Profile

Cover photo
Astrologer Sidharth Jagannath Joshi (Astrologer)
Works at Parasharas Astro Consultency
Attends University of Life
Lives in Bikaner
4,970 followers|753,251 views
AboutPosts
People
In his circles
3,700 people
Have him in circles
4,970 people
Anand Kumar's profile photo
Koushi R Bharadwaj's profile photo
amit kumar Bhatt's profile photo
rakesh nalkar's profile photo
babu lal Choudhary's profile photo
Sushilkumar Vyas's profile photo
DEEPENDRA SHUKLA's profile photo
Priti Shrivastava's profile photo
Dr.Raghunath Misra  'Sahaj''s profile photo
Communities
Education
  • University of Life
    present
Basic Information
Gender
Male
Looking for
Friends, Networking
Birthday
September 7, 1977
Relationship
Married
Other names
Jyotishi
Story
Tagline
Astrologer Sidharth Jagannath Joshi
Introduction
Call me or mail me to find your fate.

http://www.parasharas.com

Contact : 09413156400
Bragging rights
Professional Astrologer
Work
Occupation
Astrologer
Skills
Jataka horoscope reading, Prashna kundali and vastu consultancy
Employment
  • Parasharas Astro Consultency
    CEO, 1997 - present
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
Bikaner
Contact Information
Home
Mobile
09413156400
Email
Work
Mobile
09413156400
Email

Stream

 
होली की ढेरों शुभकामनाएं... 
 ·  Translate
Astrologer Sidharth with RJ Rohit on Big 92.7 FM for holi and holashtak.
3
Add a comment...
 
महाशिवरात्रि केवल शिव का ही नहीं बल्कि शिव और शक्ति के संतुलन का पर्व है। शारदीय नवरात्र में जहां हम आध्‍यात्मिक उत्‍थान का प्रयास करते हैं, वहीं वसंतोत्‍सव तक हम सांसारिक, या कहें दैहिक या कहें भौतिक सुखों की ओर सहज रूप से आकर्षित होते हैं। प्रकृति पर छाया यौवन हमारे ऊपर भी असर दिखाना शुरू कर देता है। महाशिवरात्रि एक एेसा समय है जब विशुद्ध आध्‍यात्मिक चेतना शिव और सभी सांसारिक सुखों की दात्री भगवती का मिलन होता है। यही मिलन सृष्टि को दिशा देता है। कहा भी जाता है कि ब्रह्मा द्वारा सृष्टि का निर्माण किए जाने के बाद फाल्‍गुन की इस चतुर्दशी के दिन रुद्र अवतार प्रकट हुए।

#mahashivratri   #astrology #jyotish #tips   #happyshivratri2015  
 ·  Translate
6
1
Sunit Shrivastava's profile photo
Add a comment...
 
नववधू का ग्रह प्रवेश...
विवाह के दिन से 16 दिन के भीतर सम दिनों में अथवा पांचवे, सातवें अथवा नौवें दिन में नववधू का भर्तागृह में प्रवेश शुभ माना जाता है। विवाह वाले दिन में भी नववधूप्रवेश की शास्‍त्रों द्वारा अनुमति है। सोलह दिनों के बाद एक मास तक विषम दिनों में, एक मास के बाद एक वर्ष तक विषम मास में और वर्षानन्‍तर पांच वर्ष पर्यंत विषम वर्ष में नववधू ग्रह प्रवेश कर सकती है। 
 
ध्‍यान रहे विवाहान्‍तर सोलह दिनों के भीतर वधू प्रवेश के लिए चंद्रबल, गुरु शुक्र अस्‍त आदि दोष, सम्‍मुख दक्षिणस्‍थ शुक्र दोष आदि का विचार नहीं किया जाता... 
 
हां प्रवेश के समय अल्‍पकालिक भद्रा आदि दोषों का प्रयत्‍नपूर्वक त्‍याग करना ही चाहिए... 
 
सोलह दिन के बाद सभी प्रकार के दोषों को ध्‍यान में रखते हुए घर में वधू प्रवेश होना चाहिए। 
 
ग्राह्य तिथियां - रिक्‍ता यानी चतुर्थी, नवमी और चतुर्दशी और अमावस्‍या को छोड़कर शेष सभी ग्राह्य हैं। 
 
ग्राह्य वार - चंद्र, बुध, गुरू, शुक्र और शनिवार। (कुछ बुधवार को शुभ नहीं मानते)
 
ग्राह्य नक्षत्र - अश्विनी, रोहिणी, मृगशिरा,  मघा, पुष्‍य, उत्‍तराफाल्‍गुनी, हस्‍त, चित्रा, अनुराधा, मूल, उत्‍तराषाढ़ा, श्रवण, धनिष्‍ठा, उत्‍तरभाद्रपद और रेवती ग्राह्य हैं। 
 
रात के समय स्थिर लग्‍न अथवा स्थिर नवमांश में वधू प्रवेश शुभ माना जाता है। 
 
https://www.facebook.com/astrologer.sidharth
__________________________________________________
 #‎astrology #‎prediction  #‎science  #‎indian  #‎jyotish  #‎palmistry  #‎vedic #‎ayurveda  #‎yoga  #‎Gemini  #‎Weekly  #‎Horoscope  #‎Tasks  #‎Precautions #‎Chanting #‎naseeb  #‎StarSigns  #‎GEMSTONES #‎CHAKRAS  #‎PLANETS #‎RASHI  #‎ASTRO #‎ASTROLOGICAL
 ·  Translate
Astrologer @ Parasharas Astro Consultancy If you need professional consultancy Call : 09413156400
4
1
Shankar manghnani's profile photoSunit Shrivastava's profile photo
 
अच्छी जानकारी ।
 ·  Translate
Add a comment...
 
अगर आप अपने प्रेमी/प्रेयसी की कमियों और खासियत को ध्‍यान में रखेंगे तो उन्‍हें अधिक संभालकर रख पाएंगे। अगर आप उन्‍हें समझ नहीं पाते हैं तो दो प्रेमियों का संबंध भी how to tease your valentine बन सकता है। मदनोत्‍सव के बाद होली तक का समय आपसी संबंधों को मजबूत करने का सर्वश्रेष्‍ठ समय है। सभी जातकों को हृदय से शुभकामनाएं... - See more at: http://parasharas.com/article/How-to-get-perfect-Valentine
 ·  Translate
1
1
Rekha Singh's profile photo
Add a comment...

Communities

 
होलाष्‍टक से होली शुरू

होलाष्‍टक आनन्‍द मनाने का समय है। सनातन मान्‍यता के अनुसार वर्ष का आखिरी समय सामाजिक कार्य करने के बजाय माहौल का आनन्‍द लेने का होता है। मिथकों में आए रूपक के अनुसार फाल्‍गुन की मस्‍ती माहौल में इस कदर चढ़ी होती है कि कामदेव अपनी सीमाओं से बाहर निकल जाते हैं और साक्षात भगवान शिव पर काम बाण चला देते हैं। इससे रुष्‍ट महादेव कामदेव को भस्‍म कर देते हैं। गौर कीजिए वसंत पंचमी से महाशिवरात्रि तक का समय किस प्रकार माहौल को तरंगमय बनाकर रखता है। यह इसी दौर की घटना है। अब कामदेव की पत्‍नी रति महादेव से विनती करती है और महादेव पसीज जाते हैं, अंतत: कामदेव को पुन: स्‍थापित करते हैं। कामदेव की पुन: स्‍थापना का दिवस है फाल्‍गुन शुक्‍ल अष्‍टमी। यहीं से शुरू होता है नौ दिन का अनवरत आनन्‍द लेने का सिलसिला। हालांकि होलिका दहन तक के दिन को होला अष्‍टक नाम से जाना गया है, लेकिन इसकी पूर्णाहूति दुलहंडी के दिन होती है। बीकानेर में तो यह और भी विशिष्‍ट होती है। जहां उत्‍तर भारत के अधिकांश शहरों में फाल्‍गुन शुक्‍ल अष्‍टमी को होलिका दहन के लिए निर्धारित स्‍थान पर ही दो खंभ रोपित किए जाते रहेे हैं, होलिका और प्रहलाद के रूप में, वहीं बीकानेर शहर में हर मोहल्‍ले के बीचों बीच एक थंभ रोपा जाता है। ऐसा माना जाता है कि थंभ रोपन के बाद कोई भी किसी से भी कुछ भी होली की मजाक कर सकता है। आपको अब बुरा मानने का अधिकार नहीं है।

- See more at: http://parasharas.com/tip/all
 ·  Translate
3
Add a comment...
 
विश्‍व पुस्‍तक मेला...
सूचनार्थ.....
मेरी भी एक पुस्‍तक "ज्‍योतिष दर्शन" वहां उपलब्‍ध है। हॉल संख्‍या 12 A और स्‍टॉल संख्‍या 296 में वाग्‍देवी प्रकाशन की पुस्‍तकें प्रदर्शित की गई हैं। वहीं पर मेरी पुस्‍तक ज्‍योतिष दर्शन भी उपलब्‍ध है।
हालांकि अब तक अधिकांश लोग अपनी अपनी पुस्‍तकें बता चुके हैं, ऐसे में यह खबर बासी लगनी चाहिए, लेकिन बहुत से मित्रों का आग्रह था कि दिल्‍ली में कहीं मिले तो बताया जाए। सो बता दिया है। अभी मेला 22 तक है। 

  #book   #astrology   #astrologer_sidharth   #jyotish   #darshan  
 ·  Translate
5
kamal sharma's profile photo-rajendra -naruka's profile photo
2 comments
 
badhai
Add a comment...
 
विवाह कर दूल्‍हा दुल्‍हन को लेकर घर आता है, लेकिन कुछ मामलों में वधू के गृह प्रवेश को लेकर भी शुभता को देखा जाता है। किसी भी कन्‍या के जीवन का वह बहुत महत्‍वपूर्ण समय होता है, जब वह उस घर की दहलीज लांघती है, जिसमें वह पैदा होती है और अपने माता पिता और परिजनों का प्रेम पाती है, और एक नए घर में प्रवेश करती है, जो आखिर में उसकी कर्मभूमि और भविष्‍य की सभी संभावनाओं का स्‍थल साबित होगा।

  #astrology   #bride   #marriage   #kundali   #jyotish   #vivah  
 ·  Translate
2
Add a comment...
 
महाशिवरात्रि 
..........................................
शिव और शक्ति के मिलन का दिन...
बाकी मैंने अपनी वेबसाइट के टिप्‍स में अपडेट किया है... वहां भी जाएं तो पता चले
http://parasharas.com/tip/all
________________________________________________
‪#‎astrology‬ ‪#‎prediction‬ ‪#‎science‬ ‪#‎indian‬ ‪#‎jyotish‬ ‪#‎palmistry‬ ‪#‎vedic‬ ‪#‎ayurveda‬ ‪#‎yoga‬ ‪#‎Gemini‬ ‪#‎Weekly‬ ‪#‎Horoscope‬ ‪#‎Tasks‬ ‪#‎Precautions‬ ‪#‎Chanting‬ ‪#‎naseeb‬ ‪#‎StarSigns‬ ‪#‎GEMSTONES‬ ‪#‎CHAKRAS‬ ‪#‎PLANETS‬ ‪#‎RASHI‬ ‪#‎ASTRO‬ ‪#‎ASTROLOGICAL‬
 ·  Translate
राशियों के तत्‍व. हर राशि का अपना तत्‍व होता है। मेष, सिंह और धनु राशियां अग्नितत्‍वीय राशियां हैं, वृषभ, कन्‍या और मकर पृथ्‍वीतत्‍वीय राशियां हैं, मिथुन, तुला और कुंभ ...
1
Add a comment...
 
हर राशि का अपना तत्‍व होता है। मेष, सिंह और धनु राशियां अग्नितत्‍वीय राशियां हैं, वृषभ, कन्‍या और मकर पृथ्‍वीतत्‍वीय राशियां हैं, मिथुन, तुला और कुंभ राशियां वायु तत्‍वीय राशियां हैं और कर्क, वृश्चिक और मीन जलतत्‍वीय राशियां हैं। हर राशि के तत्‍व के अनुसार उस राशि का आचरण भी होता है। - See more at: http://parasharas.com/tip/all
 ·  Translate
3
Add a comment...
 
http://parasharas.com/rashifal 

इस वेलेंटाइन डे पर ग्रहों की स्थिति कुछ इस तरह है कि सभी राशियों को अनुकूल वातावरण मिले जरूरी नहीं है। किस राशि के जातकों के साथ किस प्रकार की समस्‍याएं पेश आ सकती हैं और उन्‍हें क्‍या ध्‍यान में रखना चाहिए, इस बारे में हमारे पैनल की ज्‍योतिषी चंद्र प्रभा ने विश्‍लेषण पेश किया है। अगर इन बातों का ध्‍यान रखेंगे तो आप भी इस बार पूरी उमंग के साथ मना पाएंगे वेलेंटाइन डे...
 ·  Translate
2
Add a comment...