Profile cover photo
Profile photo
अर्चना चावजी Archana Chaoji (मायरा की नानी)
5,175 followers -
सीखी हुई बात/ चीज कभी बेकार नहीं जाती ... और जो होता है अच्छे के लिए होता है ....
सीखी हुई बात/ चीज कभी बेकार नहीं जाती ... और जो होता है अच्छे के लिए होता है ....

5,175 followers
About
अर्चना चावजी's posts

Post is pinned.
आप भी अपनी माँ को ये सम्मान दें ,अपने नाम के साथ उनका नाम लिखें व " #माँकानाम " हैश टैग करें

मैं अर्चना विमला ,और आप?

#माँकानाम

Post has attachment

Post has attachment
उथल-पुथल मची हुई है मन में
बहुत जरूरी पोस्ट,बहुत उथल-पुथल मची हुई है मन में  - ..बहुत समझ तो नहीं  है मुझे, पर नोटबंदी का विरोध भी बेमानी  लगता है। जिस तरह के हालात आजकल सब तरफ हम देख रहे हैं. उसे देखते हुए हमें वर्तमान  में रहने की आदत बना लेनी चाहिए। .... पैसे वाला सदा ही पैसा बटोर...

Post has attachment
अपने का सपना
वो २५ नवंबर १९८४ का दिन था , और आज थोड़ी देर में २५ नवंबर २०१६ हो जाएगा। .... हैप्पी एनिवर्सरी। ....... . तारीख वही रहती है बस साल बदलते-बदलते बहुत लंबा रास्ता तय कर लिया है अब तक ,करीब ३२ साल। ...... इन बत्तीस सालों में हमारा साथ रहा सिर्फ ९ सालों का। ....औ...

Post has attachment
जानते हैं फिर भी
जानते हैं- कल्पना के घोड़े दौड़ाने को सात समंदर तो क्या सात आसमान भी कम है  जीत तो सिर्फ उसी की होती है जो-  वास्तविकता के धरातल पर उन्हें उतारने का भी  माद्दा रखते हैं । मौसमों की उठा-पटक तो लगी रहनी है सदा दुनिया में  बात उस मौसम की ही होती है जो -  इस दुनि...

Post has attachment
गाँव छोड़ शहर मे
शहर में बैठकर, गांव के हालात पर- तरस खाता हूँ जब फसल लहलहाती है, तो जाकर कटवा लाता हूँ माँ-बाबूजी का क्या है ? रहे ,रहे न रहे, किसी दिन भी निकल पड़े कोरे कागजों पर ही अंगूठा लगवा लाता हूँ जब बनाते हैं
मालिक के बच्चे अपने प्रोजेक्ट उनके स्कूलों में उसी बहाने...

Post has attachment
जीवन से न हार
चाहे आये आंधी -तूफ़ान होते दो पल के मेहमान  जब रात ढली है ,तो दिन का निकलना भी तय है। .. विश्वास की डोर थामे रखती होती वो शक्ती अनजान  उजाले की सिर्फ आस में ही ,अँधेरे से नहीं भय है।...  निडर,और सच्चा ही जग में पाता रहा सदा सम्मान  झूठों और चोरों के मन में ह...

Post has attachment
एक हजार,पांच सौ और चुटकियां
१- जो लोग कल तक खुश थे- अब दुखी हैं, जो लोग कल तक दुखी थे अब खुश हैं । स्टेटस वही -सोच नई! २ नास्तिक लोगों के स्टेटस भी उन्हें(प्रधानमंत्री जी) चमत्कारिक बता रहे हैं। . ३-   :-) What is in your mind ? जुकरबर्ग अब तो न पूछेगा ? हटा दे इसे . ४-   :-) बुखार ...

Post has attachment
लेकिन जिंदगी न मिलेगी दोबारा
हँस ले ,गा ले, जश्न मना ले , थोड़ा प्यार दामन से बिखरा दे , मरना तो जन्म से तय है ,याद रख , मौत के इंतज़ार में तू यारा दुखी रहकर तो हर पल तू मर सकता है, लेकिन जिंदगी न मिलेगी दोबारा। - अर्चना 

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded