Profile cover photo
Profile photo
Anil Janvijay
1,184 followers
1,184 followers
About
Anil's posts

Post has attachment
लेफ़ तलस्तोय की उपन्यासिका ’हाजी मुरात’ का चौथा भाग पढ़ें। इसका अनुवाद अँग्रेज़ी से किया है -- रूपसिंह चन्देल ने।

Post has attachment
लेफ़ तलस्तोय की उपन्यासिका ’हाजी मुरात’ का तीसरा भाग पढ़िए। इसका अनुवाद रूपसिंह चन्देल ने अँग्रेज़ी से किया है।

Post has attachment
Anil Janvijay commented on a post on Blogger.
शुक्रिया

Post has attachment
Anil Janvijay commented on a post on Blogger.
बेहद अच्छी टिप्पणी।

Post has attachment
Anil Janvijay commented on a post on Blogger.
विनय शुक्ल जी का यह काम प्रशंसा के काबिल है। अनुवाद करना किसी भी चीज़ को फिर से रचने के बराबर ही है।  हम उनके आभारी हैं कि उन्होंने लु-शुन की एक कहानी हमारे सामने पेश की। अगर शुक्ला जी इजाज़त दें तो मैं उनके इस अनुवाद में कुछ सुधार करके उन्हें भेज सकता हूँ।

Post has attachment
Anil Janvijay commented on a post on Blogger.
गगन गिल पर कीचड़ उछालने वाला मेरे द्वारा कहा गया एक भी वाक्य अगर आप बता सकें तो मैं कृतज्ञ रहूँगा। अगर अपने बचपन के दिनों को याद करना और अपनी ग़लतियों को आत्मस्वीकृति के रूप में स्वीकार करना ही कीचड़ उछालना है, तो भी मेरे कथन में कीचड़ कहाँ था, यह बताएँ, कविता जी।
यह सारा काण्ड गीताश्री नाम की कथाकार ने आयोजित किया था और गगन गिल को ग़लत स्क्रीन शाट्स दिखाकर तथा उल्टी-सीधी पट्टी पढ़ाकर मेरे विरुद्ध भड़काया गया था। लेकिन गगन के पत्र में ज़रूर गालियाँ दी गई थीं। मेरी साली से मेरा रिश्ता होने के झूठे आरोप लगाए गए थे। मैंने तो उनका भी कोई उत्तर नहीं दिया। मेरा दोष यह बताया जा रहा है कि मैंने कल्बे कबीर (कृष्ण कल्पित) की बातों का कोई उत्तर नहीं दिया। मानो उन्होंने गगन गिल पर आरोप लगाए थे। तो यह बात भी ग़लत है।  मैंने भारत से रूस रवाना होने से दो-तीन मिनट पहले कल्बे क़बीर की वह पोस्ट देखी थी और उसका यथोचित उत्तर भी दिया था। उसके बाद मैं रूस के लिए रवाना हो गया था। रूस पहुँचकर मैं अपने कुछ कामों में व्यस्त हो गया, जो मैं इसलिए नहीं कर पाया था क्योंकि दस दिन की भारत की यात्रा पर चला गया था। दो दिन बाद जब मैं दोबारा फ़ेसबुक पर आया तो मैं गगन के पत्र और अपने विरुद्ध एक पूरा अभियान चलते देखकर हतप्रभ रह गया था। 

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Anil Janvijay commented on a post on Blogger.
बहुत अच्छी टिप्पणी है। जलेस के सफ़ेद और स्याह कारनामों पर भी खुलकर चर्चा होनी चाहिए। जलेस हमारा संगठन है, इसलिए हमें जलेस की हर सकारात्मक और नकारात्मक गतिविधि, जलेस के नज़रिए पर और जलेस के सदस्यों की हरकतों पर बात करने का पूरा-पूरा हक है। जलेस कि बगुला भगत की भूमिका नहीं अपनानी चाहिए और न ही शुतुरमुर्ग की तरह अपना सिर रेत में छिपाकर हर अप्रिय बात से बचने की कोशिश करनी चाहिए। 
Wait while more posts are being loaded