Profile cover photo
Profile photo
दीपक भारतदीप
58 followers
58 followers
About
Posts

Post has attachment
राम का नाम लेते हुए महलों में कदम जमा लिये-दीपक बापू कहिन (ram nam japte mahalon mein kadam jama dtla-DeepakBapukahin)
Add a comment...

Post has attachment
राम का नाम लेते हुए महलों में कदम जमा लिये-दीपक बापू कहिन (ram nam japte mahalon mein kadam jama dtla-DeepakBapukahin)
जिसमें थक जायें वह भक्ति नहीं है आंसुओं में कोई शक्ति नहीं है। कहें दीपकबापू मन के वीर वह जिनमें कोई आसक्ति नहीं है। --- सड़क पर चलकर नहीं देखते वातानुकूलित कक्ष में बांचे दर्द कहें दीपकबापू थैला लेकर घूमे महलों में जा बसे अब हमदर्द। --- राम का नाम लेते हुए ...
Add a comment...

Post has attachment
हिन्दीकविता,समाज ,हिन्दीसाहित्य, hindiliterature,society,family friends,परिवार,मनोरंजन
Add a comment...

Post has attachment
फुर्सत में उनके नारे सुन लेते हैं, शब्द पुराने नयी धुन देते हैं-दीपकबापूवाणी (fursat mein unke yare sut lete-DeepakbapuWani)
जैसे ख्याल वैसी जिंदगी चलती है, सूरज डूबा तो चिरोग की लौ जलती है। कहें दीपकबापू बेकसूर घड़ी की सुई बुरा समय सोच की गलती है। -- शोर से दिल जीता नहीं जाता, मौन से दिन बीता नहीं जाता। कहें दीपकबापू अमृत अनुभूति है  कोई मुख से पीता नहीं जाता। --- धूप में देह से ...
Add a comment...

Post has attachment
मन मैले तन पर धवल वस्त्र पहन लेते-दीपकबापूवाणी (man maile tan par dhawaltra pahane-DeepakBapuWani)
Add a comment...

Post has attachment
वह इश्क इश्क करते रहे बताया नहीं उनके क्या किस्से हैं-दीपकबापूवाणी (Vah vah ishq idhq karat rahe-DeepakBapuWani)
Add a comment...

Post has attachment
देश विदेश की खबरें कौन पढ़ता है-दीपकबापूवाणी (Desh videsh ki khabare kaun padhta hai-DeepakBapuWani)
Add a comment...

Post has attachment
देश विदेश की खबरें कौन पढ़ता है-दीपकबापूवाणी (Desh videsh ki khabare kaun padhta hai-DeepakBapuWani)
लोकतंत्र में प्रायोजित बहस जंग जैसी होती , प्यार नफरत भी कच्चे रंग जैसी होती। ‘ दीपकबापू ’ बड़े बड़े अभियान चलाते रहे , मुद्दों से वफादारी झूठे संग जैसी होती।। -------- बेदम पांव चाल चलने में कमजोर , इसलिये चेहरे के विज्ञापन पर देते हैं जोर। ‘ दीपकबापू ’ नारे...
Add a comment...

Post has attachment
maniuSmriti, HindiuDharma,
Add a comment...

Post has attachment
सब घर भय के भूत लटके हैं-दीपकबापूवाणी (sab ghar mein Bhay ke bhoot latke hain-DepakBapuwani0
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded