Profile cover photo
Profile photo
Santosh Pandey
13 followers
13 followers
About
Santosh's posts

Post has attachment
"माँ अंजनी की जय हो"
पुत्र हनुमान जी के जन्म दिवस पर विशेष निवेदन !

हर माँ की जिम्मेदारी है बच्चे के प्रति कोहारी !
एक माँ किसी कोहार से कम नहीं होती !
कहार मिटटी को गूथते है !
मिटटी की पहचान और मिटटी की गुथायी के बाद आकार और फिर आँवा (आग की भट्टी) में पकाने की प्रक्रिया से सम्भव कर मिटटी के बर्तन बना पाते है !
जो कभी कभी रख रखाव या तेज आंच में टेढ़े मेढ़े भी हो जाते है !
आप की चिंतन और हंसी दोनों गंभीर है !
अपनी कोहारी सिद्धि की चुनौती ही समझे !
Photo
Photo
4/12/17
2 Photos - View album

Post has attachment
"किरदार"

जिंदगी ने कभी भी
आसान रास्ते नहीं दिए.

हमेशा
कंटीलेपथरीले रास्तों से ही
गुजरना पड़ा.
कदम कदम पर
आर्थिक कठिनाइयों व
बोझिल परिस्थितियों का
सामना करना पड़ा

इस सब के बावजूद
अपना मनोबल टूटने नहीं दिया.

मंजिल पर सदैव अपनी नजर रखें,
भले ही परिस्थितियां कैसी भी हों.

आर्थिक परेशानियों के बीच भी,
जिंदगी में परेशानियां
किसी भी रूप में आती हैं.
कभी मानसिक पीड़ा,
अवसाद,
अपनों से विछोह
शारीरिक तकलीफें
बीमारियां,
इन परेशानियों में उलझ कर
हम अपना मकसद भूल जाएं,
यह नहीं होना चाहिए.

इस के विपरीत
हम उन परेशानियों से जूझते हुए
खुद को मजबूत बना
अपने इरादों में कठोरता ला
नए मकसद तलाश सकते हैं.
जरूरत है अंदर से मजबूत बनने
और मकसद के प्रति एकनिष्ठ रहने की.

जो हर तरह की परिस्थिति में
आगे बढ़ना सीख लेता है,
जिस का मन अंदर से मजबूत होता है.
हर परिस्थिति में मन को मजबूत रखते हैं,
सफलता नए रास्ते भी खोल जाते हैं.

इन बातों का खयाल रखें -

जब आप अपना पसंदीदा काम कर रहे हैं
और उस काम में पूरी तरह एकाग्रचित हो
तो आप का मन किसी भी हाल में
दुखी या परेशान नहीं रह सकता.
आप हार नहीं मान सकते.
अपने पेसेंस धीरज को जी कर
एक अच्छे समूह का हिस्सा बनकर
उल्हास के माहौल के "किरदार" बनकर
जीवन की गतिविधियों को
ऊर्जावान बनाये रखने का इन्तजाम रख्खे !

आप न सिर्फ मुश्किलों को
खुद पर हावी होने से रोकते हैं,
बल्कि सफलता के नए रास्ते भी खोलते चले जाते हैं.

पहले यह तय करें कि आप
किस में रुचि रखते हैं.
अपने आप अपने शौक को पहचानें.
सपने को पूरा करने के लिए
मेहनत करें.

जब भी कोई नकारात्मक भावना
आप के दिल पर चोट करे
तो केवल 90 सैकंड के लिए
खुद को उस से प्रभावित होने से रोकें.
डेढ़ मिनट का यह समय ही महत्त्वपूर्ण होता है

यदि इस वक्त आप ने स्वयं पर नियंत्रण रख लिया
तो फिर संभवतया हमेशा के लिए
उस के नकारात्मक प्रभाव से आजाद रहेंगे.

जब दिल टूट जाए :
कई लोग जिंदगी में मिलने वाले
भावनात्मक धक्कों से उबर नहीं पाते.
प्रेम और उस से जुड़े दर्द,
जैसे प्यार न जता पाने का मलाल,
प्यार में धोखा,
बे्रकअप का दर्द,
बेवफाई, जैसे हालात से
व्यक्ति जल्द टूट जाता है
और कामयाबी बहुत दूर चली जाती है.

इन चक्करों में लोग
अच्छाखासा कैरियर भी
बरबाद कर लेते हैं.

दर्द को पीछे छोड़ कर
मजबूती के साथ
आगे बढ़ना जिंदगी है.
इतने मजबूत बनें
कभी किसी से कोई अपेक्षा न रखें.

जो आप की केयर करते हैं
वे आप की भावनाएं समझेंगे
और जो आप की परवाह ही नहीं करते
उनके लिए दुखी हो कर
अपने मन को कमजोर क्यों बनाएं.

समस्याओं में उलझे नहीं :
मुसीबत के समय अकसर व्यक्ति
दुखतकलीफ की बातें
बारबार सोचने लगता है.
ऐसे नकारात्मक विचारों का
दोहराव जितना ज्यादा होता है,
क्रिएटिविटी उतनी ही कम होती जाती है.

मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक,
24 घंटे में एक सामान्य युवा के मन में
60 हजार से ज्यादा विचार चलते हैं.
इस के विपरीत
हर वक्त दिमाग परेशान रखने के बजाय
एक निश्चित वक्त निकालें
जब आप अपनी समस्याओं पर विचार करें
और
सिर्फ विचार ही न करें,
हल निकालने का प्रयास भी करें,
ताकि बाकी समय
मन लगा कर काम कर सकें.

परिवर्तन ही जीवन है :
जिंदगी में ऐसा कुछ भी नहीं
जो हमेशा के लिए
आप की जिंदगी में रहे.
यदि आप आज खुश हैं तो हो सकता है
कल परेशानी हावी हो जाए.
आज दर्द में हैं तो हो सकता है
कल दिल को दिलासा देने वाला कोई मिल जाए.

सफलता से बेहद आह्लादित
और असफलता से निराश हो कर न बैठें.
वह करते रहें
जो करना आप को अच्छा लगता है.

**
स्वयं पर यह विश्वास रखें
आप परिस्थितियों को बदल सकते हैं.
मुसीबतों का सामना कर सकते हैं.
आप के अंदर काबिलीयत है
आप सफल हो आप की सोच
ऐसी रही तो
कभी आप परेशानियों से हार नहीं मानेंगे.

यह मत सोचें
आप का कठिनाइयों में बीता
तो भविष्य में भी हालात बुरे ही रहेंगे,
मंजिल पर सदैव अपनी नजर रखें,
भले ही परिस्थितियां कैसी भी हों.

Photo

Post has attachment

Post has attachment

YADGAR LAMHO KI ANUBHUTI JISE PUNAH PANA KISI KASARAT SE KAM NAHI. OUR SAMAY BIT JAME KE BAD SIRF YADEN.LEKIN JIVAN KE PATH PAR YADEN KISI PRAKASH SE KAM BHI NAHI.
Wait while more posts are being loaded