Profile cover photo
Profile photo
Akanksha Yadav
683 followers -
कालेज में प्रवक्ता के बाद साहित्य,लेखन और ब्लागिंग के क्षेत्र में प्रवृत्त।
कालेज में प्रवक्ता के बाद साहित्य,लेखन और ब्लागिंग के क्षेत्र में प्रवृत्त।

683 followers
About
Akanksha's posts

Post has attachment
हमारे पापा का जन्मदिन 29 फरवरी को पड़ता है। हमें इस दिन के लिए चार साल का लम्बा इंतज़ार करना पड़ता है, क्योंकि 29 फरवरी हर चाल साल में एक बार आती है और अब ये वर्ष 2020 में आएगी । पापा हर साल हम सबको जन्मदिन की शुभकामनाएं और आशीर्वाद देते हैं, फिर हमें उन्हें बधाई देने के लिए चार साल का लम्बा इंतज़ार क्यों करें ? सो, फरवरी के अंतिम दिन हम उनका हैप्पी बर्थडे सेलिब्रेट करते हैं, सो आज उनका जन्मदिन है और इस जन्मदिन पर हम यही चाहेंगे कि पापा जी को जीवन की सारी खुशियां मिलें, वे स्वस्थ, सुखी, समृद्ध व दीर्घायु जीवन जियें और हम लोगों को अपना प्यार, स्नेह और आशीर्वाद यूँ ही देते रहें !!
...Happy Birthday Papa.

-Akanksha Yadav : आकांक्षा यादव 
Photo

Post has attachment
भगवान शिव के सान्निध्य में। आप सभी को सपरिवार ''महाशिवरात्रि'' पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ !!
Happy MahaShivaratri

Photo

Post has attachment
आज 'महाशिवरात्रि' का पर्व है। ऐसी मान्यता है कि इसी दिन भगवान शिव का पार्वती संग शुभ-विवाह हुआ था। भगवान शिव का एक रूप अर्धनारीश्वर का भी है। पुरुष (शिव) एवं स्त्री (शक्ति) का एका होने के कारण शिव नर भी हैं और नारी भी, अतः वे अर्द्धनारीश्वर हैं।
..... आप सभी को ''महाशिवरात्रि'' पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

Post has attachment
राजस्थान में जोधपुर से प्रकाशित मासिक हिंदी पत्रिका "शेरगढ़ एक्सप्रेस" ने 'साहित्य जगत के चमकते सितारे' शीर्षक से अपना फरवरी-2017 अंक हमारे ( कृष्ण कुमार यादव, आकांक्षा यादव, अक्षिता पाखी) व्यक्तित्व - कृतित्व पर केंद्रित कर प्रकाशित किया है। इसे आप भी यहाँ पढ़ सकते हैं .....

Post has attachment
घर का बजट बनाने में महिलाओं का योगदान जगजाहिर है, इसीलिए तो उन्हें गृह लक्ष्मी कहा जाता है। पर अब महिलाएं हर क्षेत्र में कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। जी हां बजट 2017-18 बनाने की प्रक्रिया में महिला अधिकारियों ने पहले से कहीं अधिक योगदान दिया है। बजट बनाने की प्रक्रिया में जुटे वरिष्ठ स्तर के अधिकारियों में 41 फीसदी महिलाएं रही हैं। ये महिला अधिकारी सरकार के कुल बजट संबंधित कार्य के 52 फीसदी भाग को देख रही हैं।

Post has attachment
आधी आबादी के सरोकार @ आकांक्षा यादव ....
अपनी पुस्तक को हाथ में देखने की सुखद अनुभूति ही कुछ और होती है। हिन्दुस्तानी एकेडेमी, इलाहाबाद द्वारा प्रकाशित हमारी पुस्तक "आधी आबादी के सरोकार" की लेखकीय प्रतियाँ आज ही प्राप्त हुई, वाकई बहुत अच्छा लगा। वर्ष 2017 की हमारी पहली सृजनात्मक उपलब्धि रही ये पुस्तक। यह भी एक अजीब संयोग है कि इस बार प्रगति मैदान, नई दिल्ली में आयोजित विश्व पुस्तक मेला-2017 की थीम भी 'मानुषी' रही, जो महिलाओं द्वारा एवं महिलाओं के ऊपर लेखन को प्रस्तुत करती है। फ़िलहाल, एकेडेमी द्वारा बताया गया है कि "आधी आबादी के सरोकार" पुस्तक को हिन्दुस्तानी एकेडेमी, इलाहाबाद के कार्यालय, स्टॉल के अलावा लोकभारती और राजकमल प्रकाशन की मार्फत भी प्राप्त किया जा सकता है, जो एकेडेमी के पुस्तकों के वितरक भी हैं। 
Photo

Post has attachment

Post has attachment
नारी विमर्श आधुनिक समाज और साहित्य में एक ज्वलंत मुद्दा है। कभी हाशिये पर खड़ी स्त्री और कभी नेतृत्व के नए प्रतिमान गढ़ती, शायद इन दोनों के बीच ही कहीं आज का नारी विमर्श खड़ा है। नारी-सशक्तिकरण आज के दौर की एक सच्चाई है, पर इसका सामान्यीकरण नहीं किया जा सकता। आज भी नारी अपने अस्तित्व और अस्मिता के लिए तमाम प्रतिरोधों के बीच संघर्षरत है। गुलाबी सपनों के बीच आसमां को छूने की हसरत लिए 21वीं सदी की लड़कियाँ तमाम दकियानूसी परम्पराओं और रूढ़ियों से टकराती नज़र आती हैं। ऐसे ही तमाम विषयों को उठाती मेरी पुस्तक "आधी आबादी के सरोकार" (लेखिका -आकांक्षा यादव) शीघ्र ही हिंदुस्तानी एकेडमी, इलाहाबाद से प्रकाशित होकर आने वाली है। इसके लिए कवर पेज का रेखांकन प्रसिद्ध चित्रकार डॉ. लाल रत्नाकर ने किया है।

Post has attachment
इंटरनेट पर हिंदी के व्यापक प्रचार-प्रसार और ब्लागिंग के माध्यम से देश-विदेश में अपनी रचनाधर्मिता को विस्तृत आयाम देने वाले ब्लॉगर दम्पति राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव और उनकी पत्नी आकांक्षा यादव के ब्लॉग क्रमश: "डाकिया डाक लाया" (http://dakbabu.blogspot.in/) और "शब्द-शिखर" (http://shabdshikhar.blogspot.in/) को टॉप हिंदी ब्लॉग्स में शामिल किया गया है। वर्ष 2008 से ब्लॉगिंग में सक्रिय एवम ''दशक के श्रेष्ठ हिंदी ब्लॉगर दम्पति'' और सार्क देशों के सर्वोच्च ''परिकल्पना ब्लॉगिंग सार्क शिखर सम्मान'' से सम्मानित दम्पति के दोनों ब्लॉगों को इंडियन टॉप ब्लॉग्स द्वारा 2015-16 के लिए हाल ही में जारी हिंदी के सर्वश्रेष्ठ 130 ब्लॉगों की डायरेक्टरी में स्थान दिया गया है। गौरतलब है कि वर्तमान में हिंदी में एक लाख से ज्यादा ब्लॉग संचालित हैं।

Post has attachment
अपने देश भारत में घरेलू हिंसा एक व्यापक विमर्श का विषय है। अक्सर ही हम देखते हैं कि आये दिन कोई न कोई महिला अपने पति की हिंसा का शिकार होती है। घरेलू हिंसा का ग्राफ दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। अक्सर अापने 'पतियों' द्वारा ढाए जाने वाले जुल्मों की दास्तां सुनी हाेगी, लेकिन यूएन द्वारा करवाए गए एक सर्वे में पतियों पर हुए घरेलू हिंसा के चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। इसके अनुसार पतियाें काे पीटने में तीसरे नंबर पर हैं भारतीय पत्नियाँ !
Wait while more posts are being loaded