Profile cover photo
Profile photo
Shah Nawaz
2,453 followers
2,453 followers
About
Shah's posts

Post has attachment
हम रब की बख्शी खुशियों को अक्सर ख़ुशी समझते ही नहीं हैं
हमारा रब हमें रात-दिन अनेक खुशियाँ अता करता है, मगर उनसे खुश होना और शुक्रगुज़ार बनना तो दूर, अक्सर को तो हम खुशियों में शुमार भी नहीं करते हैं। बच्चों के घर वापिस आने के ख़ुशी की अहमियत उनसे मालूम करो जिनका बच्चा सही सलामत स्कूल गया था, मगर वापिस नहीं आया । ...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
मेरा वजूद बदलता दिखाई देता है
उधर से चिलमन सरकता दिखाई देता है इधर नशेमन फिसलता दिखाई देता है तुझे पता क्या तेरे फैसले की कीमत है मेरा वजूद बदलता दिखाई देता है उमड़-उमड़ के जो आते हैं मेघ आँगन में फटा सा आँचल तरसता दिखाई देता है कई रातों से भूखा सो रहा था जो बच्चा आज फिर माँ से उलझता दिखा...

Post has attachment

Post has attachment
कहो कब तलक यूँ सताते रहोगे
कहो कब तलक यूँ सताते रहोगे कहाँ तक हमें आज़माते रहोगे सवालों पे मेरे बताओ ज़रा तुम यूँ कब तक निगाहें झुकाते रहोगे हमें यूँ सताने को आख़ीर कब तक  रक़ीबों से रिश्ते निभाते रहोगे  वो ग़म जो उठाएँ हैं सीने पे तुमने  बताओ कहाँ तक छुपाते रहोगे  - शाहनवाज़ सिद्दीकी

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded