Profile cover photo
Profile photo
Rising Rahul
284 followers
284 followers
About
Posts

Post has attachment
सिंधु घाटी की सभ्यता और नौ सौ साल लंबा सूखा
लेह-लद्दाख की त्सो-मोरीरी झील में पांच हजार साल पुरानी मिट्टी की तहों के जरिये मॉनसून पैटर्न्स का अध्ययन करने के बाद आईआईटी खड़गपुर के वैज्ञानिकों ने सिंधु घाटी सभ्यता के खत्म होने का विचित्र कारण बताया है। उनका कहना है कि लगभग 4350 साल पहले सिंधु घाटी में ...
Add a comment...

Post has attachment
प्रशांत भूषण ने दर्ज कराई शिकायत
Add a comment...

Post has attachment
लोया के सिर के पीछे चोट थी
Add a comment...

Post has attachment
यही अंत है...
जल्दी से कुछ लिख लें। जल्दी से कुछ कह दें। जल्दी से किसी को देख लें। जल्दी से कहीं छुप जाएं। जल्दी से कहीं भाग जाएं। जल्दी से कहीं चढ़ जाएं। जल्दी से कहीं उतर जाएं। जल्दी-जल्दी-जल्दी।  यहां से जाना, वहां से आना, वहां बैठना, कहीं और जाकर ठहर जाना, फूल देखना,...
Add a comment...

Post has attachment
पैंतीस के बाद प्रेम वाया और पतित होने के नारायणी नुस्खे
एक बार तो लगता है कि झपटकर कर लें, लेकिन फिर दिमाग चोक लेने लगता है। यहां तक आते-आते दिल की मोटरसाइकिल भी तीस से नीचे का एवरेज देने लगती है। गनीमत बस इतनी है कि रुक-रुककर ही सही, चलती तो है। और जैसे ही ‘आगे तीखा मोड़ है’ का बोर्ड दिखता है, मुई मोटरसाइकिल सी...
Add a comment...

Post has attachment
जज लोया की मौत के चार महीने बाद
Add a comment...

Post has attachment
फिर मिलेंगे, या नहीं मिलेंगे, या नहीं पता...
आता तो है इधर, लेकिन ठहरता नहीं है। गलती से कभी ठहर भी गया, तो राम कहां ठहरने वाले। मन में रंग रहता है, रंग में मन रहता है। आता है जब सुख तो जीवन में कुछ ढंग रहता है, लेकिन ढंग के जीवन जैसी कोई चीज ढंग से कभी होती नहीं, पहले कभी यूजी ने कुढ़कर कहा था, मैं स...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
भांटा कैसे फोड़ें उर्फ प्रेम का क्या करें उर्फ चोखा कैसे बनाएं?
देखिए नेतराम जी, कह तो आप बहुत कुछ रहे हैं लेकिन हम भी कह दे रहे हैं कि चोखा बनाने वास्ते जीवन में प्रेम होना होता है। न हो तो कहीं गांठ-वांठ बांध लीजिए काहेकि एक बार कह रहे हैं, दुबारा तभी कहेंगे जब दुबारा प्रेम होगा। हां तो करेंगे, पांच बार करेंगे, पचास ब...
Add a comment...

Post has attachment
आओ ऐसे आओ जैसे आए ही न थे
1 उस दुनिया में-  जाओ ऐसे जाओ जैसे जाता है जीवन आओ ऐसे आओ जैसे आती है हर सांस जाओ ऐसे जाओ जैसे जाता है हर सुख आओ ऐसे आओ जैसे आती है बरसात जाओ ऐसे जाओ जैसे जाती है हर रात आओ ऐसे आओ जैसे आता है हर दिन 2 इस दुनिया में-  जाओ ऐसे जाओ जैसे जाती है बिजली आओ ऐसे आओ...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded