Profile cover photo
Profile photo
MithiMedia
43 followers
43 followers
About
Posts

Post has attachment
पोथी समीक्षा: नारायण झाक 'अविरल-अविराम
अपन पहिल कविता संग्रह 'प्रतिवादी हम' (2013) केर बाद काव्य लेखन कें अबाध रखैत युवा रचनाकार नारायण झाक दोसर कविता संग्रह (2017) मे प्रकाशित भेल 'अविरल-अविराम'. एहि संग्रह मे कुल सत्तहत्तरि गोट कविता अछि. प्रायः समस्त कविता प्रवाहमय, सहज ओ सरल प्रकृतिक अछि. सा...
Add a comment...

Post has attachment
'हंसोथि रहल छी, हंसोथू'
हे यौ श्रीमान,  जे जे लिखै छै से लिख' ने दियौ! कवि, लेखक कोनो बड़द नहि ने छै जे जिमहर हाँकि देतै, हँका जेतै. बेसी सँ बेसी आइ धरि जे मैथिली मे होइत रहल अछि सएह अपने क' सकैत छी, अपन लगुआ-भगुआ कें सरकारी गोष्ठी मे बजबैत छी. सभटा सम्मान, पुरस्कार गोल-गोलैसी सँ ह...
Add a comment...

Post has attachment
गायिका अंजना इस्सर कें केंद्रीय मंत्री द्वारा सम्मान
मैथिली गायन क्षेत्र में कोलकाता प्रवासी मध्य अंजना इस्सर कोनो परिचय केर मोहताज नै छथि. बीतल कुछु साल में ई देश-विदेशक कतिपय मंच सहित टीवी पर सेहो अपन प्रतिभाक परिचय देलनि अछि. लगातार अभ्यास सं हिनक गायिकी जेना आगू बढ़ल अछि, ओहि सं संगीत प्रेमी लोकनि कें बेस ...
Add a comment...

Post has attachment
दूआखर: मिथिमीडिया कएलक सातम साल मे प्रवेश
आइ छओ साल पूरा भ’ गेल अछि मिथिमीडिया कें स्थापित भेला. ई बेस संतोषप्रद अछि जे हमरा लोकनि एहि माध्यम कें एतेक साल ने मात्र जिया लेने छी अपितु आगू सेहो बढ़ल जा रहल छी. कलकत्ता सन महानगर मे, जतय 10 लाख सं बेसी मैथिल प्रवासी छथि, मिथिमीडिया सन पोर्टल आजुक बेगरता...
Add a comment...

Post has attachment
आरसी प्रसाद सिंह केर कविता 'जन्मभूमि - जननी'
जन्मभूमि जननी ! पृथ्वी शिर मौर मुकुट  चन्दन संतरिणी  जन्मभूमि जननी। वन-वन मे मृगशावक नभ मे रवि-शशि दीपक  हिमगिरि सं सागर तक  विपुलायत धरणी  जन्मभूमि जननी। दिक्-दिक् मे इंद्रजाल  नवरसमय आलवाल  पुष्पित अंचल रसाल  नन्दन वन सरणी  जन्मभूमि जननी। शक्ति, ओज, प्राण...
Add a comment...

Post has attachment
मिथिला कें दू देश मे बांटि देलक सुगौली संधि
1814 में हुई दूसरी लड़ाई में गोरखा दरबार की हार हुई, इसके बाद 2 जनवरी 1815 को बिहार के सुगौली नामक स्थान पर एक संधि हुई. जिसे सुगौली संधि कहते हैं. इस संधि के अनुसार नेपाल की जो आज की सीमाएं है, वे तय हुईं.
Add a comment...

Post has attachment
की अछि ऋषि अष्टावक्र केर मिथिला कनेक्शन!
ऋषि अष्टावक्र राजा जनकक गुरु छलाह. 
Add a comment...

Post has attachment
मैथिलीक पहिल 'पोएट्री बैंड' #पदावली
कल्लोलिनी कलकत्ता संस्कृति कें बेस जोगा क' रखने अछि. लाखों मैथिली भाषी एहि शहर मे ने मात्र रोजी-रोजगार लेल आश्रय लेने छथि अपितु आब स्थायी निवासी सेहो बनल जा रहल छथि. ठाम-ठाम मिथिला-मैथिली कॉलोनी भेटब एकरे प्रमाण अछि. ई शहर मिथिला-मैथिली कें दशा-दिशा देइत रह...
Add a comment...

Post has attachment
मैथिली इवेंटक सहज सहयोगी 'मिथिइवेंट्स'
मैथिली भाखाक प्रचार-प्रसारक उद्देश्य सं शुरू भेल मिथिमीडिया अनेको मैथिली इवेंटक सहयोगी रहल अछि. एकर संगहि मिथिमीडिया द्वारा समय-समय पर संगोष्ठी आयोजित कएल जाइत अछि. मिथिमीडिया द्वारा समर्थित वा आयोजित कार्यक्रम #MithiEvents कहबैत अछि. कार्यक्रम सहयोगी भेने ...
Add a comment...

Post has attachment
मैथिली लेखक-प्रकाशक कें मदति करैछ 'मिथिबुक्स'
मैथिली पोथी केर प्रचार-प्रसार ओ जनसुलभता कें धियान मे रखैत मिथिमीडिया अनलक अछि 'मिथिबुक्स'. ई ‘बुक प्रमोशन’ सर्विस अछि, जाहि अंतर्गत पोथीक न्यूज कवर, लेखक साक्षात्कार, समीक्षा सहित हजारो मैथिल धरि इमेल/सोशल मीडिया माध्यम सं प्रचार कएल जाइत अछि. पोथी लेखन, प...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded