Profile cover photo
Profile photo
varun kumar
927 followers
927 followers
About
Posts

सर्कल मेँ कोइ एड करे या ना करे अच्छे लोगो को लोग दिल hart मेँ एड कर लेँते हैँ फिर ये सर्कल तो अभासी दुनिया का अभासी तत्व ! इससे कतई निर्धारित नही होता कि आपको जिसने सर्कल मेँ जोडा हैँ , वो आपसे सहमत हैँ फिर एड करने या ना करने का प्रश्न ही नही उठता आप अपने विचार को अपडेट करियेँ आपसे सर्मर्थित विचारवान व्यक्ति आपसे स्यंम जुड जायेँगे ,, यदी मेरी यह बात किसी को बुरा लगा हो तो क्षमा करेँ ।
Add a comment...

सभी को शुभप्रभात आपका हर दिन मंगलमय हो सुर्य की नवीन किरणेँ सदा आपके जिवन को उज्जव करते हुए नई नई खुशियाँ लायेँ ।

एक सुविचार ,,,,

एक वस्तु ऐँसी हैँ _
जिसके आगे इश्वर झुक जातेँ
जिसके आगे प्रभु बरवस हो जाते ...
जिसके आगेँ माँ अपने पुत्र को स्नेह करने को बाध्य हो जाती हैँ ...
जिसके आगेँ बहने राखी बाँधनेँ को मजबुर हो जाती हैँ ..
जिसके आगे अभिमान गर्व चुर चुर हो जाता हैँ ..
जिसके आगे कोइ कामना नही रहती ..
जिसके आगे सब द्वेँश मिट जातेँ हैँ ..
जिसके आगेँ पुरी दुनिया र्निरथक हो जाती हैँ ..
जिसका गुणगान कोइ विद्वान पुर्ण नही कर सकता ..
जिसके आगेँ सब समान हैँ
जिसके आगेँ सब इंसान हैँ

वो वस्तु , वो गुण , वो चिज , वो ज्ञान केवल एक हैँ

......प्रेम ........


प्रेम ही एक ऐँसी वस्तु हैँ जिसके आगे सभी सबकुछ बेकार हैं ।

।। जय श्री कृष्णा ।।

www.facebook.com/groups/426122830792018
Add a comment...

Post has attachment
पुरा सच 300 हिन्दुओँ का कत्ल अभी भी जारी ..कत्लेआम हिन्दुओँ का ..
Add a comment...

Post has attachment
नापाक "कुरान" पापी "इस्लाम" महापापी "मुसलमान" का नंगा नाच
Photo
Add a comment...

Post has shared content
पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24
परगना जिले
के नालीखली गांव में हुए हिन्दू नरसंहार
के
द्रश्य ...
24 हिन्दू मार दिए गए हैं , 500 घर और
200 दुकाने आग के हवाले कर दी गयीं हैं
शांति के दूतों द्वारा ... क्या गुजरात मे
मुसलमान नहीं रहते ????!!!
इस्लाम और मुलसमान से बडा कोइ हैवान हैँ धरती पर ??
Photo
Add a comment...

Post has attachment
इस्लाम और मुलसमान से बडा कोइ हैवान हैँ धरती पर ??
Photo
Add a comment...

Post has attachment
अमरीका की राजधानी वाशिंगटन में एक
कुत्ते ने हीरा निगल लिया और
जौहरियों के पाँवों तले ज़मीन खिसक गई.
Add a comment...

Post has attachment
muslmano ki dabangai
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

मैँ कभी नही चाहता कि कोइ भी मेरे मित्र मेरेँ अच्छाई से प्ररित होकर बनेँ

..क्योँकि..

..

जिस दिन उन्हेँ मेरी बुराइयाँ नजर आयेँगी वो मुझे छोड जायेँगे

पर जो बुराइयाँ से प्ररित होकर बनेँगा , उसे गर्व होगा ।। 1 ।।

हो सकता हैँ मेरे कारण वह भी अच्छे बन जायेँ ।। 2 ।।

जबकि अच्छे लोगो से दोस्ती मेँ उपरोक्त दोनोँ कतई नही होगा , और मुझे भी ह्तोसाहित कर चलेँ जायेँगे ।।

अर्थात मेरी नजरोँ मेँ बुरा मित्र , अच्छे मित्र के बजाय काफी अच्छे हैँ ।
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded