Profile cover photo
Profile photo
Indu Puri Goswami
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
Indu Puri Goswami commented on a post on Blogger.
पिछले दिनों 'विश्वगाथा' में छपी मेरी कहानी खेजड़ी-बींदणी और एक ब्याह' पर श्री निशांत जी Nishant Sharma जी सम्पादक नव भारत ने कुछ लिखा. जिसे पढकर स्पष्ट पता लग जाता है कि सामने वाले ने रचना को पढ़ा गया है.
'अंडर-लाइन्ड' पंक्तियां आम तौर पर लोग नही लिखते. (मैंने ही इन्हें अंडर-लाइन किया है)

निशांत शर्मा जी ने लिखा -

'हमारे देश में आज भी सामाजिक कुरीतियां मौजूद हैं। ' खेजड़ी - बींदड़ी और एक ब्याह' इसको बेनकाब करती है। इंदु जी की इस कहानी में बाल विवाह के स्याह पक्ष को अच्छी तरह से उभारा गया है। जगह - जगह राजस्थान की भाषा आंचलिक महक का काम करती है।( लेखिका इसके लिए साधुवाद की पात्र हैं कि उन्होंने इसका हिन्दी में अर्थ भी दिया है ताकि राजस्थान की भाषा न जानने वालों को सुविधा हो) शारदा का पढ़ाई के प्रति जुनून अच्छा लगता है.. नई उम्मीद जगाता है।बेटियों को पढ़ना ही चाहिए। पिता भेरु का यह कहना भी कुरितियों के खिलाफ जंग का बिगुल लगता है कि 'अपनी चांद जैसी बेटी को अब किसी बुड्ढे या बाल बच्चेदार आदमी के साथ नहीं ब्याहेगा।' लेकिन बाद में शारदा का जुनून.. भेरु की जंग कुरितियों का निर्मम शिकार हो जाती हैं। दूध के दांत भी न टूटे हों..उस उम्र में हुए कथित विवाह को 'मान्यता' ! पढ़े - लिखे तहसीलदार लड़के का 'खेजड़ी' प्रथा के तहत विधुर होकर ब्याह रचाना.. काफी कुछ कह जाता है । आज हम स्वयं को कितना भी आधुनिक मानें लेकिन गांवों में रहनेवाले अभी भी कुरीतियों की जंजीरों से जकड़े हुए हैं। सबसे दुखद तो यह है कि इसका खामियाजा बेटियों को ही भोगना पड़ता है। कुल मिलाकर कहानी कुरीतियों पर चोट तो करती है लेकिन अंत समझौता वादी न होकर शारदा की शिक्षा, उम्र के हिसाब से कुछ अलग होना था।आखिर जीत तो येन - केन प्रकारेण कुरीतियों की ही हुई न ! इस सबके बावजूद इंदु जी का कुरीतियों पर चोट पहुंचाने और उसे उजागर करने की कोशिश काबिलेतारीफ है। यह सब उन्होंने सीधी सरल भाषा में कर दिखाया है। उनकी अगली कहानी का इंतजार रहेगा। इंदु जी को शुभकामनाएं..'

थैंक्स निशांत जी! आशा है आप ब्लॉग पर आते रहेंगे और कोमेंट नही, रचनाओं की 'पोस्ट मार्टम' रिपोर्ट आप दिया करेंगे. मुझे वही चाहिए.
Add a comment...

Post has attachment
Commenting is disabled for this post.

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded