Profile cover photo
Profile photo
Mastermind Kailash
236 followers -
कौन हे आपका असली हीरो.....
कौन हे आपका असली हीरो.....

236 followers
About
Posts

Post has shared content

Post has attachment

Post has attachment
रसोई के मसाले जो अपने ग्रह अनुकूल कर सकते है
अगर आप के पास रत्न पहनने के पैसे नहीं है तो चिंतित होने की कोई जरुरत नहीं रसोई के  मसाले जो आप प्रतिदिन भोजन बनाने के समय प्रयोग करते है उनसे अपने ग्रह अनुकूल कर सकते है यह  कौन कौन  से है और ये किस प्रकार ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते है व इनके पीछे छिपी वैज...
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
होलाष्टक क्या है, 23 फरवरी से 1 मार्च 2018 तक नहीं होंगे 16 शुभ कार्य
होलाष्टक क्या है, 23 फरवरी से 1 मार्च 2018 तक नहीं होंगे 16 शुभ कार्य वर्ष 2018 में होलाष्टक 23 फरवरी को लगेगा और यह 1 मार्च 2018 तक रहेगा। यह 8 दिनों का होता है और इस दौरान किसी भी तरह के शुभ और मांगलिक कार्य वर्जित होते हैं। भारतीय मुहूर्त विज्ञान व ज्योत...
Add a comment...

Post has attachment
लिवर मानव शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है।
लिवर मानव शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है।  अगर आप कहते हैं कि लिवर पर पूरा मानव शरीर टिका है तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। जिन लोगों का पाचन तंत्र खराब होता है उसमें करीब 80 फीसद रोल लिवर का होता है। लिवर के मुख्य कार्यों में भोजन चयापचय, ऊर्जा भंडारण,...
Add a comment...

Post has attachment
अब इस देश के लिए ये जानना जरूरी है कि
युवाओं के मन मे एक प्रश्न का बना हुआ था "कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा ?" अब इसका उत्तर मिल गया है और सिनेमा चला भी अच्छा है जो चलना ही चाहिऐ था । अब इस देश के लिए ये जानना जरूरी है कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को क्यूँ और किसने मारा, श्री लाल बहादुर शास्त्...
Add a comment...

Post has attachment
जूते चप्पल 👠👞👟से कैसे आता है दुर्भाग्य
हम जब भी नए जूते चप्पल खरीद कर उनको पहनते हे तो एक नई ऊर्जा का अहसास करते हे लेकिन हमे अमावस्या मंगलवार और शनिवार और ग्रहण के दिन जूते चप्पल नही खरीदने चाहिए।यदि इन दिनों हम जूते चप्पल खरीदते हे तो अचानक नुकसान की सम्भावना बन जाती हे।हमे जूते चप्पल पहन कर त...
Add a comment...

Post has attachment
महाशिवरात्रि का पर्व इस साल 13 फरवरी और 14 फरवरी को
प्रतिवर्ष फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि के व्रत
का पालन किया जाता है, जिसे शिव पार्वती के विवाह का अवसर माना जाता है –
अर्थात मंगल के साथ शक्ति का मिलन | कुछ पौराणिक मान्यताएँ इस प्रकार की भी
हैं कि इसी दिन महादेव के विशालकाय स्वर...
Add a comment...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded