Profile

Cover photo
shikha kaushik
363 followers|386,526 views
AboutPostsPhotosYouTube

Stream

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
ख़राब लड़की
 ख़राब लड़की -story इक्कीस
वर्षीय सांवली -सलोनी रेखा को उसी लड़के ने कानपुर बुलाकर क़त्ल कर दिया
जिसने उससे शादी का वादा किया था . लड़के के प्रेम-जाल में फँसी रेखा न
केवल क़त्ल की गयी बल्कि अपने शहर में बदनाम भी हो गयी कि वो एक ख़राब
लड़की थी .कातिल लड़...
 ·  Translate
1
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
नन्हें से राम लल्ला खेलें दशरथ के अंगना !
! रामनवमी पर्व की हार्दिक शुभकामनायें ! किलकारी मारें बजाकर खन खन कंगना , नन्हें से राम लल्ला खेलें  दशरथ के अंगना ! मैय्या कौशल्या उर आनंद लहरे उमड़े , पैय्या चले तो पकड़ने को वे दौड़े , लेती बलैय्या आँचल में हैं छिपती ललना ! नन्हें से राम लल्ला खेलें  दशरथ क...
 ·  Translate
! रामनवमी पर्व की हार्दिक शुभकामनायें ! किलकारी मारें बजाकर खन खन कंगना , नन्हें से राम लल्ला खेलें  दशरथ के अंगना ! मैय्या कौशल्या उर आनंद लहरे उमड़े , पैय्या चले तो पकड़ने को वे दौड़े , लेती बलैय्या आँचल में हैं छिपती ललना !...
2
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
अन्नदाता की मौत !
  Farmers commit suicide after rains devastate crops in UP . इस बार आसमान से जल नहीं बरसा बरसी है आग ! जिसने जला  डाले किसानों के सारे ख्वाब ! कोई सदमे से मर गया , किसी ने खाया ज़हर , कोई फांसी से लटक गया और कोई गया जल , बरसात थी या थी कहर ! ऊपर वाले कैसा ते...
 ·  Translate
2
Rajesh yadav's profile photo
 
अच्छा लिखा है आपने
किसान का दर्द बहुत है
 ·  Translate
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
प्रिय की दृष्टि में प्रेयसी !
पीत वसन में लगती हो तुम महारानी मधुमास की ! ओढ़ दुपट्टा रंग गुलाबी लगती कली गुलाब की ! वसन आसमानी कर धारण खिल जाता है गौर वदन ! लाल रंग के वस्त्रों में तुम दहकी लता पलाश की ! हरा रंग तो तुम पर जैसे नयी बहारें लाता है ! हरियाली पीली पड़ जाती रूप तुम्हारा देख...
 ·  Translate
1
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
ऐसी सुहागन से विधवा ही भली .'' लघु कथा
ऐसी सुहागन से विधवा  ही  भली .'' लघु कथा google se sabhar  पति के शव के पास बैठी ,मैली धोती के पल्लू से मुंह ढककर ,छाती पीटती ,गला  फाड़कर चिल्लाती सुमन को बस्ती की अन्य महिलाएं ढाढस  बंधा रही थी  पल्लू के भीतर  सुमन की आँखों से एक  भी  आंसू  नहीं  बह  रह...
 ·  Translate
ऐसी सुहागन से विधवा  ही  भली .'' -लघु- कथा google se sabhar  पति के शव के पास बैठी ,मैली धोती के पल्लू से मुंह ढककर ,छाती पीटती ,गला  फाड़कर चिल्लाती सुमन को बस्ती की अन्य महिलाएं ढाढस  बंधा रही थी  पल्लू के भीतर  सुमन की आँखों...
1
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
औरत बेचीं जाती है
नोबल विजेता कैलाश सत्यार्थी कहते हैं कि बेटियां जानवरों की तरह बिकती हैं। उन्हें 5 हजार में खरीदकर एक लाख में बेचा जाता है। देशभर में भीख मांगने वाले बच्चों के पीछे भी बड़े गिरोह का हाथ है। तोल तराजू  इस  दुनिया  में औरत बेचीं जाती है , आग लगे सारी  दुनिया ...
 ·  Translate
2
Add a comment...
Have her in circles
363 people
मान्धाता प्रताप सिंह's profile photo
Govind Singh's profile photo
guri malhotra's profile photo
Dr. Mahesh Desai's profile photo
Alaknanda Singh's profile photo
pinkesh shah's profile photo
Kishor Nayak's profile photo
PS Rawat's profile photo
manav mehta's profile photo

