Profile cover photo
Profile photo
रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
9,507 followers
9,507 followers
About
रूपचन्द्र शास्त्री's posts

Post has attachment
शनिवार, 25 फ़रवरी 2017
ग़ज़ल "1975 में रची गयी मेरी एक पेशकश" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

ये गद्दार मेरा वतन बेच देंगे
ये गुस्साल ऐसे कफन बेच देंगे

बसेरा है सदियों से शाखों पे जिसकी
ये वो शाख वाला चमन बेच देंगे

सदाकत से इनको बिठाया जहाँ पर
ये वो देश की अंजुमन बेच देंगे

लिबासों में मीनों के मोटे मगर हैं,
समन्दर की ये मौज-ए-जन बेच देंगे

सफीना टिका आब-ए-दरिया पे जिसकी
ये दरिया-ए गंग-औ-जमुन बेच देंगे

जो कोह और सहरा बने सन्तरी हैं
ये उनके दिलों का अमन बेच देंगे

जो उस्तादी अहद-ए-कुहन हिन्द का है
वतन का ये नक्श-ए-कुहन बेच देंगे

लगा हैं इन्हें रोग दौलत का ऐसा
बहन-बेटियों के ये तन बेच देंगे

ये काँटे हैं गोदी में गुल पालते हैं
लुटेरों को ये गुल-बदन बेच देंगे

अगर इनके वश में हो वारिस जहाँ का
ये उसके हुनर और फन बेच देंगे

जुलम-जोर शायर पे हो गरचे इनका
ये उसके भी शेर-औ-सुखन बेच देंगे

‘मयंक’ दाग दामन में इनके बहुत हैं
ये अपने ही परिजन-स्वजन बेच देंगे
--
http://uchcharan.blogspot.in/2017/02/1975.html

Post has attachment
ग़ज़ल "1975 में रची गयी मेरी एक पेशकश" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')
ये गद्दार मेरा वतन बेच देंगे ये गुस्साल ऐसे कफन बेच देंगे बसेरा है सदियों से शाखों पे जिसकी ये वो शाख वाला चमन बेच देंगे सदाकत से इनको बिठाया जहाँ पर ये वो देश की अंजुमन बेच देंगे लिबासों में मीनों के मोटे मगर हैं , समन्दर की ये मौज-ए-जन बेच देंगे सफीना टिक...

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Post has attachment
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (26-02-2017) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in">
"गधों का गधा संसार" (चर्चा अंक-2598)
</a> पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक
Wait while more posts are being loaded