Profile cover photo
Profile photo
Kumar Shiva
77 followers
77 followers
About
Posts

Post has attachment
पहला प्रयास | धन्यवाद |
Add a comment...

Post has attachment
बेतरतीब - 2
मत छेड़ना इस राख को . . इसमें दबे  ज़ज्बात हैं . . ज़ज्बात जाग गए गर तो , आग फिर लग जाएगी। उसके ख्यालों के क़र्ज़ मे दबे जाते हैं रोज़ाना, मोहब्बत पूरे ब्याज़ के साथ उधार लेता है। मेरी साँसें मेरी धड़कन सिर्फ अब मेरी न रही मोहब्बत तो मिलकियत पर हिस्सेदार देता ...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded