Profile cover photo
Profile photo
Neeraj Tyagi
176 followers -
I am poet writer at Delhi
I am poet writer at Delhi

176 followers
About
Neeraj Tyagi's interests
View all
Neeraj Tyagi's posts

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
हला हल
पल भर जीवन अर्पित तन मन स्वप्निल बादल निराश दल दल //        अब वही फिर वही पल        पी चुका फिर हला हल        रूह क्या ,तेरी या मेरी        ज़ुदा नहीं ,नहीं विचलित// हो चुके जो अब व्यतीत वही वह बनाते अतीत याद जैसे हो झरोंखे द्रश्य फ़िर वह नए अनोखे //        ...

Post has attachment
"आज की अभिव्यक्ति "(Hindi Poems): दहलीजों के पार बुला लेhttp://ntyag.blogspot.in/2012/02/blog-post_23.html

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
कहाँ गया चाँद !
कहाँ हैं खग कहा हैं मृग बस धुआँ उगलती गाड़ियां बड़े शहरों की जग मग / फूल भँवरे वो पर्वतों की श्रेणी खो गयी कही वो नदियों की कल कल जहाँ सुन्दरी गूँथती थी वेणी / देखो उधर वो आग का गोला जँगलों को निगलता बस  छोटा सा शोला / कट रहे हैं जंगल हो रहे हैं भूस्खलन  वृक्...

Post has attachment

Post has attachment

Post has shared content
Feeling pleasant :)
Wait while more posts are being loaded