Profile cover photo
Profile photo
Pushpendra Gangwar
About
Pushpendra Gangwar's posts

Post has attachment
द्रवित कर दिया जी आपने.. निःशब्द

Post has attachment
रोते तो हैं आज भी हम दर्द से मगर
माँ के सलीके सी नज़र उतरता नहीं ।


गलतियां होती हैं मगर क्या है कायदा
मेरे पिता सा कोई मुझे डाँटता नहीं ।

Post has attachment
रोते तो हैं आज भी हम दर्द से मगर
माँ के सलीके सी नज़र उतरता नहीं ।
गलतियां होती हैं मगर क्या है कायदा
मेरे पिता सा कोई मुझे डाँटता नहीं ।

Post has attachment
ये जीना क्या जीना है ये भी कोई जीना है
हर पल सांसे गिनना है हर सांस में आंसू पीना है
ये भी कोई जीना है।

Post has attachment
Pushpendra Gangwar commented on a post on Blogger.
बहुत ही सुन्दर पंक्तियाँ.. आभार

Post has attachment
भरी है दुपहरी बहे जा रहे हैं
न जाने कहाँ को चले जा रहे हैं ।
चले जा रहे हैं ।

खड़े पीठ करके भले उस तरफ हों
मगर मंजिलों को तके जा रहे हैं।
चले जा रहे हैं ।

Post has attachment
कृपया मेरी नयी रचना अवश्य पढ़े एवम अपना बहुमूल्य पृत्युत्तर भी प्रदान करने का कष्ट करें ॥

Post has attachment
Please visit my latest Gazal on below link.

Post has attachment

कृपया हमारी नयी कविता पोस्ट पर पधारिये...

जीवन क्या है ओस की बूँदें
बूंदों जैसी रंग बिरंगी...

http://yaaden.in/%E0%A4%9C%E0%A5%80%E0%A4%B5%E0%A4%A8-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%88/

Post has attachment
पहिया बताता है
चलन ज़िन्दगी का
गड्ढों भरी
कंकड़ी, पथरीली, साधारण और शानदार
Wait while more posts are being loaded