Profile cover photo
Profile photo
Nitin Thakur
20 followers
20 followers
About
Posts

Post has attachment
JNU - आजकल
कल का दिन एक खबर से खत्म हुआ और सुबह की शुरुआत एक नई खबर से हुई।  रात जो आखिरी खबर पढ़ी वो जेएनयू मामले के बाबत थी। रात जो खबर मिली वो थी कि गृह मंत्रालय के अंतर्गत चलनेवाली जांच एजेंसियों ने जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष की आनन-फानन में गिरफ्तारी को दिल्ली पुलिस...
Add a comment...

Post has attachment
गुज़र चुके सब मौसम
गुज़र चुके सब मौसम सूखा पेड़ होकर रह गया हज़ारों यादों के पत्तों का मैं ढेर होकर रह गया हर एक किस्से के साथ मैं कुछ पीछे छूटता रहा सियाह-रातों की ना हुई जो वो सहर हो कर रह गया सूने-वीरान घर की दीवारों पर भटकती हो कोई बेल जैसे मेरी कमससाती रुह के लिए जिस्म ह...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
किस्से दिल्लगी के सुनाता रहा मैं..
मुझे रोता ना देखे कोई .. मज़ाक अपना उड़ाता रहा मैं.. ग़म ना कहे किसी से.. किस्से दिल्लगी के सुनाता रहा मैं.. महफिलें हुई कब किसी की जो मिला खंज़र लिए मिला.. भीड़ से निकला तो हर बार पीठ के ज़ख्म छुपाता रहा मैं.. शहरों की चमक कस्बों की चाल गांव का रंग भी देखा...
Add a comment...

Post has attachment
तुम जुदा होकर..
तुम जुदाा होकर हमें कुछ और प्यारे हो गए.. पास रहकर ग़ैर थे..हमें कुछ और प्यारे हो गए.. लौट जाने को कहा तुमने मगर कुछ इस तरह.. ज़िंदगी से मौत तक इकरार सारे हो गए.. वस्ल की अब चांदनी छाये ना छाये ग़म नहीं.. हिज्र की रातों में रौशन चांद-तारे हो गए.. प्यार के त...
तुम जुदा होकर..
तुम जुदा होकर..
nitinmusafir.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
पॉलीटिक्स से पीड़ित!
कुछ लोग राजनीति के मारे होते हैं.. राजनीति उनके सिर चढ़कर बोलती है। वो आपको मिलेंगे भी तो नमस्ते इंसान की तरह नहीं, नेता की तरह करेंगे। पोज़ ऐसा होगा कि आप समझ ही जाएंगे कि भाई पॉलीटिक्स से पीड़ित है। अच्छा नमस्ते के बाद हालचाल लेंगे तो वो भी घोर पॉलीटिकल अ...
Add a comment...

Post has attachment
**
मार्च की बात.. बस यूं ही एक चुहल ये मार्च अभी-अभी गुज़रने वाला है। मार्च की आखिरी तारीख की सुबह है। इस साल जब ये महीना शुरु हुआ तो लग ही रहा था कि ख़राब गुज़रेगा..उतना ख़राब या अच्छा तो नहीं गुज़रा मगर हां..खटका अभी भी बाकी है क्योंकि आखिरी तारीख भी पूरी तर...
एक मुसाफ़िर
एक मुसाफ़िर
nitinmusafir.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
Photo
Add a comment...

Post has attachment
**
 दबाए चले जाइयो.. हमारे मोहल्ले में एक लड़का रहा करता था..मोंटू। अपने यहां कोई पढ़ता-लिखता था नहीं लेकिन उसने जाने कैसे बी.टेक में एडमिशन ले लिया। मोंटू के नाम का हंगामा मच गया। घर-परिवार,पड़ोस और रिश्तेदारी में भी 'नालायक' बच्चों को मोंटू के नाम से ताने दि...
Add a comment...

Post has attachment
**
डी.के.बोस.. दिल्ली विश्वविद्यालय के एक कार्यक्रम में मशहूर गीतकार गुलज़ार आए हुए थे। हॉल खचाखच भरा हुआ था और हर कोई उनको सुनना चाहता था। गुलज़ार हर सवाल का जवाब बड़े ही बेबाक हो कर दे रहे थे। तभी बात चली फिल्मी गानों के गिरते स्तर की। गानों में इस्तेमाल होन...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded