Profile cover photo
Profile photo
Arpan Kumar
48 followers
48 followers
About
Arpan's posts

Post has attachment

Post has attachment
**


Post has attachment
Add a message to your video

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
**
कविता पिता के कंधे से लगकर अर्पण कुमार एक पिता अकेले मेरे नहीं हैं मगर जब भी सर रखती हूँ उनके कंधे पर वे मेरे होते हैं पूरे के पूरे मेरी बाकी चार बहनें भी यही कहती हैं मुझसे सोचती हूँ पिता एक हैं फिर पाँच कैसे बन जाते हैं! .... दो यौवन की केंचुली उतर आती है...

Post has attachment
**
http://samvadiahindipatrika.blogspot.in/2011/04/blog-post.html?m=1 यह लिंक संवदिया पत्रिका के बारे में विवरण देता है। वहाँ मेरी कुछ कविताएँ प्रकाशित हुई थीं। उनकी संपादकीय टीम का आभार। 

Post has attachment

Post has attachment
भारमुक्त होने की अग्नि परीक्षा : अर्पण कुमार
                   भारमुक्त होने की अग्नि परीक्षा : अर्पण कुमार  आजकल कलाई घड़ी पहननी छोड़ दी है। जेब से मोबाइल निकाल कर यथावश्यक समय देख लेता हूँ। कलाई  पर बँधी घड़ी भारी लगने लगी है। उंगलियों में पहने जानेवाली अंगूठियों को अलमारी के लॉकर का रास्ता दिखा दिया ...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded