Profile cover photo
Profile photo
अशोक कुमार वर्मा 'बिन्दु'
9 followers
9 followers
About
Posts

Post has attachment

Post has shared content
कोई भारतीय जातिगत आरक्षण का तो विरोध कर सकता है लेकिन जातिगत अन्य आचरणों व कर्म कांडों का विरोध क्यों नहीं?वह समान आचार संहिता के लिए संघर्ष क्यों नहीं करता?जरूर दाल में कुछ काला है!!?.
.
.
.
अशोक कुमार वर्मा'बिंदु'
.

सामाजिकता के दंश!!
www.ashokbindu.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
कोई भारतीय जातिगत आरक्षण का तो विरोध कर सकता है लेकिन जातिगत अन्य आचरणों व कर्म कांडों का विरोध क्यों नहीं?वह समान आचार संहिता के लिए संघर्ष क्यों नहीं करता?जरूर दाल में कुछ काला है!!?.
.
.
.
अशोक कुमार वर्मा'बिंदु'
.

सामाजिकता के दंश!!
www.ashokbindu.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
कोई भारतीय जातिगत आरक्षण का तो विरोध कर सकता है लेकिन जातिगत अन्य आचरणों व कर्म कांडों का विरोध क्यों नहीं?वह समान आचार संहिता के लिए संघर्ष क्यों नहीं करता?जरूर दाल में कुछ काला है!!?.
.
.
.
अशोक कुमार वर्मा'बिंदु'
.

सामाजिकता के दंश!!
www.ashokbindu.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

लक्ष्मी बाई को धोखा दिया था. वह मुस्लिम का परिवार अफगानिस्तान से लिंक रखता था जो देश के अंदर लूटमार करता था .ये मुस्लिम अपने परिवार को लूटमार के लिए निर्देश करता था, आज यहां लूट करनी है,कल वहां.. और इस तरह से खैर!!लक्ष्मी बाई के बाद उनकी पीठ पर बन्धे उस पुत्र क्या हुआ??

दामोदर राव अब युवा थे!वे इंदौर में अंग्रेजों की पेंशन के सहयोग से अपना जीवन यापन कर रहे थे. वे अब एक चित्रकार थे. उनकी बनाई तश्वीरें अब उनके परिवार की धरोहर
हैं.


वह ....???एक ब्रिटिश पत्रकार के सामने गम्भीर हो चुका था.

"अपने बचपन के बारे में क्या बताएं?"

"तब भी??"
हूँ!!
Add a comment...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded