Profile

Cover photo
Dr Ashutosh Shukla
Works at चिकित्सक
Attended Sacred Heart Inter College
Lives in Laharpur, UP
200 followers|267,170 views
AboutPostsPhotos
People
Have him in circles
200 people
Dr Aadesh Goel's profile photo
RAJENDRA KUMAR's profile photo
Shailendra Gautam's profile photo
Bharat Bhushan's profile photo
Hari Om Lathwal's profile photo
Legal India's profile photo
Javed Gaure's profile photo
VHCA Herbals's profile photo
Dinesh Sharma's profile photo
Collections Dr Ashutosh is following
Education
  • Sacred Heart Inter College
    12th, 1981 - 1986
Basic Information
Gender
Male
Other names
Bablu
Story
Tagline
मेरी हर धड़कन भारत के लिए है....
Introduction
कर्म से चिकित्सक और बहुत कुछ करने की आशा के साथ जीवन की अनवरत यात्रा पर बढ़ने का क्रम जारी.....
Bragging rights
आयुर्वेदिक चिकित्सक और लिखने की रूचि...
Work
Occupation
चिकित्सक
Employment
  • चिकित्सक
    present
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
Laharpur, UP
Previously
Sitapur, UP - Rohtak, Haryana - Lucknow, UP

Stream

Dr Ashutosh Shukla

Shared publicly  - 
 
आज से मेरी वेबसाइट आप लोगों तक
 ·  Translate
समाचार पत्रों में १९८६ से ही संपादक के नाम पत्र लिखने की आदत जो बदलती हुई प्राथमिकताओं में भी लगातार बनी ही रही वह ब्लॉग के प्लेटफॉर्म के मिलने के बाद २००८ से ...
1
Add a comment...

Dr Ashutosh Shukla

Shared publicly  - 
 
लंबे समय से बेशक अमेरिका ने अपने हितों को साधने के लिए अन्य बहुत से देशों के साथ इस्लामी देशों को भी एक दूसरे के खिलाफ खड़ा किया पर क्या कभी इन इस्लामी देशों के शाहों, राष्ट्रपतियों, सैन्य तानाशाहों ने यह समझने की कोशिश की है कि इस्लामी जगत ही अमेरिका का सबसे आसान शिकार क्यों बनता हैं ? आज बहुत सारे मुस्लिम आईएस को मुस्लिम संगठन तो नहीं मानते पर वे अपने बच्चों को अमेरिका द्वारा कथित रूप से खड़े किये गए इस संगठन के प्रभाव में आने से भी रोक नहीं पाते हैं ? क्यों आईएस अधिकतर सुन्नी मुसलमानों की तरफदारी करते हुए इस्लाम के अन्य छोटे बड़े अनुयायी समूहों पर ही हमला किया करता है ? इस्लाम निर्दोषों पर हमले को गलत कहता है तो काबुल में बिजली पानी की मांग पर इकठ्ठा हुए हज़ारा (शिया) मुसलमानों से आईएस और इस्लाम को किस तरह का खतरा था जिसको देखते हुए उनके समूह पर इस तरह से आत्मघाती हमला किया गया ? इस्लामी जगत के अनुसार जब आईएस के लोग सच्चे मुसलमान नहीं हैं तो क्यों दुनिया के किसी धार्मिक केंद्र की आवाज़ पर दुनिया भर के मुसलमान आईएस के खिलाफ नहीं हो जाते है ? अब समय है कि सम्पूर्ण विश्व को सही दिशा दी जाये और इस्लामी देशों को इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभानी ही पड़ेगी क्योंकि दुनिया की १/५ आबादी उन्हीं की है. धार्मिक आधार पर बंटे इस्लामी जगत में सुधार को अंदर से ही शुरू किया जाना चाहिए क्योंकि दूसरे देश इस्लाम के विभिन्न फिरकों के मतभेदों का लाभ उठाने से नहीं चूकने वाले है। आज जो लोग आईएस के सुन्नी बनाम अन्य मुसलमानों के दिखाई देने पर चुप हैं कल को जब बात आगे बढ़कर बरेलवी और देवबंदियों तक उतर जाएगी तो इसे सुन्नी जगत में भी कैसे संभाला जायेगा ? 
 ·  Translate
1
Add a comment...