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
ख़राब लड़की
 ख़राब लड़की -story इक्कीस वर्षीय सांवली -सलोनी रेखा को उसी लड़के ने कानपुर बुलाकर क़त्ल कर दिया जिसने उससे शादी का वादा किया था . लड़के के प्रेम-जाल में फँसी रेखा न केवल क़त्ल की गयी बल्कि अपने शहर में बदनाम भी हो गयी कि वो एक ख़राब लड़की थी .कातिल लड़के क...
 ·  Translate
 ख़राब लड़की -story इक्कीस वर्षीय सांवली -सलोनी रेखा को उसी लड़के ने कानपुर बुलाकर क़त्ल कर दिया जिसने उससे शादी का वादा किया था . लड़के के प्रेम-जाल में फँसी रेखा न केवल क़त्ल की गयी बल्कि अपने शहर में बदनाम भी हो गयी कि वो...
1
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
नहीं कोई भी माँ से बढ़कर दुनिया में ;
[google से sabhar ] कभी आंसू नहीं मेरी आँख में आने देती ; मुझे माँ में खुदा की खुदाई दिखती है . लगी जो चोट मुझे आह उसकी निकली ; मेरे इस जिस्म में रूह माँ की ही बसती है . देखकर खौफ जरा सा भी  मेरी आँखों में ; मेरी माँ मुझसे दो कदम आगे चलती है . मेरे चेहरे से...
 ·  Translate
2
1
Bhanwar Lakhani's profile photo
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
”प्रायश्चित-जनवाणी में प्रकाशित ”
''नीहारिका
का कन्यादान मैं और सीमा नहीं बल्कि तुम और सविता  करोगे क्योंकि तुम
दोनों को ही नैतिक रूप से ये अधिकार है .'' सागर के ये कहते ही समर ने उसकी
ओर आश्चर्य से देखा और हड़बड़ाते हुए बोला -'' ये आप क्या कह रहे हैं
भाईसाहब !...नीहारिका आपकी बिटिया है ....
 ·  Translate
''नीहारिका का कन्यादान मैं और सीमा नहीं बल्कि तुम और सविता  करोगे क्योंकि तुम दोनों को ही नैतिक रूप से ये अधिकार है .'' सागर के ये कहते ही समर ने उसकी ओर आश्चर्य से देखा और हड़बड़ाते हुए बोला -'' ये आप क्या कह रहे हैं भाईसाहब !...
2
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
सुहागन से विधवा ही भली .'' लघु कथा
ऐसी सुहागन से विधवा  ही  भली .'' लघु कथा google se sabhar  पति के शव के पास बैठी ,मैली धोती के पल्लू से मुंह ढककर ,छाती पीटती ,गला  फाड़कर चिल्लाती सुमन को बस्ती की अन्य महिलाएं ढाढस  बंधा रही थी  पल्लू के भीतर  सुमन की आँखों से एक  भी  आंसू  नहीं  बह  रह...
 ·  Translate
1
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
एक गिलहरी ..children's poem
 ·  Translate
1
PREM SAGAR SINGH's profile photo
 
हमेशा की तरह मन को प्रभावित करने वाली प्रस्तुति काफी अच्छी लगी।मेरे पोस्ट पर आपकी उपस्थिति अपेक्षित है।शुभ संध्या
 ·  Translate
Add a comment...

shikha kaushik

Shared publicly  - 
 
बेटी का हक़ -कहानी
बेटी का हक़ -कहानी  सेवानिवृत बैंक-अधिकारी आस्तिक ने तौलिये से गीला चेहरा पोंछते हुए अपनी धर्मपत्नी मंजू से कहा - 'हर दहेज़ -हत्या के जिम्मेदार ससुरालवालों से ज्यादा लड़की के मायके वाले होते हैं . तुम मेरी बात मानों या ना मानों पर सच यही है . कितनी ही विवाह...
 ·  Translate
2
Add a comment...