Profile cover photo
Profile photo
shikha kaushik
660 followers
660 followers
About
Posts

Post has attachment
"टॉपर बिटिया टॉप करेगी "
टॉपर लड़की का बलात्कार छपा इस शीर्षक के साथ समाचार ' इस तरह कर दी टॉपर लड़की की जिंदगी तबाह ' कोई पूछे अखबार वालों से इसी तरह दीजियेगा बेटियों का साथ? अरे! क्या हुआ जो कुछ कुत्तों ने मिलकर, हमला कर, कर दिया जख्मी, फिर से होगी शुरूआत हमारी टॉपर बिटिया के जीव...
Add a comment...

Post has attachment
राखी बांधने का मकसद
मेरे भईया प्यारे से भईया ये बांधी है कोमल सी, नरम सी डोरी तुम्हारी मजबूत कलाई पर, अपनी रक्षा के लिए कतई नहीं, बल्कि तुम्हें ये स्मरण कराते रहने के लिए कि जब भी किसी गैर लड़की को देखकर तुम्हारे ह्रदय में उठे वासना का तूफान, तभी इस पर नज़र पड़ते ही ये सोचकर र...
Add a comment...

Post has attachment
राखी बांधने का मकसद
मेरे भईया प्यारे से भईया ये बांधी है कोमल सी, नरम सी डोरी तुम्हारी मजबूत कलाई पर, अपनी रक्षा के लिए कतई नहीं, बल्कि तुम्हें ये स्मरण कराते रहने के लिए कि जब भी किसी गैर लड़की को देखकर तुम्हारे ह्रदय में उठे वासना का तूफान, तभी इस पर नज़र पड़ते ही ये सोचकर र...
Add a comment...

Post has attachment
नंगी हो रही औरत हर ओर है!!!
नारी सशक्तिकरण का ये कैसा दौर है, करना था नंगा पुरुष की दंभी सोच को पर हो रही नंगी औरत हर ओर है!!! 2- पुरूष की अहम पिपासा निराली है, जो खींचते हैं हाथ भरे दरबार द्रौपदी के चीर, घूंघटों में रखते अपनी घरवाली हैं!!! 3 - कृतज्ञता ज्ञापित करने में नहीं चुकाना पड...
Add a comment...

Post has attachment
''बंजर होती बिरादरी ''
''बंजर होती बिरादरी '' संभवतः बस एक ही बिरादरी है ; जो नहीं होती इकट्ठी चीखने को साथ , अन्याय के खिलाफ ,चाहे 'पुण्य '  को डस ले पाप ! यहाँ प्रतिस्पर्धा ने ले लिया है ईर्ष्या का रूप , धवल सुमुख हो उठें हैं विकृत  कुरूप | न्याय  के नाविक हर्षित हैं साथी  के ड...
Add a comment...

Post has attachment
पुण्य प्रसून खिलेगें ,पापी नहीं टिकेंगे |
Add a comment...

Post has attachment
shikha kaushik commented on a post on Blogger.
भारतीय नारी परिवार की ओर से भी रोली अभिलाषा जी को प्रथम पुस्तक के प्रकाशन पर हार्दिक बधाई व् शुभकामनायें !
Add a comment...

Post has attachment
रोली अभिलाषा जी को प्रथम पुस्तक के प्रकाशन पर हार्दिक बधाई व् शुभकामनायें !
भारतीय नारी परिवार की ओर  से भी रोली अभिलाषा जी को प्रथम   पुस्तक के प्रकाशन पर हार्दिक बधाई व् शुभकामनायें ! Dhruv Singh  ने कहा… निमंत्रण विशेष : हम चाहते हैं आदरणीय रोली अभिलाषा जी को उनके प्रथम पुस्तक ''बदलते रिश्तों का समीकरण'' के प्रकाशन हेतु आपसभी लो...
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
बलात्कार - अति लघुकथा
भारत में छह वर्षीय पुत्री ने माँ से पूछा -माँ ये बलात्कार क्या होता है ? माँ ने झिड़कते हुए कहा -' आज के बाद ये शब्द मुंह पर लाई तो जुबान काट दूँगी !'' अगले दिन बहुत ढूंढने पर वो बच्ची लहूलुहान हालत में एक खेत में मिली | उसका बलात्कार हो चुका था | डॉ शिखा कौशिक
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded