Profile cover photo
Profile photo
Madhulika Patel
197 followers -
लेखक ~ http://merisyahikerang.blogspot.in/
लेखक ~ http://merisyahikerang.blogspot.in/

197 followers
About
Madhulika's interests
View all
Madhulika's posts

Post has attachment

Post has attachment
वो होली
वो खाकी शर्ट पर  अब भी निशाँ होंगे  पिछली होली के वो अबीर का गुब्बार  रंग कर चला गया था तुम्हे  रंगो का इंद्रधनुष बिखेर गया था ख़ुशी  गुलाल का रंग  दहकते गालों में  खो गया था  तुम्हे रंगों की पहचान जो  गहराइयों से थी  अब के बरस  बहुत सारा पानी भर था  रंग नह...

Post has attachment
तुम्हारी उजली शर्ट का
मेरे मसाले वाले हाथों से
ख़राब होने का मलाल
तुम्हारे चेहरे पर
साफ़ नज़र आता था . . .

Post has attachment
ये खामोशियाँ
ये खामोशियाँ और  इनके अन्दर छिपी हुई  सिसकियाँ , हिचकियाँ  बहुत धीमे धीमे घुटती आवाज़  कानों में उड़ेल जाती हैं  ढेर सारा गर्म लावा  वो स्लो पॉयजन  फैलता जाता है  दिमाग की नसों में  और वहाँ जा कर  कोलाहल बन जाता है  मैं भागती रहती हूँ  शान्ति की तलाश में  क...

Post has attachment

Post has attachment
मेरे शहर में तू क्या आया
बाद मुद्दत के मेरे शहर में  तू क्या आया हवा का झोंका तेरे आने का  संदेसा लाया  यादों में वो तेरा  चेहरा उभर आया  लबों ने हौले से  पुराने नगमों को  गुनगुनाया  आँखों में आंसू जो मोती बनके थे अटके  आज न चाह के भी कहीं वो न जाएँ छलकें  जो इंतज़ार था तेरे लिए  वो...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
वो नदी बोली क्यों नहीं
वो शाम मैं भूलना चाहता हूँ वो पगडंडियाँ जो जाती थी  तुम्हारे घर की ओर हर शाम गायों के लौटने की  पदचाप, उनके गले की घंटियाँ धूल उड़ाती झुण्ड में  निकल जाती थी  तभी चराग रोशन करने की वेला  उस मद्धिम दिए  की रौशनी में  तुम्हारा दूधिया चेहरा  धूल के गुबार में से...

Post has attachment
तुझे खोकर
माँ तुझे खोकर तेरी यादों को पाया है वो चेहरा जो रोज़ नज़र में था आज दिल में समाया है ढलती सेहत ने तुम्हारी नींद कहीं छुपा दी थी तुम्हें खोकर आज सारा घर जाग रहा तुम्हारी नींद बहुत लंबी है शांत शरीर में बीमारी की थकान नहीं चिंताओं की माथे पर कोई शिकन नहीं वो जि...
Wait while more posts are being loaded