Profile

Cover photo
Srijan Shilpi
Attended Jawaharlal Nehru University
1,214 followers|6,109 views
AboutPostsPhotosVideos

Stream

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
 
स्कूल के दिनों में समूह प्रार्थना करते समय हमारे कुछ मुसलमान सहपाठी पंक्ति में ...
1
Add a comment...

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
आशा है कि न्यासिता (ट्रस्टीशिप) के बारे में गांधीजी के सिद्धांतों और ओमप्रकाश कश्यप द्वारा उन सिद्धांतों में इंगित की गई 'कमजोरियों' से अब तक आप अवगत हो चुके हैं। दरअसल, कश्यप जी द्वारा की गई आलोचना क...
1
Add a comment...

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
 
आज, जबकि भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन चलाने वाले लोग भी अपने-अपने ट्रस्ट और एनजीओ में फंड के हेर-फेर के मामले में कई तरह के सवालों के घेरे में आ रहे हैं, यह और भी जरूरी हो जाता है कि हम ट्रस्टीशिप के एक ऐसे मॉडल पर विमर्श करें, जो गांधीजी के आदर्शों के अनुरूप हो और वर्तमान दौर के लिए व्यावहारिक भी हो।
 ·  Translate
गांधीजी के ट्रस्टीशिप संबंधी सिद्धांत के कमजोर पक्ष. 22 October, 2011 | विषय-वस्तु : प्रेरक विचार, समसामयिक, जन सरोकार, विश्लेषण, अन्यत्र | 3 टिप्पणियाँ ». चार साल पहले शहीद ...
4
Add a comment...

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
 
क्या अण्णा ही हैं वह चिर-प्रतीक्षित? Aug 21st, 2011 | विषय-वस्तु : राजनीति, समसामयिक, जन सरोकार, कविता | पहली टिप्पणी आप करें ». करीबन दस साल पहले एक कविता लिखी थी, जिसे पहली ...
1
Add a comment...
Have him in circles
1,214 people
Sachin Khare's profile photo
ShivShakti Shukla's profile photo
Punit Sharma's profile photo
r d thappa's profile photo
Bhaskar Bhardwaj's profile photo
Gyan Prakash Singh's profile photo
kunal kumar's profile photo
Poora Sach's profile photo
realdude .in's profile photo

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
 
कहते हैं कि एक चित्र हजार शब्दों के बराबर अभिव्यक्ति करने में सक्षम होता है। मगर जब वह चित्र मौन को अभिव्यक्त करे तो …? उसके बराबर अभिव्यक्ति की क्षमता कितने शब्दों में होगी? अपनी कुछ पोस्टों में मैंने मौन को समझने और अभिव्यक्त करने के प्रयास किए हैं। लेकिन यदि आप अक्षय के इन चित्रों को देखें तो पता चलेगा कि शब्दों के बनिस्पत चित्र उसे कितने बेहतर अभिव्यक्त कर सकते हैं:
 ·  Translate
'मौन, शून्य और शांति' सत्य के प्राय: सभी साधकों के लिए अभिव्यक्ति के न सिर्फ प्रस्थान-बिंदु, बल्कि चरम गंतव्य भी रहे हैं। यह और बात है कि अभिव्यक्ति के लिए वे भले ही अलग-अलग माध्यम चुनते हों। अक्षय...
1
Add a comment...

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
इस वर्ष अप्रैल में जंतर-मंतर पर हुए अन्ना के असरकारी अनशन के बाद मैंने आशंका जाहिर की थी कि आंदोलन की सफलता का श्रेय और लाइमलाइट लूटने की पुरानी होड़ और व्यक्तित्वों की आपसी टकराहट उसे राह से भटका न द...
1
Add a comment...

Srijan Shilpi

Shared publicly  - 
 
“The truth is that power resides in the people and it is entrusted for the time being to those whom they may choose as their representatives. Parliaments have no power or even existence independently of the people. Civil Disobedience is the storehouse of power.” गांधीजी के इस कथन से सरकार सहमत नहीं है, पर क्यों, यह बताने के लिए वह तैयार नहीं है।
 
A.G. NOORANI warns us of being “unsafe and unhistorical to cite the Gandhian precedent before independence” (“Gandhi's no to satyagraha”,Frontline, August 26).My rejoinder (Satyagraha) to this has been published in the current issue of Frontline (link given below)
2
Add a comment...
People
Have him in circles
1,214 people
Sachin Khare's profile photo
ShivShakti Shukla's profile photo
Punit Sharma's profile photo
r d thappa's profile photo
Bhaskar Bhardwaj's profile photo
Gyan Prakash Singh's profile photo
kunal kumar's profile photo
Poora Sach's profile photo
realdude .in's profile photo
Education
  • Jawaharlal Nehru University
Story
Tagline
Better persons are required for a better world.
Introduction
Welcome to my blog
Basic Information
Gender
Male