Profile

Cover photo
unmukt S
Lives in India
3,329,142 views
AboutPostsPhotosVideos

Stream

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
First Sunday of August is celebrated as friendship day in our country. Here is post by Hindi blogger Unmukt about his best friend Tommy.
अपने देश में, अगस्त का पहला इतवार मित्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। हिन्दी चिट्ठाकार उन्मुक्त की कुछ साल पहले अपने सबसे अच्छे मित्र टौमी के बारे में चिट्ठी।
 ·  Translate
मैंने दस साल पहले जरूर कोई अच्छा काम किया होगा क्योंकि तभी ईश्वर ने मुझे मेरे जीवन का सबसे अच्छा उपहार दिया। टॉमी का जन्म अप्रैल १९९९ में हुआ था। वह हमारे पास जून १९९९ में आया। हम उसे दिल्ली के एक डॉग केनल से ले कर आये थे। उ...
View original post
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
We reached Delhi the next morning without being physically harmed by the goons, though we were emotionally wrecked. My friend was so traumatised she decided to skip the next phase of training in Ahmed
View original post
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
VKS Chaudhary was Senior Advocate and the chairman of the Trust. He was detained during emergency. The full bench of the Allahabad High Court held his Habeas Corpus to be maintainable. However the decision was reversed 40 years ago in ADM Jabalpur Vs Shiva Kant Shukla (The Habeas Corpus case) decided on 28.04.1976. It is the most unfortunate decision of the Supreme Court. 
Justice yatindra Singh was the counsel in the case. He has written an article about the same. It is published by 26th April 2016 Navabharat Raipur newspaper at the link below.
वीरेन्द्र कुमार सिंह चौधरी वरिष्ट अधिवक्ता और न्यास के चेयरमैन थे। ईमरजेंसी के दौरान उन्हें मीसा में बन्द कर दिया गया था। इलाहाबाद उच्च न्यायालय नर उनकी हैबियस कॉरपस को पोष्यनीय माना। लेकिन इस फैसले को सर्वोच्च न्यायालय ने एडीएम जबलपुर बनाम शिव कांत शुक्ला, या हैबिअस कॉरपस केस में ४० साल पहले, २८ अप्रैल १९७६ में पलट दिया। यह सर्वोच्च न्यायालय सबसे दुःखद और दुर्भाग्यपूर्ण फैसला है। 
न्यायामूर्ति यतीन्द्र सिंह उस केस में अधिवक्ता थे। नवभारत में आज छपे, नीचे की लिंक में उनके लिखे लेख में, उस समय और उस केस की चर्चा है।
http://epaper.navabharat.org/images/270416p4news4.jpg
‪#‎emergency‬ ‪#‎habeasCorpusCase‬ ‪#‎ADMJabalpurVsShivaKantShukla‬‪#‎VKSChaudhary‬ ‪#‎YatindraSingh‬
 ·  Translate
View original post
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
कुछ समय पहले मैंने अपने उन्मुक्त चिट्ठे पर दो अलग अलग श्रंखलायें 'ओपेन सोर्स सौफ्टवेर' और 'लिनेक्स की कहानी' नाम से लिखी थीं। बाद में उन्हें लेख चिट्ठे पर भी संकलित करके डाली।  'लिनेक्स की कहानी' https://unmukth.wordpress.com/2006/06/03/linux/ पर है।  इसमें लिनेक्स तथा आईबीएम पर चल रहे मुकदमें के बारे मेंच्चा थी। यह मुकदाम अब समाप्त हो गया है। इसे नीचे की लिंक पर पढ़ें।
 ·  Translate
SCO lost its legal battle against IBM and Linux long ago, but now the final shovel of dirt has been thrown on its lawsuits' grave.
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
Harper Lee died yesterday (19th February, 2016). In 1960, she wrote 'To Kill a Mockingbird', an American classic and mandatory reading in the schools in US. In 1962, a film adaptation of the novel by the same name was also made. It had Gregory Peck as Atticus Finch and Mary Badham as Scout. It won three Oscars including the best actors award for Peck. It also won an award in the 1963 Cannes film festival.
The year 2010 was fiftieth year of its publication and was so celebrated. In that year I wrote an article and gave talks at many places about the novel, 'the Scottsboro Boys' Case that inspired it, Samuel Leibowitz the leading lawyer in the case, and his biography 'Courtroom'. The link below is to that article.

हार्पर ली की मृत्यु, कल, १९ फरवरी २०१६ को हो गय़ी। १९६० में, उनका लिखा उपन्यास, ‘टु किल अ मॉकिंगबर्ड’ बीसवीं सदी के उत्कर्ष अमेरीकी साहित्य में गिना जाता है और सारे अमेरिकी स्कूलों में इसका पढ़ना अनिवार्य है। यह पुस्तक एक वास्तविक घटना तथा उस पर चले मुकदमे 'स्कॉटस्बॉरो बॉयेज़ ट्रायल' पर आधारित है। इसका मुख्य पात्र एटिकस फिंच भी उस मुकदमे के वकील सैमुएल लाइबोविट्ज़ के पात्र पर आधारित है।१९६२ में इस पर बनी फिल्म को तीन ऑस्कर मिले।
२०१० का साल, इसके प्रकाशन का ५०वां साल था और विश्व में इसी तरह से मनाया जा रहा था। उस समय मैंने इस उपन्यास, 'स्कॉटस्बॉरो बॉयेज़ ट्रायल', सैमुएल लाइबोविट्ज़ पर लिखी जीवनी 'कोर्टरूम' के बारे में लेख लिखा और कई जगह इस पर भाषण भी दिये। नीचे लिखे लिंक के लेख में, इनकी चर्चा है।
#‎HarperLee‬ ‪#‎ToKillAMockingbird‬ ‪#‎ScottsboroBoysCase‬ ‪#‎SamuelLeibowitz‬ ‪#‎Courtroom‬ ‪#‎BookReview‬
 ·  Translate
View original post
1
Vimlesh kumar BJP's profile photo
 
बालवीर

 ·  Translate
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
Is Scholze another Ramnujan but this time born in Germany?
क्या शॉलज़ दूसरा रामानुजन है पर इस बार उसने जर्मनी में जन्म लिया।
 ·  Translate
At 28, Peter Scholze is uncovering deep connections between number theory and geometry.
View original post
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
father's-day
२०वीं शताब्दी के शुरु से, जून का तीसरा इतवार फादर्स् डे के रूप में मानाया जाता है। आज जून का तीसरा इतवार है। इस चिट्ठी में, कुछ बातें अपने पिता के बारे में। बसंत पंचमी १९३९ - मेरी मां, पिता की शादी। मां , उस समय ११वीं कक्षा की छात्रा थीं और पिता उच्च शिक्षा...
 ·  Translate
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
On Mother's day, a post from 'CHUTPUT' of Hindi blogger Unmukt.
मां दिवस पर, हिन्दी चिट्ठाकार उन्मुक्त के चिट्ठे छुटपुट से।
 ·  Translate
This post is about memories of my mother. रिश्तों में सबसे पवित्र रिश्ता है मां का है। इस चिट्ठी में कुछ बाते अम्मां के बारे में। is chitthi mein Amma kee kuchh yaden hain…
View original post
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
Read in the link below as to why do we celebrate International women day on 8th of March as well as story of women empowerment through courts. 
नीचे की लिंक पर पढ़ें कि क्यों महिला दिवस ८ मार्च को क्यों मनाया जाता है। इसके साथ यह भी देखे कि न्यायालयों में किस तरह से महिला सशक्तिकरण हुआ।
 ·  Translate
यह लेख महिलाओं की अपने अधिकारों की कानूनी लड़ाई के बारे में है। इसमें महिला अधिकार और सशक्तिकरण की चर्चा है। यह लेख मेरे उन्मुक्त चिट्ठे पर कई कड़ियों में प्रकाशित हो चुका है। यदि इसे आप अलग अलग पढ…
1
2
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
Puzzles sharpen your mind. Here is an interesting one from The New York Times.

A rajah, in his will, left his daughters a certain number of pearls with the instructions to divide them as follows: The oldest daughter was to receive 1 pearl plus 1/7 of what was left. The next eldest daughter was to receive 2 pearls plus 1/7 of those left. The next eldest daughter was to receive 3 pearls plus 1/7 of what was left, and so on in the same manner. The youngest daughter received what was left after all the other divisions. All daughters would receive the same number of pearls.

How many pearls and how many daughters were there in all?

पहेलियां मस्तिष्क को तरोताजा रखती हैं। यहां न्यू यॉर्क टाइमस् से एक रोचक पहेली।

एक राजा के पास कुछ मोती थे। उसने अपनी वसीयत में सबसे बड़ी बेटी को १ मोती और बाकी बचे मोतियों का १/७ मोती दिये। दूसरी बेटी को बचे मोतियों से २ और बाकि मोतयों का १/७ मोती दिये। उसने तीसरी बेटी को बाकी मोतियों से तीन एवं बचे मोतियों का १/७ मोती दिये। इसी तरह से बाकी लड़कियों को मोती दिये तथा सबसे छोटी बेटी को बचे सारे मोती दिये। यदि सबको बराबर मोती मिले तो उसके पास कितने मोती थे और उसकी कितनी बेटियां थीं।
 ·  Translate
Can you discover the secret of the rajah’s pearls? An exercise in logical thinking by the math educator Fred Gluck.
1 comment on original post
1
Add a comment...

unmukt S

Shared publicly  - 
 
 
Ransomware is a virus. Often, it comes as an attachment or an offer to click to a booby-trap website. It encrypts the data and demands ransom for decrypting it. The link below explains how the cyber criminals do it and what may be done to avoid it.
रैन्समवेर एक तरह का वायरस है। अधिकतर यह किसी ईमेल के संलग्नक की तरह से, या फिर किसी छलबम वेबसाइट को खोलेने के निमंत्रण की तरह से आता है। यह आपके आंकड़ों को कूट कर देता है और उसे विकोड (वापस) करने के लिये आपसे पैसे मांगता है। नीचे की लिंक यह बताती है कि साइबर चोर इसे कैसे करते हैं और इससे बचने के लिये क्या करना चाहिये।
 ·  Translate
The cyberattackers didn't earn much, but the fact that a hospital paid to regain control of its files shows how easy it is to exploit security weaknesses
View original post
1
Add a comment...
Story
Tagline
मै हूं उन्मुक्त - हिन्दुस्तान के एक कोने से एक आम भारतीय।
Introduction
मै हूं उन्मुक्त - हिन्दुस्तान के एक कोने से एक आम भारतीय। मैं हिन्दी मे तीन चिट्ठे लिखता हूं - 'उन्मुक्त', 'छुट-पुट', और 'लेख'। मैं एक पॉडकास्ट भी 'बकबक' नाम से करता हूं। मेरे तीनो चिट्ठों, पॉडकास्ट फीड एग्रेगेटर की सारी चिट्ठियां, कौपी-लेफ्टेड हैं। मेरी पत्नी शुभा भी एक चिट्ठा 'मुन्ने के बापू' के नाम से ब्लॉगर पर लिखती है।
Basic Information
Gender
Male
Other names
उन्मुक्त