Profile cover photo
Profile photo
Ankur Jain
513 followers -
Never get discouraged. Be strong . Never ever beg for favour !!! Act localy...Think globaly!!!!!
Never get discouraged. Be strong . Never ever beg for favour !!! Act localy...Think globaly!!!!!

513 followers
About
Posts

Post has attachment
लंबे अरसे बाद...बस यूंही।।
Add a comment...

Post has attachment
विरामचिन्ह !!!
ठहराव है वहीं हो रहा जहाँ कहीं भी प्रवाह है। सापेक्षता का सिद्धांत बताता है हमें गति और स्थिति का यही विरोधाभास।। और इस परस्पर विरोध की  निर्भरता को समझे बगैर हम बस  खुद की ही नज़र को सत्य ठहराने पर अड़े है... बिना देखे-बिना जाने कि हम खुद कहां खड़े हैं। क्...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
संवरने का हुनर
बादलों के टूटने से पा गई ये धरा 'जल' रात के इस बीतने से पा गई ये सृष्टि 'कल'। डूबकर सूरज ने दे दी निशा की शीतल विभा चोट खा माटी ने जन्मी फसल की ये हरितमा।। छूटते जो अंगुलियों से हर्फ, जब भी कागज़ों पर... बन जाते तब वे भी जैसे काव्य का कोई हार मानो। रूठते जब...
Add a comment...

Post has attachment
82 वर्षीय 28 वर्ष के युवा : हमारे प्यारे दादा (डॉ हुकुमचंद जी भरिल्ल)
बीतते वक्त की रफ्तार ने हाड़-मांस के इस शरीर को बयासी वर्ष का कर दिया, लेकिन मनोबल, आत्मिक उत्साह और मां जिनवाणी की सेवा के लिए सतत सक्रियता उम्र की इस हकीकत को झुठलाती है। गोया ये कहना होगा कि दादा की उम्र भले लिखी देवनागरी लिपि में '82' जाए; लेकिन इसे पढ़ा ...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded