Profile cover photo
Profile photo
Chirag Joshi
253 followers -
Engineer,Assistant Professor,Writer and Sports Editor
Engineer,Assistant Professor,Writer and Sports Editor

253 followers
About
Chirag's posts

Post has attachment
वो है कही
कुछ दूर चलके , धीरे-धीरे गुम सी हो
गई है आवाज़ वो , कानो को आदत सी हो
गई है , खामोशी की अब. धुऑ-धुऑ सा तो नही
था , आंखो के आगे , पर तस्वीर उसकी , धूंधला –सी गई है अब
. जिक्र बातो मे अक्सर
होता है उसका , जुबां पर नाम भी आता
है कभी , फिर दिल से एक आवाज़
आती है ...

Post has attachment
कुछ बून्दे मेरी कलम की -२
1. एक बार हिम्मत से कदम उठा कर तो देख , नापने
को जमीन और छुने को मंजिले कम पड जायेगी . 2.
खाली कमरे मे आवाज़ ना जाने किसकी आ रही है , ये
दिल धडक रहा है , या हवा गीत सुना रही है . आंखो
को बंद करके जब देखा मैंने .... तो
ये पाया के तेरी यादे तेरे होने का अहसास ...

Post has attachment
एक ऐसा रिश्ता भी है
जब मैं पैदा हुआ था शायद तब से ही वो मेरे साथ था । तब शायद मैं उसे जान नही पाया
था । फिर भी बाद मे ये एहसास हुआ के ये तो तब भी वही था । जब मैं पांच साल का हुआ
तब मैंने उसे देखा और ये कहू के देखा तो पहले भी   था पर समझा पहली बार , उसके बाद तो फिर वो मेरे साथ ...

Post has attachment
रायता फैल ही गया था
भारतीय क्रिकेट टीम ने हाल ही मे टेस्ट क्रिकेट मे नबंर -1 के पद को हासिल
किया है । न्यूजीलैण्ड के सीरिज़ जीत से भी टीम का हौसला काफी ऊचा था । “ था “ इसलिये उपयोग किया गया क्योंकी जब भारतीय टीम
इंग्लैड के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने उतरी तो इस खेल के रचियता इंग्लैड...

Post has attachment
भरोसा रखिये परिवर्तन होगा ..भौकाल मत बनाओ
प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने जब 9 नवंबर को ये घोषणा की के आधी रात के
बाद से 500 और 1000 के नोट चलने बंद हो जायेंगे तो उनकी सरकार की बहुत तारीफ हुई और
रातभर तारीफो के मैसेज फेसबूक और वाट्सएप पर चलते रहे । अगले दिन बैंक बंद थे , लोगो को तकलीफ तो हुई पर सबने सो...

Post has attachment
मैं रहूंगा
जब तू सुबह उठ कर अपनी
जुल्फो को सवार रही होगी , तब सुबह की उस ताज़गी मे , मैं रहूंगा   ... मुस्कुरा कर जब तू आइने
मे देख रही होगी खुद को , तब उस आइने मे संग तेरे , मैं रहूंगा ... दिन मे जब तू बिना कुछ
खाये –पीये काम करेंगी , तो तेरी हर थकान को दूर करने .. ठ्...

Post has attachment
मैंने आज फिर कलम उठाई है
कोरे कागज़ पर अल्फाजो की
बहार आई है , अहसासो ने फिर दिल मे एक धुन बजाई है , बहुत दिन हुये .... मैंने आज फिर कलम उठाई है नये दौर मे एक नयी आवाज़ आई
है , बीते वक्त की तस्वीर फिर आखो मे समाई है , बहुत दिन हुये .... मैंने आज फिर कलम उठाई है कुछ दुरी पर छोड दिया थ...

Post has attachment
भाई मैं हू चिंता मत कर
जिंदगी मे हम अकेले आते
है और दुनिया की नज़र मे तो अकेले ही जाते है. परंतु जब हम इस दुनिया को अलविदा कहते
है तो कई रिश्ते साथ होते है. जिनके बारे मे हमे याद नही रहता पर उन लोगो को जरुर हम
याद रहते है जो हमारे साथ कई रिश्तो मे सहभागी बने. इन्ही रिश्तो मे से एक...

Post has attachment
आखरी गलती
राजीव ने अपने पेन को ऊठाकर
अंगूठे और उसके पास वाली उंगली से घुमाने लगा . इस तरह पेन को घुमाने की   कला हर कॉलेज़ जाने वाला स्टूडेंट को कक्षा 12वी
से ही आ जाती है. इस कला मे जैसे ही कोई छात्र माहिर हो जाता है उसे लगने लगता है
उसने जिंदगी की एक बहुत बडी पहेली ...

Post has attachment
बूंद
खुशी हो या
हो गम के दिन , साथ हमेशा रहती है.... बूंद ,   ढलती शाम कहु इसे या सुबह की लाली , साथ हमेशा रहती है ... बूंद  हर पल को देखकर , अपने अस्तित्व को बताने ...बाहर आ जाती है ...बूंद  . खालीपन , उदासी , मुस्कुराहट या फिर खुशी , हर बार साथ निभाती है ....ब...
Wait while more posts are being loaded