Profile

Cover photo
अर्चना चावजी Archana Chaoji (मायरा की नानी)
Lives in इन्दौर, मध्य प्रदेश, भारत
4,635 followers|555,960 views
AboutPostsPhotosYouTubeReviews

Stream

 
शुभदिन
शुभदिन... अब न रूको जल्दी जाओ जाकर खुशियाँ साथ में लाओ दिए है तुमने गहरे घाव कुछ नासूर कौड़ी के भाव उनकों हौले से मलहम लगाना टीस न उभरे ऐसे सहलाना पड़े न किसी को यूं भरमाना जाते- जाते आंसू ले जाना और सुनो अब जब आना ख़ुशियों संग प्यार भी लाना ....... -अर्चना
 ·  Translate
1
 
अमृत घट और ईश्वर की बंदर बाँट
हर कोई यहाँ बस ... तहस -नहस  करना चाहता है  , हर कोई हर किसी से  हर कहीं बस  , बहस करना चाहता है,   कहीं कोई किसी से   बिछड़ा तो  बरबाद करना या   बरबाद होना जानता है, हे ईश्वर ! क्या ये तेरे ही बनाए इन्सान हैं, जिन्होंने  सति से  तेरा विछोह और दक्ष से  तेरा ...
 ·  Translate
1
 
अनुलता राज नायर की लिखी एक कहानी -मिष्टी
मिष्टी एक कहानी अनुलता राज नायर के ब्लॉग - my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सीधा कनेक्शन.... से--
 ·  Translate
2
 
बहुत सही ... लिंक पकड़ी है .... सोशल मीडिया पर एक ऑप्शन और होना चाहिए जिससे  स्टेटस लिखने वाला शेअर न करने देने का लॉक लगा सके ...लेकिन सारी पब्लिक को सूचना मिल जाए बस ...
 ·  Translate
2
 
दर्शनशास्त्र के एक प्रोफ़ेसर कक्षा में आये और उन्होंने छात्रों से कहा कि वे आज जीवन का एक महत्वपूर्ण पाठ पढाने वाले हैं। उन्होंने अपने साथ लाई एक काँच की बडी़ बरनी ...
1
Have her in circles
4,635 people
Yugal Mehra's profile photo
Hoang Nguyen's profile photo
Suman Thakur's profile photo
prachi sharma's profile photo
Pravin pravin's profile photo
mahendra patwa's profile photo
ShivShakti Shukla's profile photo
Ramesh Kumar's profile photo
gabber mewada's profile photo
 
मेरे बनाए पॉडकास्ट ...
 ·  Translate
2
 
आज का दिन मेरी मुठ्ठी में है ,किसने देखा कल ....
आज का दिन मेरी मुठ्ठी में है ,किसने देखा कल ..... समय तू धीरे-धीरे चल ....  सुन रही हूँ ये गीत ...... सोच रही हूँ..मुठ्ठी में से भी तो फ़िसल निकल भागता है दिन ....और ये समय किसकी सुनता है ...सुनी है किसी की इसने .... मैं तो कहती हूँ साथ ही ले चल ...पर नहीं ....
 ·  Translate
3
1
Aradhana Rai's profile photo
 
एक अच्छी पहल...शुभकामनाएँ
 ·  Translate
5
Sedharam Patel's profile photo
 
Good evening 
Add a comment...
 
वीरों तुम्हें नमन
आज गिरिजा दी ने आमंत्रित किया था ... पिछले हफ्ते ही पहली बार मिले ... और आज दूसरी बार, और इस मुलाक़ात मे उनकी आवाज मे सुनने के लालच ने बनवाया ये पॉडकास्ट ... सुनिए और उन्हें पढिए उनके ब्लॉग - ये मेरा जहां पर
 ·  Translate
1
 
मायरा की मीठी सी पुकार
जब मायरा ने  माँ से सीखकर पुकारा -पापा और जब पुकारा -माँ
 ·  Translate
1
 
लिखी जा रही अनवरत प्रवाहमान कहानी का एक टुकड़ा ...
बेसन -भात ... छुट्टी स्पेशल डिश ...तुम्हारी पसंद ..... सिर्फ इसलिए याद आई कि आज बनाया और आज छुट्टी है ...संडे ....संडे की तुम्हारी दिनचर्या याद आ गई ..... सुबह जल्दी उठना और घूमने जाना .... आज स्पेशल इसलिए कि आज बच्चों की छुट्टी रहती थी इसलिए मुझे भी साथ घू...
 ·  Translate
5
1
Dhiren Bhatia's profile photo
People
Have her in circles
4,635 people
Yugal Mehra's profile photo
Hoang Nguyen's profile photo
Suman Thakur's profile photo
prachi sharma's profile photo
Pravin pravin's profile photo
mahendra patwa's profile photo
ShivShakti Shukla's profile photo
Ramesh Kumar's profile photo
gabber mewada's profile photo
Work
Occupation
स्पोर्ट्सटीचर
Basic Information
Gender
Female
Story
Tagline
सीखी हुई बात/ चीज कभी बेकार नहीं जाती ... और जो होता है अच्छे के लिए होता है ....
Introduction

मै, सबसे पहले एक बेटी,फ़िर बहन,फ़िर सहेली,फ़िर पत्नी,फ़िर बहू, फ़िर माँ,फ़िर पिता,फ़िर वार्डन, फ़िर स्पोर्ट्स टीचर और फ़िलहाल "ब्लॊगर" के किरदार को निभाती हुई,"ईश्वर" द्वारा रचित "जीवन" नामक नाटक की एक पात्र -

Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
इन्दौर, मध्य प्रदेश, भारत
बिना किसी लॉग-लपेट के लिखे गए ज्योतिषीय आलेख पढ़ती आई हूँ....जो वैज्ञानिक तथ्यों पर आधारित होते हैं....अंधानुकरण पद्धति से कोसों दूर ....और स्पष्ट.......सरल भाषा में...... एक सुलझी सोच के मालिक सिद्धार्थ जी पिछली और अगली दोनों पीढ़ियों के सामंजस्य को बनाए रखने में सफल है,और इसलिए मैं इनकी कायल हूँ.......
Public - 2 months ago
reviewed 2 months ago
1 review
Map
Map
Map