Profile cover photo
Profile photo
Parul Kanani
124 followers -
The power of imagination makes us infinite....... that's why i m here..
The power of imagination makes us infinite....... that's why i m here..

124 followers
About
Posts

Post has attachment
मौसम...
एक समन्दर लिखना कुछ किनारे लिखना।। मै अपने लिख दूँगी तुम, तुम्हारे लिखना।। लिखना कैसी है वो बूंदें जो बारिश में बरसती है और कैसा है वो पानी जिनको आंखें तरसती है कि हो सकता है बन जाये फिर से वही मौसम मैं भी लिख दूँगी खामोशी तुम दर्द अपने सारे लिखना।। कभी तन्...
मौसम...
मौसम...
rhythmofwords.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
जख्म....
                          वो जो अक्सर फजर से उगा करते है सुना है दिल से बहुत धुआं करते है। जलता है इश्क या खुद ही जल जाते हैं कलमे में खूब चेहरे पढा करते है।। फजल की बात पर खामोशी थमा देते है बेवजह ही क्यों खुद को खुदा करते है। आयतें रोज ही लिखते है मदीने क...
Add a comment...

Post has attachment
मेरी खामोशी....
                      तेरे ही जिक्र की जासूसी मेरी खामोशी है। रहूं मैं चुप क्यूँ, तेरी बातों सी मेरी खामोशी है।। हरफ हरफ से लम्हे जो बिखर जाते है। पता चला है कि हम तन्हा भी मुस्कुराते है मुझमें जैसे तेरी यादों सी मेरी खामोशी है।। सिरहाने रख अपनी कुरबत,ख्वाब...
मेरी खामोशी....
मेरी खामोशी....
rhythmofwords.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
रूबाई.....
                  इश्क के सूफियाने में दिल की रूबाई लिख दे। बहुत खामोशी है कोई शहनाई लिख दे।। शोर होगा तो लगेगा अकेले नहीं हैं हम और कुछ ना सही तकदीर में अपनी तन्हाई लिख दे।। इस बहाने तुम्हें थोड़ा सा जी जायेगे टूटे अश्कों से कोई बहर सी जायेगें और भेज देगे ...
Add a comment...

Post has attachment
तेरा भी है, मेरा भी।।
                      गम का खजाना तेरा भी है, मेरा भी ये नजराना तेरा भी है, मेरा भी। कुछ मौसम उलझे है ऐसे आंखों में ख्वाबों का बरबस चुभ जाना तेरा भी है, मेरा भी।। यूं मंजर कतरा कतरा हो जाते हैं डूबा सा कोई मुहाना तेरा भी है, मेरा भी।। बातें कईं अब बंद पडी ह...
Add a comment...

Post has attachment
यादें.....
एक कप चाय की प्याली एक नज्म गुलजार की यूं ही उम्र बढ जाये ऐसे प्यार की।। गर्म सी चुस्कियों में कुछ लफ्जों की दरकार हो भीनी-भीनी सी लज्जत में मीठी सी यादें उस यार की।। कोई बात चुप सी होठों पर रखी रहे और घुल जाये खामोशी अनकहे एतबार की।। एक घूंट जो भरे दिल ही ...
यादें.....
यादें.....
rhythmofwords.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
पानी है।।
यूं मेरी कहानी भी एक चुप सी कहानी है कुछ लफ्ज हैं डूबे से कुछ नज्मों में पानी हैं।। वो दर्द भी है गीला आहों से जो सना हैं वहां और किसी गम का आना-जाना मना है रहती हैं वहां अब भी कुछ यादें पुरानी हैं।। कुछ लफ्ज़ हैं डूबे से कुछ नज्मों में पानी हैं.... वो जो ट...
Add a comment...

Post has attachment





एक रोज छुपा दूंगा
सारे लफ्ज तुम्हारे
और तुम मेरी खामोशी
पर फिसल जाओगी!!
देखता हूँ कब तलक
छुपी रहोगी मुझसे
एक दिन अपनी ही
नज्म से पिघल जाओगी!!
और कितने चांद
मेरे लिए संभालोगी
मुझे यकीन है कि
तुम रातें बदल डालोगी
मैंने भी रख लिए हैं
कुछ चादं तुम्हारे
मेरे एक ही ख्वाब से
बेशक तुम जल जाओगी!!
अब दोनों होगें ही
तो नज्म नज्म खेलेंगे
वो गोल ना सही
दिल सा भी हो तो ले लेगें
मैने भी भर लिये
कुछ अल्फाज़ तुम्हारे
मेरी खामोशी से
यकीनन तुम बदल जाओगी!!


Photo

Post has attachment





एक रोज छुपा दूंगा
सारे लफ्ज तुम्हारे
और तुम मेरी खामोशी
पर फिसल जाओगी!!
देखता हूँ कब तलक
छुपी रहोगी मुझसे
एक दिन अपनी ही
नज्म से पिघल जाओगी!!
और कितने चांद
मेरे लिए संभालोगी
मुझे यकीन है कि
तुम रातें बदल डालोगी
मैंने भी रख लिए हैं
कुछ चादं तुम्हारे
मेरे एक ही ख्वाब से
बेशक तुम जल जाओगी!!
अब दोनों होगें ही
तो नज्म नज्म खेलेंगे
वो गोल ना सही
दिल सा भी हो तो ले लेगें
मैने भी भर लिये
कुछ अल्फाज़ तुम्हारे
मेरी खामोशी से
यकीनन तुम बदल जाओगी!!


Photo

Post has attachment





एक रोज छुपा दूंगा
सारे लफ्ज तुम्हारे
और तुम मेरी खामोशी
पर फिसल जाओगी!!
देखता हूँ कब तलक
छुपी रहोगी मुझसे
एक दिन अपनी ही
नज्म से पिघल जाओगी!!
और कितने चांद
मेरे लिए संभालोगी
मुझे यकीन है कि
तुम रातें बदल डालोगी
मैंने भी रख लिए हैं
कुछ चादं तुम्हारे
मेरे एक ही ख्वाब से
बेशक तुम जल जाओगी!!
अब दोनों होगें ही
तो नज्म नज्म खेलेंगे
वो गोल ना सही
दिल सा भी हो तो ले लेगें
मैने भी भर लिये
कुछ अल्फाज़ तुम्हारे
मेरी खामोशी से
यकीनन तुम बदल जाओगी!!


Photo
Wait while more posts are being loaded