Profile cover photo
Profile photo
Kaushlendra Prapanna
139 followers
139 followers
About
Posts

Post has attachment
Thins might be share some lights for those who are in the trap of Marks in 12th class.
Add a comment...

Post has attachment
Talk about the Marks, goal and the real conflict
Add a comment...

Post has attachment
शिक्षा पर नहीं लिखूंगा पर लिखने से बच नहीं पाता
कौशलेंद्र प्रपन्न रोज़ दिन मन कड़ा करता हूं। अपने आप से वायदा करता हूं कि आज शिक्षा और शिक्षक पर बिल्कुल ही नहीं लिखूंगा। मगर रोज़ ही ऐसी कुछ घटनाएं घट जाती हैं जिन्हें नज़रअंदाज़ करने का मतलब है कहीं न कहीं हम अपनी जिम्मदारी से दूर भाग रहे हैं। फर्ज़ कीजिए हम श...
Add a comment...

Post has attachment
पिछली यात्रा की कुछ बातें
कौशलेंद्र प्रपन्न पिछले दिनों कुछ शिक्षण-संस्थानों और बच्चों से बातचीत करने का अवसर मिला। पहला देहरादून और दूसरा सेंटर फोर कल्चर एवं रिसोर्स प्रशिक्षण केंद्र दिल्ली। दोनां ही जगहां के तज़र्बे अपने आप में कई स्तर पर शिक्षा और प्रशिक्षण की पद्धति को खोलने और स...
Add a comment...

Post has attachment
जीवन एक कहानी ..
जीवन एक कहानी सी है. जब जीवन कहानी है तो कई सारे पात्र और घटनाएं भी होती हैं.कुछ समय के साथ धूमिल हो जाती हैं तो कुछ एहसास हमेशा साथ रहा करती हैं. मंसूरी कई बार आना हुवा.लगातार बदलते मसूरी को देखा. बाज़ार और चमकदार ही गए. लोग पर वही हैं. कई बार जीवन बाज़ार सा...
Add a comment...

Post has attachment
गुड और योजनाबद्ध मैनेजमेंट....
 जीवन और प्रोजेक्ट वही सफल होते हैं जिसकी प्लानिंग और अवलोकन लगातार हो.मैनेजमेंट एक्सपर्ट मानते हैं प्रोग्राम वही फेल या सफल होते हैं जिसकी प्लानिंग में रिस्क का अनुमान लगा लिया जाए और समाधान की योजना और पथ बना ली जाती है. भारत प्रोजेक्ट इसीलिए फेल हो जाती ...
Add a comment...

Post has attachment
पेपर लीक या व्यवस्था में छेद
कौशलेंद्र प्रपन्न साल भर तैयार में लगे रहे। कहां कहां नहीं कोचिंग में समय लगाया। कितनां लोगों की नसीहतें सुनीं। घर में टीवी बंध। बाहर खाना बंद। घूमना फिरना बंद। लोगों का घर में आने जाने पर कर्फ्यू। खुद कितने दिन हो गए कहीं आना जाना सब बंद हो चुका है। बच्चों...
Add a comment...

Post has attachment
बच्चों के सपने उनके हैं तो संघर्ष भी...
कौशलेंद्र प्रपन्न बच्चे सिर्फ परीक्षा के भय से भयभीत नहीं हैं बल्कि बच्चां पर अपने और और के सपनों को पूरा करने का भी भार होता है जिसे वे ढोते हैं। ढोने की पूरी कोशिश करते हैं। भला कौन अपने सपनों को पूरा होते नहीं देखना चाहेगा? किसी अच्छा नहीं लगेगा कि उसके ...
Add a comment...

Post has attachment
कविता की मांग
कौशलेंद्र प्रपन्न सामान्यतौर पर कविता और कहानी को क्लास या फिर पाठ्यपुस्तकों तक महदूद कर दिया जाता है। जब कविता को क्लास से निकाल कर जनसामान्य तक ले जाने की कोशिश होती है तब कई प्रकार की चुनौतियों सामने आती हैं। आज देश में कई सारे मंच हैं। कई सारे मंचीय कवि...
Add a comment...

Post has attachment
चलो दोस्तों ! बडोदरा शराफ् फाउंडेशन कौशल विकास केंद्र
कौशलेंद्र प्रपन्न इन दिनों गुजरात के आणंद स्थित इंस्टीट्यूट आफ रूलर मैंनेजमेंट में प्रोग्राम मैंनेजमेंट एंड लीडरशीप प्रोग्राम करने करने का अवसर मिला है। सो आपको भी इस शैक्षिक यात्रा का आनंद दिलाता हूं। यदि आपकी रूचि है तो वास्तव में आपको भी आनंद आने वाला है...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded