Profile cover photo
Profile photo
Saavan
36 followers -
Redefining Poetry
Redefining Poetry

36 followers
About
Saavan's posts

Post has attachment
जलते है जिसके लिए, करोड़ों आंखो मे दीये जान कुर्बान हर जनम में ऐसे वतन के लिए

Post has attachment
हर हिंदुस्तानी की इक ख़ास पहचान , ये तिरंगा …. भारत माँ की करता बेनज़ीर शान , ये तिरंगा …. सीमा पर तैनात हर जवान में डाल दे जान , ये तिरंगा …..   ” पंकजोम प्रेम “

Post has attachment
ღღ_अजब ही चीज़ हैं, ये ख्वाहिशें “साहब”, मैं टूट भी जाऊँ, तो बिखरने नहीं देती; . एक तुम हो, कि मुझसे दूर ही रहते हो, और एक ये हैं, कि मरने भी नहीं देतीं !!……‪#‎अक्स .

Post has attachment
मैं तुमको जबसे खुदा मान बैठा हूँ! ज़िन्दगी को दर्द-ए-शुदा मान बैठा हूँ! खोजती हैं महफिलें जमाने की मगर, हर शक्स से खुद को जुदा मान बैठा हूँ! Written By #महादेव

Post has attachment
साँसों की आरजू मचलने दो! रोशनी चाहतों की जलने दो! नज़र में आयी है याद तेरी, सरहदें ख्वाबों की पिघलने दो! Written By मिथिलेश राय ( महादेव )

Post has attachment
हर तरफ तेरा अक्स नज़र आया , मेरे हाकिम मेरे मौला , तू बन जा हम साया ..

Post has attachment
!!!!! SAGAR KI ROOH SE !!!!! katra katra behta raha khoon mera jinke liye zindagi bhar aakhari katra nikalte hi unho ne bas jalane ki rasam adaa ki @@ SAGAR @@ 23/1/16 :: 9:19 PM

Post has attachment
!!!! SAGAR KI ROOH SE !!!! bari se bari deh bhi ik tasveer ban kar reh jaati hai saari zindagi ka safar mehaz baatain ban kar rah jaati hai haste thay jo log uss shaksh par unki aankhen bhi chalakne ko mazboor ho jaati hai kitna bhi maayus aur dukhi raha…

Post has attachment
!!!! SAGAR KI KALAM SE !!!! chandni raat ke jawar bhate ke tarah tha tumhara payar bas agle hi din saagar ki lehro ke jaise shant ho gaya @@ SAGAR @@ 22:1/16 ::3:23 PM..

Post has attachment
!!!!! SAGAR KE DIL SE !!!!! gairon ne tau gair-iradtan kasht diya apno ne tau pure iraade se dil tor diya gairon ki chaut se tau dard bhi na hua apno ki chaut ka dard bardash na hua gairon ko gilla karne ka koi fayada nahi apno ko humne jaan bhuz gila…
Wait while more posts are being loaded