Profile cover photo
Profile photo
Yashpal Singh
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment
Photo
Add a comment...

Post has attachment
Photo
Add a comment...

Post has attachment
ये सुंदर शब्द कहाँ से लाते है।...
उनके सब्र का..... ...बाँध टूटा, कल उन्होंने पूछ... ..ही लिया, कि आप... .....लिखने के लिए, ये सुंदर शब्द कहाँ से लाते है।.... मैंने,बड़े सहज़ ही जबाब दिया, मैं शब्द कही से.. ..लाता नही, तुम्हारी सुंदरता........ को देख, खुद ही, जहन में....आ जाते हैं।.... ©Yashp...
Add a comment...

Post has attachment
तुम बिन बरसात, .........अब अच्छी नही लगती,
तुम बिन बरसात, .........अब अच्छी नही लगती, अच्छे गुजरते है दिन, पर रात अच्छी नही लगती, मिलते तो हम है, ...........सबसे मगर,तेरे सिवा, किसी और मुलाकात,....  से अच्छी नही लगती,
Add a comment...

Post has attachment
लौटकर अब, ..वो गुजरे जमाने नही आते।
लौटकर अब, ..वो गुजरे जमाने नही आते। ***************************************** खाया करते थे.... .....जो कभी कसमे, साथ मेरे जीने की......साथ मेरे मरने की। अब भूल गए ..वादों को, निभाने नही आते, लौटकर अब, ...वो गूजरे जमाने नही आते। पतझड़ में गिर जाये..गर दरख्त...
Add a comment...

Post has attachment
लौटकर अब, ..वो गुजरे जमाने नही आते।
लौटकर अब, ..वो गुजरे जमाने नही आते। ***************************************** खाया करते थे.... .....जो कभी कसमे, साथ मेरे जीने की......साथ मेरे मरने की। अब भूल गए ..वादों को, निभाने नही आते, लौटकर अब, ...वो गूजरे जमाने नही आते। खण्डर समझ बैठे है.....पुरान...
Add a comment...

Post has attachment
तुम्हें, कुछ लिखना..... हो अगर,
तुम्हें, कुछ लिखना..... हो अगर, तो, मेरे मन के ख्यालात लिख दो। कुछ अहसास....... लिखो, कुछ जज्बात ....लिख दो। तुम्हें, कुछ लिखना....... हो अगर, तो, मेरे मन के ख्यालात लिख दो। कुछ दिन की..... ..बातें लिखो, कैसे गुजरती है..रात लिख दो। तुम्हें, कुछ लिखना..........
Add a comment...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded