Profile cover photo
Profile photo
Divya Shukla
2,417 followers
2,417 followers
About
Divya Shukla's posts

Post has attachment
तुमने कभी देखा है सांभरी को वसंत जीते -?
तुमने कभी देखा है सांभरी को वसंत जीते -? -------------------------- ------------------ एक पहर बीत चला संवाद हो रहा था  परंतु मौन से मौन का --वो कदाचित  मेरे अंतर्मन में झाँकने का प्रयास कर रहा था  सुनो तुमने कभी देखा है सांभरी को वसंत जीते -? घने जंगल में.....

Post has attachment

Post has attachment
नदी मर रही हैं
नदी  मर  रही  हैं ------------------ नदी का चौड़ा पाट सिमट गया बलुहे कगारों के बीच बह रही है सहमी सी कृशकाय नदी दूर दूर तक कोई वृक्ष नहीं असमय हत्या कर दी गई उनकी हत्यारे निर्द्वन्द घूम रहे है नदी दबी कुचली डरी हुई बस बह रही है जी रही है मेरा मन रो रहा है रो...

Post has attachment
लक्ष्मण रेखा

Post has attachment
लक्ष्मण रेखा
लक्ष्मण रेखा -------------------- मै चाह के भी वो लक्ष्मण रेखा नहीं मिटा पाती जो न जाने क्यूँ मैने सिर्फ और सिर्फ तुम्हारे लिए खींच दी थी नहीं नहीं कोई अविश्वास नहीं , भला तुमसे क्या छुपा है  हां कभी खोने का अनजाना सा भय तो कभी तुम्हे भींच लेने की चाह कितना...

Post has attachment
कुछ तुम करना कुछ मै !!
कुछ तुम करना कुछ मै -------------------------- कल अलसुबह आना मै मुट्ठी भर सपने लाऊंगी तुम उन्हें कांच सा तोड़ देना  बचे खुचे विश्वास को रेत में बिखेर देना आंचल में भरी चांदनी पर रात उड़ेल देना मै रात को सूरज में लपेट दूंगी तुम दिन को सियाह कर देना मै नीम की...

Post has attachment

Post has attachment
उफ़ -- अब तो हद्द हो गई
उफ़ -- अब तो हद्द हो गई ----------------------------- -सुनो --सुन रहे हो ना मेरी जिंदगी बिस्तर से गीले तौलिये उठाते / तो कभी स्लीपर्स का दूसरा जोड़ा खोजते गुजरती जा रही है  बाथरूम में टूथपेस्ट का ढक्कन खुला / मोइश्च्राइज़र की बोटल लुढकी पर हाँ कोलोन और परफ्यूम...

Post has attachment

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded