कर शिक्षा नीतियों को बना रही है। उन्होंने कहा कि अब देश की शिक्षा को बाजार के हवाले से निकलना होगा और केजी से पीजी तक की शिक्षा को मुफ्त करने की लड़ाई जनता को लड़ कर जीतनी होगी।

दोपहर बाद सभी जिलों के प्रतिनिधियों की सहमति से 'समान शिक्षा आंदोलन, उ0 प्र0 ' का गठन किया गया जिसके माध्यम से उ0प्र0 में समान शिक्षा की लड़ाई को मजबूत किया जाएगा। प्रो. महेश विक्रम सर्वानुमति से आंदोलन समिति के संयोजक चुने गए। कार्यक्रम में उत्तराखंड से नवेन्दु मठपाल जी और लखनऊ वि0वि0 के डॉ रविकांत जी भी संबोधित किये और आंदोलन में शिक्षकों की भूमिका एवं न उच्च शिक्षा के संकट को स्प्ष्ट किये। स्वागत भाषण अफलातून जी एवं संचालन डॉ स्वाति जी और डॉ नीता जी ने किया.

सम्मेलन में एक देश समान शिक्षा अभियान, भगतसिंह छात्र मोर्चा , इन्कलाबी छात्र मोर्चा, स्टूडेन्ट्स फ़ॉर चेंज , विद्यार्थी युवजन सभा के आलावा जॉइंट एक्शन कमिटी (का हि वि वि ) और बी. एड. संघर्ष मोर्चा (अलाहाबाद ) के प्रतिनिधि उल्लेखनीय संख्या में उपस्थित रहे।

कार्यक्रम के आयोजन में संतोष कुमार, राकेश भारद्वाज, डॉ राजेश यादव, रामदयाल वर्मा , डॉ आनन्द यादव, पंकज कुमार, दीनदयाल सिंह, वल्लभाचार्य पाण्डेय आदि ने प्रमुख रूप से सहयोग किया.
Photo
Add a comment...

Post has shared content
हाल ही में केंद्र सरकार ने किसानों की समस्याओं का हल खोजते हुए समर्थन मूल्य बढ़ाने की घोषणा की है। यदि समर्थन मूल्य बढ़ाने भर से किसानों की समस्याओं का हल संभव है तो फिर इतनी हाय-तौबा कृषि क्षेत्र की खराब हालत को लेकर क्यों हो रही है ? इस बढ़े हुए समर्थन…
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
हिंदुस्तान के संवाददाता सम्मेलन में मौजूद थे।
Add a comment...

Post has attachment
लाता मंगेशकर का एक शुरुआती गीत।
Add a comment...

Post has attachment
राष्ट्रीय सहारा , वाराणसी में खबर
https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=10156263840938646&id=684443645
Aflatoon Afloo
Aflatoon Afloo
m.facebook.com
Add a comment...

Post has shared content
कार्यक्रम सूचना /निमंत्रण
'अंग्रेजी हटाओ,भारतीय भाषाएं लाओ' आंदोलन की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में नगर के साहित्यकार, लेखक, पत्रकार,शिक्षकों तथा छात्रों का एक संकल्प मार्च लंका स्थित मालवीय प्रतिमा से शिवाला स्थित रत्नाकर उद्यान तक निकाला जा रहा है।दिनांक 24 दिसंबर,मध्याह्न 12 बजे।
आपके प्रतिष्ठित मीडिया प्रतिष्ठान के संवाददाता, छायाकार कार्यक्रम में सादर निमंत्रित हैं।
विनीत,
अफलातून, संयोजक,स्वर्ण जयंती तैयारी समिति
फोन 8004085923, aflatoon@gmail.com
Add a comment...

Post has shared content
कार्यक्रम सूचना /निमंत्रण
'अंग्रेजी हटाओ,भारतीय भाषाएं लाओ' आंदोलन की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में नगर के साहित्यकार, लेखक, पत्रकार,शिक्षकों तथा छात्रों का एक संकल्प मार्च लंका स्थित मालवीय प्रतिमा से शिवाला स्थित रत्नाकर उद्यान तक निकाला जा रहा है।दिनांक 24 दिसंबर,मध्याह्न 12 बजे।
आपके प्रतिष्ठित मीडिया प्रतिष्ठान के संवाददाता, छायाकार कार्यक्रम में सादर निमंत्रित हैं।
विनीत,
अफलातून, संयोजक,स्वर्ण जयंती तैयारी समिति
फोन 8004085923, aflatoon@gmail.com
Add a comment...

Post has shared content
प्रेस विज्ञप्ति
1967 में वाराणसी से शुरु हुए 'अंग्रेजी हटाओ आंदोलन' की स्वर्ण जयंती मनाने की योजना तैयार करने के लिए के लिए एक बैठक दुर्गाकुंड स्थित आनंद पार्क में संपन्न हुई। बैठक में बडी संख्या में 1967 के भाषा आंदोलन के सेनानियों के अलावा पत्रकार ,लेखक,अध्यापक और विश्वविद्यालय के छात्रों ने विचार विमर्श किया।
वक्ताओं ने कहा कि बीते 50 वर्षों में अंग्रेजी का वर्चस्व बढ़ा है तथा शिक्षा, प्रशासन, न्यायपालिका में इस कारण अयोग्यता बढ़ी है।अंग्रेजी न जानने वाले युवकों के प्रति उपेक्षा से शोषणकारी व्यवस्था निर्माण हुआ है जिसकी तुलना जातिगत शोषण से की जा सकती है।माध्यम के रूप में अंग्रेजी चलाने वाले स्कूल शिक्षा के व्यावसायीकरण के भी प्रतीक बन गये हैं। उच्च न्यायपालिका में भारतीय भाषाओ की उपेक्षा और निषेध के कारण अधिकांश नागरिकों के लिए बहस और फैसले समझ से परे होते हैं।
प्रदेश की न्यायिक सेवा की चयन प्रक्रिया में अंग्रेजी का वर्चस्व बढ़ाने के विरुद्ध इलाहाबाद स्थित राज्य लोक सेवा आयोग के समक्ष आयोजित विरोध प्रदर्शन को पूर्ण समर्थन देने का फैसला लिया गया।
वक्ताओं ने बताया कि भाषा आंदोलन को देश के मूर्धन्य साहित्यकारों ,वैज्ञानिकों,लेखकों और बुद्धिजीवियों का समर्थन मिला था।स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में साहित्य प्रकाशन,संगोष्ठी के अलावा पुनः एक व्यापक आंदोलन चलाने का संकल्प लिया गया।
बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ समाजवादी विजयनारायण ने की।बैठक में मुख्य तौर पर डॉ. विजय बहादुर सिंह , योगेंद्र नारायण शर्मा,प्रदीप श्रीवास्तव,राम दयाल पाल,प्रो सुरेंद्र प्रताप,प्रो महेश विक्रम, डॉ सरोज कुमार, डॉ स्वाति,डॉ नीता चौबे,वशिष्ठ मुनि ओझा, कुंवर सुरेश सिंह,विजेंद्र मीना,अशोक श्रीवास्तव, श्याम बाबु मौर्य, गणेश चतुर्वेदी तथा डॉ प्रभात महान थे। बैठक में अफलातून को तैयारी समिति का संयोजक नियुक्त किया गया।
प्रेषक,
अफलातून
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded