Profile cover photo
Profile photo
Kusum Thakur
2,652 followers
2,652 followers
About
Posts

Post has attachment
मोहन प्रेम बिना नही मिलता
मोहन प्रेम बिना नही मिलता चाहे करलो कोटि उपाय मिले न जमुना सरस्वती में मिले न गंग नहाय प्रेम सरोवर में जब डूबे प्रभु का अलख लगाय मोहन प्रेम ......……...................... .......... मिले न परबत में निर्जन में मिले न वन भरमाय प्रेम बाग घूमे तो हरि को घट में ...

Post has attachment
भद्र काली हमर कष्ट जल्दी हरु
भद्र काली हमर कष्ट जल्दी हरु पुत्र हमहु अहाँ के पड़ल छी गरु पाठ पूजा नहि जानि कोना हम करू चित्त चंचल सदा ध्यान कोना धरु  भद्र काली ............................ अम्बे हरदम अहिं के जपब हम बरु  आस माता हमर शीघ्र पूरन करू भद्र काली ............................. ...

Post has attachment
पहचान सको तो पहचान कण-कण में छुपे हैं भगवन
पहचान सको तो पहचान कण-कण में छुपे हैं भगवन  सूरज की रौशनी चँदा की चाँदनी तारों की झिलमिल छाया  पर्वत गुफाएं नदिया औ झरना  सबमे उसी की है माया  सृष्टि को मिला है वरदान कण-कण में झुपे हैं भगवान पहचान सको तो पहचान .......................................... जन्...

Post has attachment
आरती शंकर जी की
"आरती शंकर जी की " आरती करो हर हर की करो नटवर की भोले शंकर की, आरती करो शंकर की  सिर पर शशि का मुकुट सवाँरे, तारों के पायल झनकारे धरती अम्बर डोले तांडव, लीला की नटवर की, आरती करो शंकर की फण का हार पहनने वाले, शम्भो हैं जग के रखवाले सकल चरा चर वो डमरू धर, ऊँ...
आरती शंकर जी की
आरती शंकर जी की
maithil-marriage.blogspot.com

Post has attachment
शिवदानी तू नजा नजा
शिव दानी तू नजा नजा,  मन में तू बस जा हर हर बम बम शब्द सुना,  डिम डिम डमरू बजाबजा  शिव दानी तू नजा नजा ..................... नित्य भोर बेलपत्र चढाऊं, भांग धथुर खोजि लाऊँ जैसे मानो वैसे मनाऊं, हर हर भोले नजा  शिव दानी तू नजा नजा...................... करुणाकर...

Post has attachment
ज्योतिर्लिङ्गानि
सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्री शैले मल्लिकार्जुनम्। उज्जयिन्यां महाकाल मोंकारममलेश्वरम ।। परल्यां बैध्यनाथं च डाकिन्यां भीमशंकरम । सेतुबन्धे तु रामेशं नागेशं दारुकावने ।। वाराणस्यां तु विश्वेशं त्र्यम्बकं गौतमी तटे । हिमालये तु केदारं घुश्मेशं च शिवालये ।। एतानि...

Post has attachment
भगवति गीत (हे जननी अहन जन्म सुफल करु)
हे जननि अहाँ जन्म सुफल कर  हे जननि अहाँ जन्म सुफल करु पूजा करबहु हे अम्बे हे जननि अहाँ जन्म सुफल करु पूजा करबहु हे अम्बे त्रिभुवन तारिणीशत्रु संहारिणी तीन भुवन में हे अम्बे हे जननि अहाँ .................................................. यशोदा नंदन कंस निकंद...

Post has attachment
भगवती गीत
सिंह पर एक कमल राजित  सिंह पर एक कमल राजित ताहि ऊपर भगवती  उदित दिनकर लाल छवि निज रूप सुन्दर छाजाति  सिंह पर एक कमल ....................................... शेख गहि गहि चक्र गहि गहि लोक के माँ पालती  दांत खत खत जिह लह लह शोणित दांत गढ़ावति सिंह पर एक कमल .......

Post has attachment
चलने का बहाना ढूँढ लिया
"चलने का बहाना ढूँढ लिया" चलने की हो ख्वाहिश साथ अगर  चलने का बहाना ढूंढ लिया  यूं रहते थे दिल के पास मगर  तसरीह का बहाना ढूंढ लिया मुड़कर भी जो देखूं मुमकिन नहीं आरज़ू थी जो मुद्दत से ढूंढ लिया तसव्वुर में बैठे थे शिद्दत सही  खलिश को छुपाना ढूंढ लिया  कहने...

Post has attachment
MAITIHLI PANCHANG 2017-18
MAITIHLI PANCHANG 2017-18
MAITIHLI PANCHANG 2017-18
maithil-marriage.blogspot.com
Wait while more posts are being loaded