Profile cover photo
Profile photo
Tarun Thakur
70 followers -
सत्यं शिवं सुन्दरं ! Thy Truth is the Absolute Divinity and most beautiful aspect of this mortal and that immortal world !
सत्यं शिवं सुन्दरं ! Thy Truth is the Absolute Divinity and most beautiful aspect of this mortal and that immortal world !

70 followers
About
Posts

Post has attachment
तनाव के वे क्षण
तनाव के वे क्षण  लेजाते है  नजदीक  ईश्वर के  प्रकृति के  स्वयं के  ये सामीप्य  प्रथमत: भयावह लगता है  किन्तु  समझ सको तो  आत्मा पर  ईश्वरीय कृपा से  पूर्व का  झंझावात भर है  ताकि तुम जान पाओ  कि ये "तुम" हो  और  ये तुम्हारा "डर " है  बेचैनी  कुछ पा जाने  या...

Post has attachment
कोई खबर नहीं उनकी
कोई खबर नहीं उनकी  वो गए है  जब से सरहदों पे  मेहंदी भी  अभी तो हाथों से  छूटी ना थी  और बुला ले गयी  बैरन ड्यूटी साजन को  ओह रे देसवा  मन भी नहीं  तुझे क्या कहु  तेरे ही खातिर तो  जी रही हूँ मै  यहाँ  और खट रहे है  पिया वहा  सरहदों पे  बजती है  दिन रात  दि...

Post has attachment

Post has attachment
एक सार्वभौम प्रासंगिक सन्दर्भ : मधुसूदन उवाच ! (गीता : द्वितीय अध्याय - भाग १ )
तब उस  करुणामूर्ति ने  करुणापूरित  अश्रुरत  नत नयन  भीत भी  क्लांत भी  गांडीव धर चुके  पस्त हृदय  अर्जुन के प्रति  यो कहा  जैसे  युगों से कहा  मधु मर्दन ने  हां  जिसने  स्वयं की माया से  उत्पन्न  मधु को  कैटभ संग  मरीचिका के उत्तल पर  जंघा ही को  धरा कर  छि...

Post has attachment
मन क्यों उदास है ?
मन क्यों उदास है ? जाने कैसी ये प्यास है ?  बुझती नहीं ,  रुकती नहीं ,  बड़ी तेज सांस है ||  क्यों वो मेरा नहीं ?  जो मिला  मिला नहीं  जो नहीं मिला  क्यों मिला नहीं  कितने सवालों का  ना कोई जवाब है ||  परछाइयों सी है  खुशिया जो मिली  रुसवाइयों सी है  वाहवाहि...

Post has attachment
"वसुंधरा दिवस" की हार्दिक शुभेच्छा
साफ़ सुथरे  और हरे भरे पर्यावरण का  तोहफा दीजिये ,  स्वयं और अगली पीढ़ी को  "वसुंधरा दिवस" की  हार्दिक शुभेच्छा यही है , स्वच्छ और समृद्ध धरा का  संकल्प करे हम  ! एक बीज से एक पौधा  और  एक पौधे से एक पेड़ यही तो करना है  करते जाना है  बस

Post has attachment
अंजू बॉबी जॉर्ज जी जन्मदिन पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ !

Post has attachment

Post has attachment
आखिर जन्भूमि विवाद का हल क्या है ? - मोदी जी को खुला खत
पहली बात कि यह एक समस्या नहीं है "जन्भूमि विवाद" इसके एक पक्ष द्वारा समस्या को दिया गया नामकरण है | इसका दूसरा नाम "बाबरी ढांचा /मस्जिद विवाद" और तीसरा "अयोध्या विवाद" ऐसे कई नाम है | जिनकी फेहरिश्त में नए रिश्तेदार जैसे "हिन्दू मुस्लिम दंगे " , "मुंबई बम ध...

Post has attachment
एक ख़राब दिन , एक अच्छा दिन
जैसे  तुम हो शुद्ध  शाकाहारी और  गुज़र जाओ  व्यस्त  मच्छी बाजार से  और ऐसे ही  कभी  किसी एक दिन  जेठ की  जलती दोपहर में  कोई विमान  तुम्हे छोड़ आये  हरी भरी  बर्फीली  वादियों में  दिन वही था  तुम भी  फिर भी  फर्क था  कही बाहर  और भीतर में  कुछ टूट गया था  मच्...
Wait while more posts are being loaded