Profile cover photo
Profile photo
India Astro Guru
30 followers
30 followers
About
Posts

Post has attachment
प्रेम विवाह योग>>>
Love Solution Astrology Consultancy
प्रेम विवाह योग – आज के आधुनिक समाज में प्रेम विवाह एक बहुत ही सामान्य सी बात हो गई है। आज का भारतीय युवा पुरानी रूढ़ियों और आडम्बरों से मुक्ति चाहता है। जीवन के दूसरे पहलुओं की ही तरह वह अपने जीवन साथी के चुनाव में भी स्वतंत्रता चाहता है। उनकी यह स्वतंत्र सोच प्रेम विवाह के रूप में सामने आती है। कदाचित यह समय की माँग भी है। आज के युवा अपने जीवन साथी के चुनाव में स्वतंत्रता तो अवश्य चाहते हैं, परंतु इसके साथ ही वे अपनी संस्कृति का दामन भी थामे हुए हैं। यानि वे चाहते हैं कि उनकी पसंद में उनके परिवार की भी सहमति शामिल हो।
वैसे तो आज–कल प्रेम विवाह को परिवारों की सहमति मिल ही जाती है परंतु कभी–कभी ऐसे जोड़ों को परिवार और समाज के विरोध का सामना भी करना पड़ता है। आइए, एक दृष्टि डालते हैं कुंडली में बने ऐसे योग पर, जिनके कारण प्रेम विवाह की प्रबल संभावनाएँ बनती है–
कुंड़ली में बने कुछ ऐसे योग जिनमें परिवार प्रेम विवाह को सहमति दे देता है–
यदि कुंडली में शुक्र नवम स्थान में तो प्रेम विवाह की संभावना होती है।
यदि लग्न में लग्नेश के साथ चंद्रमा भी हो।
पाप ग्रहों का प्रभाव एकादश स्थान पर न पड़ रहा हो।
शनि और केतु सातवें स्थान पर विद्यमान हो।
यदि राहु लग्न में लक्षित हो।
यदि सप्तमेश और शुक्र, शनि या राहु के द्वारा प्रभावित हो।
सप्तमेश या भाग्येश का संबंध लग्नेश के पंचमेश से हो।
चंद्रमा के पाँचवें स्थान या लग्न में शुक्र हो तो भी प्रेम विवाह का योग बनता है।
#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology

Post has attachment
पति-पत्नी में कलह निवारण हेतु उपाय>>
Indiaastroguru.net
जीवन मे हर एक रिश्ते के अपने अलग मायने होते है। अब वो रिश्ता चाहे भाई-बहन का हो, माँ-पिता के साथ हो, सास-बहू का हो- या कैसा भी क्यूँ न हो, हर रिश्ता खास होता है। रोजमरा की जरूरत को पूरा करने के अलावा इंसान के जीवन मे सबसे अहम बात जो होती है, वो है रिश्तों को संभाल के रखना, उनमे दरार न आने देना। आखिरकार एक परिवार ही तो होता है, जो भावनात्मक तौर पर हमे संभाले रखता है। इनही बीच मे अगर हम बात करे पति-पत्नी के रिश्तों की तो कहना गलत नहीं होगा की दोनों का जीवन किस तरह आपस मे जुड़ा होता है। जीवन भर एक दूसरे का साथ निभाने के वचन से जब दो लोग आपस मे जुडते है, तो उनकी आंखों मे सिर्फ एक सुनहेरी ज़िंदगी के सपने चमक रहे होते है। पर वही दूसरी और ये भी देखा गया है कि किस तरह कई बार ये रिश्ता गंभीर समस्यों मे घिर जाता है। पति-पत्नी के बीच नोक-झोक व विचारों का आपस मे न मिलना जीवन को कष्टों से भर देता है।
कई बार देखा गया है की पति-पत्नी झगड़ों को सुलझाने की पूरी कोशिश भी करते है। रिश्ता न टूटे इसके लिए घरवालों से राय-विचार लेने के अलावा कई बार को experts के पास भी जाते है। इसका मतलब साफ होता है की वो अपने रिश्ते की अहमियत को समझते है। अब ऐसे मे हम आपको एक ऐसा मंत्र बताते है जिसके जाप से यकीनन आपके रिश्ते मे शांति आएगी। “ओम् नम: संभवाय च मयो भवाय च नम: शंकराय च मयस्कराय च नम: शिवाय च शिवतराय च।।“ – इस मंत्र का जाप करने से पहले जरूरी है की आप सूर्योदय से पहले स्नान करके, पास के मंदिर मे जाकर शिवलिंग पर जल चड़ाते हुए मंत्र जाप करे। “हं हनुमंते नम:”- ये एक और मंत्र है, जिसका जाप आप कर सकते है। इस उपाय के अंतर्गत आप एक पत्र के ऊपर लाल श्याही से पति का नाम लिख दे, फिर 21 बार बताए मंत्र का जाप करके उस पत्र को घर मे किसी कोने रख दे। इसके बाद आप पति के साथ रिश्ते को सुधरते हुए देख सकेंगी। अगर आपको ऊपर बताए उपाय मे से कुछ उचित लगे तो अवश्य प्रयास कर सकते है और अगर कुछ समझ न आए तो उम्मीद करते है कि आप पति-पत्नी बुधवार के दिन 2 घंटे का मौन-व्रत रखकर वाक् युद्ध को आराम दे सकते है। ये कोशिश गृह शांति की दिशा मे एक अच्छी कोशिश भी रहेगी।
मंत्र के अलावा भी अन्य उपाय है जैसे कि शुक्रवार के दिन पति अपनी पत्नी को एक सुन्दर व सुगन्ध वाला फूल दे, साथ ही चाँदी की कटोरी चम्मच से शक्कर-दही उसे खिलाऐं। ऐसा करने से पति-पत्नी के बीच होने वाले अनबन का निवारण होगा। पति-पत्नी का रिश्ता उनके घर-परिवार की स्थिति को भी कही—कही बयान करता है। ऐसे मे अगर आप भी कही गृह-कलेश की समस्या से गुज़र रहे है, तो उम्मीद है
#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology

Post has attachment
Child problem solution ; Baby is a god gift for any of coupe because Baby is a source of happiness for a married couple because when a baby comes in their life they bring lot’s of happiness and joy in the whole family and make couple’s love and bonding stronger.

#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology

Post has attachment
Marriage is one of the most important parts of human beings life; from where they start their new life. New responsibilities, new craze, a new partner, new relation and many more things are added in individual’s life

#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology

Post has attachment
Control Lover By Eating Paan / पान खिलाकर प्यार को अपने वश में करे >>>
Indiaastroguru.net
कोई भी पान खिलाकर अपने प्रेमी/प्रेमिका को अपने वश/काबू में कर सकता है| ज्योतिषी प्रयोग और टोटकों में पान का विशेष महत्व है| कई मंदिरों और पूजा स्थल पर आपने लोगों को पान का प्रयोग करते देखा होगा| आप अपने कार्यों की सिद्धि के लिए पान वशीकरण मंत्र का सहारा ले सकते हैं| ये मंत्र हर मनोकामना की पूर्ति करने में आपकी मदद करते हैं| अगर आप किसी स्त्री के प्यार में पड़ गए हैं लेकिन आपको सफलता नही मिल रही है तो आपको पान वशीकरण मंत्र से निश्चित ही लाभ प्राप्त होगा| ये पान वशीकरण मंत्र इस प्रकार है
हरे पान हरियाले पान, चिकनी सुपारी, स्वेत खेर,
दाहिने कर चूना, मोहि लिय पान, हाथ में दे, हाथ रस ले,
ये पेट दे, पेट रस ले, श्री नरसिंह वीर थारी शक्ति मेरी भक्ति
फुरो मंत्र ईश्वर महादेव कि वाचा!
किसी स्त्री को अपने प्रेम के वश में करने के लिए कोई खाने की वस्तु लेकर इस मंत्र से इक्कीस बार अभिमंत्रित करें और उस स्त्री को खिला दें| इस पान वशीकरण मंत्र के प्रयोग से वह स्त्री आपकी ओर खींची चली आएगी| अगर आपका प्रेम विशुद्ध है तो इस पान वशीकरण मंत्र से आपको बहुत ही आश्चर्यजनक और तुरंत लाभ होगा| किसी स्त्री को वश में करने के लिए आप एक अन्य पान वशीकरण मंत्र से भी प्रयोग कर सकते हैं| इसके लिए आप पांच पान के साबुत पत्ते ले लें, अब इन पत्तों को जमीन पर रख दें और उनके ऊपर तुलसी का एक-एक पत्ता भी रख दें| इन पत्तों के ऊपर एक दिया जला दें और सामने बैठकर इस पान वशीकरण मंत्र का जाप 1188 बार करें| ये मंत्र इस प्रकार है – “ओम नमो देवी त्रिपुरा, वशं वशं कुरु कुरु स्वाहा!”
#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology

Post has attachment
Pati Patni me Anban Ladai Takrar Kalesh Dur Karne ke Tantrik Upay Totke – पति पत्नी के बीच अनबन लड़ाई झगड़ा तनाव कलह निवारण हेतु तांत्रिक उपाय टोटके>>>
Indiaastroguru.net
पति-पत्नी में कलह निवारण हेतु ज्योतिष उपाय:-
सबसे पहला उपाय घर की अशांति दूर करने के लिए है और इसका सीधा असर आपके रिश्ते पर पड़ेगा। बहुत लोग कहते हैं की घर की शांति बनाना अपने-आप में एक कला है पर अगर आप के घर में यह कला वास नहीं करती तो इसके लिए सबसे अच्छा तरीक़ा है की आप नित्य होते क्लेश के लिए कोई कठोर निवारण ढूंढे। सबसे अच्छा तरीक़ा है की आप सवेरे नहा लें और साफ़ कपडे पहनकर दुर्गा माता की प्रतिमा के सामने जाएं, वहां धूप दीप जला दें और और माता पे लाल पुष्प चढ़ा दें। अब इस कार्य को नित्य करने के पश्चात् एक माला इस बताये हुए मंत्र की करें और अधिकांश लाभ प्राप्त होता पाएं।
“ धाम धिम धूम धुर्जटे पत्नी वां वीं वुम वागधिश्वरी,
क्राम क्रीम कृम कालिका देवि, शाम शिम शुम शुभम कुरु “
पति पत्नी के बीच झगड़े मुक्ति टोटके:-
पति और पत्नी के बीच में झगड़े होना आम बात है पर पत्नी का पति पर हावी हो जाना और हुकुम चलाने की कोशिश करना एक बुरा चिन्ह है, लोग इससे दोनों को बुरी नज़र से देखते हैं। तो फिर क्या तरीक़ा है पत्नी को अपने वश में रखने का? किस प्रकार के कार्य से आपस की टकरार को दूर किया जा सकता है? इसका जवाब आपको हम देंने जा रहे हैं – कुछ मामूली टोन-टोटके करने से आप अपने घर में एक सुखद और समृद्धि भरा जीवन प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस हमारे बताये हुए कार्य को संपन्न करना होगा।
जब पूर्व फाल्गुनी नक्षत्र हो तो तब अनार के फल वाले पेड़ की एक टहनी तोड़ लाएं तथा धुप देकर उसे अपनी दाहिनी भुजा पर बाँध लें सो सब लोग आपसे वशीभूत होंगे। ध्यान रहे की यह कार्य केवल पूर्व फाल्गुन नक्षत्र वाले दिन या रात्रि को ही करें। काकजंघा, मेरीगोल्ड और केसर को चूरन बना लें और इसे स्त्री के मत्थे और पाँव के नीचे लगा देने से वह आपके आपे में आ जाती है।
#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology

Post has attachment

Post has attachment
दुश्मन से छुटकारा पाने के उपाय>>>
Indiaastroguru.net
शत्रु नाश टोटका, दुश्मन से बचने के उपाय, शत्रु को परेशान/पीडित करने के टोटके- इस सृष्टि का निर्माण शुभ-अशुभ, अच्छा-बुरा, प्रेम-घृणा जैसे दो विपरीत भावों के योग से हुआ है| इन्हें नियंत्रित कर सृष्टि व्यवस्था में संतुलन स्थापित करने के लिए भी सृष्टि के अपने नियम हैं| समस्या तब आती है जब इंसान व्यक्तिगत स्वार्थ, क्रूर स्वभाव अथवा अकारण किसी को परेशान करने के लिए दूसरों की ज़िंदगी नर्क बना देता है| ऐसा कर के संभवतः उन्हें असीम आनंद की अनुभूति होती है, क्योंकि दूसरों को दुख देना उनके स्वभाव में होता है|
दुश्मन से बचने के उपाय
सबसे पहले नजर उतारने का उपाय करना श्रेयस्कर है, इसके लिए प्याज का सूखा हुआ छिलका, नमक राई और लहसून लेकर जला दें तथा उसके धुएं को शत्रु पीड़ित के सिर पर सात बार घुमा दें|

Post has attachment
https://www.facebook.com/indiaastrogurus/photos/a.579568168810923/1616789688422094/?type=3&परीक्षा में सफलता के उपाय>>>
Indiaastroguru.net
सरस्वती बीज मंत्र
सफेद परिधान में वीणा बजाती हुई, मंद-मंद मुस्कान के साथ हंस पर विराजमान मां सरस्वती जीवन में अज्ञानता को दूर कर ज्ञान-विज्ञान का प्रकाश फैलाती हैं। व्यक्ति का जीवन व्यक्तिगत, पारिवारिक और सामाजिक स्तर पर अलौकिक, असाधारण एवं सार्थक बन जाता है। हिंदू शास्त्रों में देवी सरस्वती को विद्यादायनी कहा गया है और उनकी आराधना के बीज मंत्र के अतिरिक्त कई अन्य मंत्र भी बताए गए हैं। मां सरस्वती का बीज मंत्र ‘ऐं’ है।
इसे वाग्बीज भी कहा गया है। किसी भी बौद्धिक कार्यों में सफलता की कमान इसी बीज मंत्र के उपयोग से पूर्ण हो पाती है। अर्थात विद्या, ज्ञान और वाक् यानि वाणि सिद्धि की के यह बहुत ही उपयोगी है। इसका जाप सफेद आसन पर बैठ पूरब की ओर मुखकर किया जाता है। जिस तरह से बीज पौधे के उत्पत्ति के लिए आवश्यक है, उसी प्रकार इस बीज मंत्र से ज्ञान के भंडार रूपी पौधे की उत्पत्ति होती है। यह दैवीय ऊर्जा प्रदान करता है और इसकी साधना करने वाला व्यक्ति इसके प्रभाव में आकर सकारात्मक कार्य करने में हर तरह से सक्षम बन जाता है।
अन्य मंत्रः देवी सरस्वती की आराधना-उपासना के लिए दूसरे कुछ मंत्र इस प्रकार हैं, जिनमें गायत्री मंत्र के जाप से देवी अति प्रसन्न होती हैं।
मंत्रः ऊँ वाग्दैवयै च विद्य्हे कामराजाय धीमहि, तन्नो देवी प्रचोदयात्।
इसके जाप करने का सिलसिला जैसे-जैसे आगे बढ़ता जाता है, वैसे-वैसे लाभ के मार्ग प्रशस्त होने लगता है। पहले दिन पांच माला (एक माला में 108 बार) का जाप करने से मां सरस्वती प्रसन्न होकर अगर मन-मस्तिष्क में ज्ञान-विज्ञान का संचार कर देती है, तो इस जाप को सुनिश्चित नियमबद्धता के साथ करने से त्राटक गुण अर्थात एकाग्रता आ जाती है। कोई विद्यार्थी अगर प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करे तो उसकी स्मरण शक्ति में गजब की बढ़ोत्तरी हो जाएगी, और उसे कोई भी पाठ असानी से समझ में आ जाएगा या कंठस्थ हो जाएगा। इसी के साथ नीचे दिए गए मंत्रों का जाप भी लाभकारी होता है।
मंत्र:
ऐं ह्रीं श्रीं वाग्वादनी सरस्वती देवी मम जिव्हायां,
सर्व विद्यां देही दापय-दापय स्वाहा!
#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
परीक्षा में सफलता के उपाय>>>
Indiaastroguru.net
सरस्वती बीज मंत्र
सफेद परिधान में वीणा बजाती हुई, मंद-मंद मुस्कान के साथ हंस पर विराजमान मां सरस्वती जीवन में अज्ञानता को दूर कर ज्ञान-विज्ञान का प्रकाश फैलाती हैं। व्यक्ति का जीवन व्यक्तिगत, पारिवारिक और सामाजिक स्तर पर अलौकिक, असाधारण एवं सार्थक बन जाता है। हिंदू शास्त्रों में देवी सरस्वती को विद्यादायनी कहा गया है और उनकी आराधना के बीज मंत्र के अतिरिक्त कई अन्य मंत्र भी बताए गए हैं। मां सरस्वती का बीज मंत्र ‘ऐं’ है।
इसे वाग्बीज भी कहा गया है। किसी भी बौद्धिक कार्यों में सफलता की कमान इसी बीज मंत्र के उपयोग से पूर्ण हो पाती है। अर्थात विद्या, ज्ञान और वाक् यानि वाणि सिद्धि की के यह बहुत ही उपयोगी है। इसका जाप सफेद आसन पर बैठ पूरब की ओर मुखकर किया जाता है। जिस तरह से बीज पौधे के उत्पत्ति के लिए आवश्यक है, उसी प्रकार इस बीज मंत्र से ज्ञान के भंडार रूपी पौधे की उत्पत्ति होती है। यह दैवीय ऊर्जा प्रदान करता है और इसकी साधना करने वाला व्यक्ति इसके प्रभाव में आकर सकारात्मक कार्य करने में हर तरह से सक्षम बन जाता है।
अन्य मंत्रः देवी सरस्वती की आराधना-उपासना के लिए दूसरे कुछ मंत्र इस प्रकार हैं, जिनमें गायत्री मंत्र के जाप से देवी अति प्रसन्न होती हैं।
मंत्रः ऊँ वाग्दैवयै च विद्य्हे कामराजाय धीमहि, तन्नो देवी प्रचोदयात्।
इसके जाप करने का सिलसिला जैसे-जैसे आगे बढ़ता जाता है, वैसे-वैसे लाभ के मार्ग प्रशस्त होने लगता है। पहले दिन पांच माला (एक माला में 108 बार) का जाप करने से मां सरस्वती प्रसन्न होकर अगर मन-मस्तिष्क में ज्ञान-विज्ञान का संचार कर देती है, तो इस जाप को सुनिश्चित नियमबद्धता के साथ करने से त्राटक गुण अर्थात एकाग्रता आ जाती है। कोई विद्यार्थी अगर प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करे तो उसकी स्मरण शक्ति में गजब की बढ़ोत्तरी हो जाएगी, और उसे कोई भी पाठ असानी से समझ में आ जाएगा या कंठस्थ हो जाएगा। इसी के साथ नीचे दिए गए मंत्रों का जाप भी लाभकारी होता है।
मंत्र:
ऐं ह्रीं श्रीं वाग्वादनी सरस्वती देवी मम जिव्हायां,
सर्व विद्यां देही दापय-दापय स्वाहा!
#girlfriendboyfriend #famousastrologer #bestastrologer #blackmagic #vastusastra #remdiesforvivah #jaldvivahkeupaye #totkeinhindi #vedicastrologer
#vedicastrology
Indiaastroguru.net
Indiaastroguru.net
facebook.com

Post has attachment
नारियल देता है पूजा का पूरा फल, जानिए इस शुभ फल के 10 अनसुने टोटके>>>
Indiaastroguru.net
भारतीय धर्म और संस्कृति में नारियल का बहुत महत्व है। मंदिर में नारियल फोड़ना या चढ़ाने का रिवाज है। हिन्दू धर्म में वृक्षों के गुण और धर्म की अच्छे से पहचान करके ही उसके महत्व को समझते हुए उसे धर्म से जोड़ा गया है। उनमें ही नारियल का पेड़ भी शामिल है। नारियल को 'श्रीफल' भी कहा जाता है। ऐसा इसकी धार्मिक महत्ता के साथ-साथ औषधीय गुणों के कारण कहा जाता है।
नारियल ऊर्जा का एक बहुत अच्छा स्रोत है इसलिए आप खाने की जगह चाहें तो नारियल का इस्तेमाल कर सकते हैं। नारियल की चटनी बनती है और नारियल का सब्जी में भी इस्तेमाल किया जाता है।
नारियल में प्रोटीन और मिनरल्स के अलावा सभी पौष्टिक तत्व अच्छी मात्रा में उपलब्ध होते हैं। नारियल में विटामिन, पोटेशियम, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम और खनिज तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। नारियल में वसा और कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है इसलिए नारियल मोटापे से भी निजात दिलाने में मदद करता है। यहां प्रस्तुत है नारियल के 10 चमत्कारिक टोटके...
आश्चर्यजनक रूप से फलदायक है एकाक्षी नारियल, पढ़ें मंत्र
पहला टोटका
ऋ‍ण उतारने के लिए : एक नारियल पर चमेली का तेल मिले सिन्दूर से स्वस्तिक का चिह्न बनाएं। कुछ भोग (लड्डू अथवा गुड़-चना) के साथ हनुमानजी के मंदिर में जाकर उनके चरणों में अर्पित करके ऋणमोचक मंगल स्तोत्र का पाठ करें। तत्काल लाभ प्राप्त होगा।
दूसरा उपाय शनिवार के दिन सुबह नित्य कर्म व स्नान आदि करने के बाद अपनी लंबाई के अनुसार काला धागा लें और इसे एक नारियल पर लपेट लें। इसका पूजन करें और उसको नदी के बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। साथ ही भगवान से ऋण मुक्ति के लिए प्रार्थना करें।
Indiaastroguru.net
Indiaastroguru.net
facebook.com
Wait while more posts are being loaded