Profile cover photo
Profile photo
divine durga
19 followers
19 followers
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment
क्यों भूल रहे हो लाल मुझे मै सबकी भारत माता हूँ ||
Add a comment...

Post has attachment
क्यों भूल रहे हो लाल मुझे मै सबकी भारत माता हूँ ||
मै आभा वेद पुराणों की ,उपनिषदों की विख्याता हूँ  क्यों भूल रहे हो लाल मुझे मै सबकी भारत माता हूँ || मेरे गौरव को याद करो मै मर्यादा थी रघुकुल की   कण कण मे शिव बसते थे मै आराध्या थी गोकुल की  केशव ने मेरी खातिर ही रण में गीता गान किया था  मुझे बचाने की खाति...
Add a comment...

Post has attachment
फिर से मेरा अपना कोई हाथ पकड़ने को कहता है
Add a comment...

Post has attachment
फिर से मेरा अपना कोई हाथ पकड़ने को कहता है
फिर से मेरा अपना कोई हाथ पकड़ने को कहता है बरसों बीत गए थे मैंने रोक लिया था जिन भावों को  आज अचानक मन से बाहर आने की कोशिश करते हैं  असमंजस की रातों में जो सहमे थे चाहत के दीपक  आज भयानक तूफां में भी जलने का साहस करते हैं || बरसों पहले  छोड़ गया था कोई अपना ...
Add a comment...

Post has attachment
सच्चा प्रेम नहीं है ये तो ,परिभाषाओं का जंगल है 
Add a comment...

Post has attachment
सच्चा प्रेम नहीं है ये तो ,परिभाषाओं का जंगल है
सच्चा प्रेम नहीं है ये तो ,परिभाषाओं का जंगल है  मेरा मन अपनी परिभाषा तुम्हे सुनाने को व्याकुल है || जीवन गोकुल जैसा पावन मन वृन्दावन वट हो जाए  अभिलाषा के गंगा तट पर धैर्य स्वयं केवट हो जाए  मोहन की यादों में आँखें बन जाएँ जब राधा मीरा  अपनी धुन में बैरागी...
Add a comment...

Post has attachment
सपनो की बरात सजा कर, ले आया हूँ द्वार तुम्हारे 
Add a comment...

Post has attachment
सपनो की बरात सजा कर, ले आया हूँ द्वार तुम्हारे
सपनो की बरात सजा कर, ले आया हूँ द्वार तुम्हारे  योवन की पहली आहट जब ,लेने को आई अंगडाई कोमल भावों ने धीरे से ,मन को ये आभास कराई वर्षों से कल्पित आभा को ,आज पूर्ण साकार मिला है  भावों की बूंदों को मेरी ,नदिया का आकार मिला है   अनुबंधों के लेखे जोखे ,मुझको स...
Add a comment...

Post has attachment

मै अभी भी हूँ जिसे तुम प्यार कहते हो प्रिये |
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded