Profile cover photo
Profile photo
GYANDEEP KUMAR
137 followers
137 followers
About
Posts

Post has attachment
अजनबी तुम अजनबी हम !!
अब तो एक ऐसा दौर आ गया है जब हम एक दूसरे की ओर देखना भी नहीं चाहते तुम शायद आगे निकल गए हो ज़िन्दगी के दौर में या शायद मैं पीछे छूट गया हूँ इस सफर में ऐसे करवा में हो गए..कुछ अजनबी तुम अजनबी हम तुमसे बातें किये बिना कल तक दिन पूरा नहीं होता था आज तुमसे बातें...
Add a comment...

Post has attachment
जिंदगी जीने की कला !!
क्या होता है जब आपका कोई ख़ास, जिनके लिए आप कुछ भी कर सकते है हर वक़्त आप उपलब्ध रहते है चाहे वो कोई भी वक़्त क्यों न हो, एक नयी ज़िन्दगी जीना शुरू करता है ? शुरू शुरू में उसे कई परेशानियां होती है, जहाँ आप हर बार उसकी मदद करने से नहीं कतराते, धीरे धीरे फिर वो ...
Add a comment...

Post has attachment
दिल की करामातें
ईश्वर ने किस तरह से इंसान को बनाया है न. हमे दिल और दिमाग दोनों दिए है. दिल की करामातों की सजा दिमाग को भुगतनी पड़ती है और जो दिमाग करने को कहता है वहाँ दिल ही नहीं लगता है. दिल कहता है हवा में तैरूं तो दिमाग होने वाले शारीरिक दर्द की ख़याल दिलाता है. दिल कहत...
Add a comment...

Post has attachment
मुलाकात !!
पिछले कुछ महीनो से थोड़ी उथल पुथल चल रही है मेरी ज़िन्दगी में शायद, कोई है जो मेरे ज़ेहन में बस्ता जा रहा है, वैसे तो उसके साथ समय काटना मुझे रास आता है और दिन का एक हिस्सा उसके बारे में सोचते हुए ही निकल जाता है. जानता हूँ मैं की उसे पाना थोड़ा टेढ़ी खीर चखने क...
Add a comment...

Post has attachment
इल्लुमिनेशन !!
मेरी आँखों में नींद के कतरे काम और ज़ुनून ज्यादा है शायद. ज़ुनून है बस उस १५ मिनट में अपनी ज़िन्दगी जीने का जिसकी कीमत शायद १५ दिन के नींदों से ज्यादा है.हाँ शायद मैंने नींद का सौदा किया है वो चीज़ के लिए जिसे दुनिया महसूस करना चाहती है, सामने से देखना चाहती है...
Add a comment...

Post has attachment
69th स्वतंत्रता दिवस एक CRY Volunteer की नज़र से..
स्वतंत्रता दिवस, हमारे कैंपस में लोग इसका इस्तेमाल काफी सोच समझ कर करते है.कुछ नींद के बेचैन कतरों को पलकों के किनारों पर विश्राम देते है तो कोई पढाई पूजा में दिन व्यतीत करता है, कुछ ऐसे ही लैपटॉप्स,फ़ोन पर पूरा दिन ज़ाया कर देते है तो कुछ थोड़े-बहुत बचे-खुचे ...
Add a comment...

Post has attachment
69th स्वतंत्रता दिवस एक CRY Volunteer की नज़र से..
स्वतंत्रता दिवस, हमारे कैंपस में लोग इसका इस्तेमाल काफी सोच समझ कर करते है.कुछ नींद के बेचैन कतरों को पलकों के किनारों पर विश्राम देते है तो कोई पढाई पूजा में दिन व्यतीत करता है, कुछ ऐसे ही लैपटॉप्स,फ़ोन पर पूरा दिन ज़ाया कर देते है तो कुछ थोड़े-बहुत बचे-खुचे ...
Add a comment...

Post has attachment
अतीत !!
एक साल हो गया पर ऐसा लगता है जैसे कल की ही बात हो, हम खेलते कूदते, एक दूसरे को तंग करते रहते थे, मज़ाक उड़ाते रहते थे, छेड़ा करते थे, शबाशिया भी देते थे, एक दूसरे को समझते थे और बहुत प्यार करते थे. हाँ कुछ परेशानियाँ भी आई, कुछ को हमने मिलकर हराया, तो कुछ को ह...
Add a comment...

Post has attachment
एक नज़र !!
बादलों को पर्वतों पर, टूटते देखा है मैंने सूरज को आसमान में, डूबते देखा है मैंने पंछियों को हवाओं में, तैरते देखा है मैंने गर्मियों में फतिंगों को, जलते देखा है मैंने रौशनी को पत्तों पर, बिखरते देखा है मैंने दोस्तों को वक़्त पर, रंग बदलते देखा है मैंने माँ क...
Add a comment...

Post has attachment
पुराने पल..
कभी कभी मुझे वो ख़ास लम्हें बहुत ज्यादा याद आते है जिन्हे मैंने किसी विशेष व्यक्तियों के साथ ज़ाया किया था.उनकी बातें,उनके अंदाज़ और तौर तरीके जिस पर हम घंटों अपनी दलीलों के पेंच लड़ाते रहते थे.उनकी ख़ुशी और उनकी हर एक छोटी छोटी खुशियों का हिसाब रखते थे.क्युकी व...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded