Profile cover photo
Profile photo
Kamla Singh
69 followers
69 followers
About
Posts

Post has attachment
जीबी रोड
जीबी रोड
storymirror.com
Add a comment...

Post has attachment
**
तुझसे  किया  है  प्यार यही तो  कुसूर है  इस  बात  पे भी  यार क़सम  से  गुरुर है  रहती  हूँ  तेरी याद मेँ  मसरुफ़  रात दिन  छाया  हुआ  है  मुझ पे  तेरा  ही सुरूर है  क्या बात है की तुझमेँ ही रहती हूँ गुमशुदा  तुझसे  कोई पुराना  सा  रिश्ता   ज़रूर है  हर वक़्त जग...
Add a comment...

Post has attachment
**
प्यार मुहब्बत  ख़ुशियाँ जिस  पर यारों हमने वार दिया  उस  ज़ालिम   ने   बेदर्दी  से   तन्हा  करके  मार  दिया  उसकी  रूह   से  कोई   पूछे   वो   सच   बात  बताएगी  जंगल  को  गुलज़ार  बना कर  मैंने  इक  संसार  दिया  बीच लहर में जिस दिन कश्ती उसकी थी मजबूर बहुत  मै...
Add a comment...

Post has attachment
**
एक ग़ज़ल आप सबके हवाले  ------------------------------- मैं  ख़ता  करूँ  तो  ख़ता लिखो  मैं  वफ़ा  करूँ  तो  वफ़ा  लिखो  मेरी  आँख   देखो  भी  ग़ौर  से  जो  मैं   डबडबाऊँ  दुआ  लिखो  मेरी   ज़ुल्फ़  लहराए   नागिनी  तो  कलम  उठा  के  हवा लिखो  कहाँ  हम हों ,तुम हो पत...
Add a comment...

Post has attachment
**
दिवाली ........... मुझे वो दिवाली दोगे तुम ? जहाँ बचपन की मेरी फुलझडी़ बिना छूटे  मेरी फूँक के इंतजा़र में मायूस पडी़ है ? मुझे वो आंगन दिलाओगे तुम ? जहाँ मेरी साँप लत्ती की टिकया आधी अधूरी फूंफकार कर सोई पडी़ है मेरा वो धरौंदा ही दिला सकते हो ? जिसके सामने...
Add a comment...

Post has attachment
**
एक ग़ज़ल देखें  ---------------------- ज़ुल्म  हो  जब  भी  लड़ जाईये  ख़ौफ़   बन   कर  उभर   जाईये  हौसला    है   अग र  आप    में  पार   दरिया   को   कर   जाईये  इतनी  हिम्मत नहीं हो तो फिर  इससे   बेहतर   है   मर   जाईये  दुसरा    कोई    गुलशन    नहीं  यह  चमन  ...
Add a comment...

Post has attachment
**
खु़दाया खै़र करे ____________ जब दिल के बंधन खुलते हैं खुश्बू के रस रस घुलते हैं तू याद बहुत ही आता है अनजाने में तड़पाता है तेरी यारा ऐसी लत लागी मैं कब सोई और कब जागी तू काहे मुझसे बैर करे मेरे अंदर अंदर सैर करे तेरा यार खु़दाया खै़र करे तेरा यार खु़दाय...
Add a comment...

Post has attachment
**
ग़ज़ल हाज़िर है  ============== जो   ज़बानो   -ब्यान   वाले   हैं  बस    वही   दास्तान   वाले   हैं  बालों पर की ख़बर नहीं जिनको  पूछिए    तो    उड़ान   वाले    हैं  शैख़  शजरा  दिखा  के कहता है  हम  ही  बस  आन बान  वाले हैं  बोझ  अपना भी जो उठा न सके  फ़क्र    है ...
Add a comment...

Post has attachment
**
मेरी एक  ग़ज़ल देखें  -------------------- आग दिल में लगाने से क्या फ़ायदा  अपना ही घर जलाने से क्या फ़ायदा  जब परिंदे ना चहकेंगे कल शाख पर  इस चमन को बचाने से क्या फ़ायदा  इल्म के साथ हासिल न हो अक्ल तो  बे -वजह  फैज़ पाने से  क्या फ़ायदा  आज तो  हम तुम्हारे मुक़ा...
Add a comment...

Post has attachment
**
एक ग़ज़ल देखें  ----------------------- क़िस्मत का मेरे यारों जब टूटा सितारा था  इक  मेरे  सहारे  को  बस  मेरा  खुदारा था  गर्दिश ने जो घेरा तो कुछ काम  नहीं आया  कहने  के लिए यूँ तो  कश्ती  का सहारा था  हम  सब्र से  बैठे  थे चीख़ा ना  गुज़ारिश की  सर काट के ज़ाल...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded