Profile

Cover photo
अल्पना वर्मा
Works at school
Attended Banasathali Vidyapith[Rajsthan]
Lives in UAE
841 followers|1,403,604 views
AboutPostsPhotosYouTube+1's

Stream

Pinned
7
प्रेम सिंह कुंवर's profile photoअल्पना वर्मा's profile photoLokesh Singh's profile photo
3 comments
 
मार्मिक भाव व्यक्त करती हुयी कुछ सोचने पर विवश करती कहानी। .
 ·  Translate
Add a comment...
 
आजकल के जो सामाजिक हालात हैं ऐसे में खुल कर, खिलकर खुलकर जी पाना /उत्सव  मनाना शायद हर किसी के बस में  नहीं या हर किसी के दिल में अब वो उत्साह भी नहीं है !कुछ लिखने का प्रयास किया है , कविता जैसा बन पड़ा है..संशोधन हेतु सुझाव ...
5
PREM SAGAR SINGH's profile photoअल्पना वर्मा's profile photoDeepak kumar's profile photo
3 comments
 
Hiiiiii
Add a comment...
6
Gopal Jaiswal's profile photoअल्पना वर्मा's profile photo
2 comments
 
Dhnywaad Gopal ji.
Add a comment...
 
फेयरवेल!
 ·  Translate
'फेयरवेल ' मुझे यह शब्द कतई पसंद नहीं है . मैं कभी नहीं चाहूँगी कि मुझे  कोई  फेयरवेल 'कही जाए  . सोचती हूँ मैं जब भी नौकरी छोडूँ या ज़िन्दगी .. तो चुपचाप  चली जाऊं.बिना हो हल्ला किये .ऐसा हो पाना यूँ तो संभव नहीं है लेकिन सोच...
6
Add a comment...
In her circles
1 person
Have her in circles
841 people
Dharmendra Tiwari's profile photo
Lokesh Singh's profile photo
Dikki rahman fauzi's profile photo
kunal kumar's profile photo
Kamlendra Singh Srinet's profile photo
DrManoj Mishra's profile photo
Purnima Varman's profile photo
Satish Choudhary's profile photo
Arun Pandey's profile photo
 
गीत-यारा सीली सीली मूल गायिका -लता मंगेशकर गीतकार-गुलज़ार संगीतकार -हृदयनाथ मंगेशकर यहाँ प्रस्तुत गीत मेरी एक कोशिश है ,आशा है आप को पसंद आएगी. गीत यारा सीली-सीली बिरहा की रात का जलना ये भी कोई जीना है, ये भी कोई मरना यारा सीली...
9
Add a comment...
 
प्रेम /प्यार /मोहब्बत ! आह !
प्रेम /प्यार /मोहब्बत !आह! इस भाव के न जाने कितने नाम हैं .. कहते हैं ,कभी बेनाम भी रह जाया करती हैं कहानियाँ जिन में ये भाव प्रमुख होते हैं .. मगर क्या आज इस शब्द का कोई अर्थ बचा है ?क्या आज भी सच्चा प्रेम जैसा कुछ होता है? यहाँ उस अहसास के लिए इस्तमाल किय...
 ·  Translate
प्रेम /प्यार /मोहब्बत !आह! इस भाव के न जाने कितने नाम हैं .. कहते हैं ,कभी बेनाम भी रह जाया करती हैं कहानियाँ जिन में ये भाव प्रमुख होते हैं .. मगर क्या आज इस शब्द का कोई अर्थ बचा है ?क्या आज भी सच्चा प्रेम जैसा कुछ होता है? ...
4
Duli Chand Karel's profile photoअल्पना वर्मा's profile photoSudhir Singh's profile photo
3 comments
 
PYAR KI PADTAL ,YUG NIKAL GAYA ABHI BHI MANUSHYA KAR RAHA HAI .
     ALPANA JI AAP MERI 300 WEN MITRA BANI HAIN ,MERI TARAF SE BADHAI SWAIKAREN ...................SUDHIR SINGH ,RASHTRIYA SANYOJAK ,MANZIL GROUP SAHITIK MANCH ,BHARATWARSH .
Add a comment...
People
In her circles
1 person
Have her in circles
841 people
Dharmendra Tiwari's profile photo
Lokesh Singh's profile photo
Dikki rahman fauzi's profile photo
kunal kumar's profile photo
Kamlendra Singh Srinet's profile photo
DrManoj Mishra's profile photo
Purnima Varman's profile photo
Satish Choudhary's profile photo
Arun Pandey's profile photo
Work
Occupation
Teaching
Skills
Still exploring what I am good at!
Employment
  • school
    Teacher, present
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
UAE
Previously
India
Story
Tagline
Keep Smiling!
Introduction
मेरा परिचय मेरे ब्लॉग...Know me through my blogs...

Education
  • Banasathali Vidyapith[Rajsthan]
    B.Sc,. B.Ed.,,M.A.
Basic Information
Gender
Female
Relationship
Married
अल्पना वर्मा's +1's are the things they like, agree with, or want to recommend.
होली ....
alpana-verma.blogspot.com

आप सभी को इस रंगोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ!!!!!!! ====================================== =============================== ==================

माही
alpana-verma.blogspot.com

Alpana 's hindi blog,Hindi Blogger,Poems,Prose,Articles,Alpana Verma

अभिशप्त माया
alpana-verma.blogspot.com

ग़लती से क्लिक हुई छाया एक साए की आज सागर का किनारा ,गीली रेत,बहती हवा कुछ भी तो रूमानी नहीं था. बल्कि उमस ही अधिक उलझा रही थी माया और लक्ष्य

लकीर
alpana-verma.blogspot.com

*****बहुत दिनों बाद ब्लॉग की चुप्पी को तोडा जाए .:).............***** चित्र -साभार : शायक आलोक कुछ चित्र बोलते हैं और मुझे ऐसा ही एक चित्र य

नव वर्ष के स्वागत में ..
alpana-verma.blogspot.com

२०१४ आने वाला है इस अवसर पर सभी को नव वर्ष की अग्रिम शुभकामनाएँ! नववर्ष के स्वागत हेतु शौपिंग मॉल में सजावट - बर्फ का किला -दुबई मॉल में मॉल

दुनिया बनाने वाले क्या तेरे मन में ...
merekuchhgeet.blogspot.com

कवि शैलेन्द्र की फिल्म'तीसरी कसम' को सिनेमा नहीं सेलुलोइड पर लिखी कविता कहा गया है। यह एक ऐसी फिल्म है जिसका प्रभाव देर तक दिमाग पर रहता है।

रंग बदलता मौसम
alpana-verma.blogspot.com

एमिरात में तापमान ५० से ऊपर पहुँच गया है.कल के अखबार में हमारे शहर में ५१ डिग्री तापमान बताया गया है। घर के बाहर निकल कर ज़रा देर को आप छाया

मेरा खज़ाना /मेरा पुरस्कार
alpana-verma.blogspot.com

२०१२-१३ का शैक्षिक सत्र समाप्त होने को है,परीक्षाएँ शुरू हुई हैं या समाप्त होने को हैं या फिर समाप्त हो चुकी हैं। यहाँ एमिरात में अप्रैल के

अच्छा लगता है....
alpana-verma.blogspot.com

'व्योम के पार' ब्लॉग के अतिरिक्त मेरे अन्य दो ब्लॉग भी हैं जिनमें से एक है - 'भारत दर्शन' । भारत के विभिन्न दर्शनीय स्थलों की जानकारी जितना

आत्मालाप
alpana-verma.blogspot.com

----आत्मालाप ----- अमर्त्य कुछ है ? कुछ भी नहीं। .................. तुम और मैं ; 'हम' नहीं हैं। पर हम से कुछ कम नहीं हैं ................. ऐ

रानी सीपरी की मस्जिद
bharatparytan.blogspot.com

Picture is from-http://www.welcometoahmedabad.com/124/islamic-architecture.html शहर का नाम सुलतान अहमदशाह पर पडा था.कंकरिया और वस्त्रापुर ता

'मैं' ने 'तुम' से कहा मगर क्या और क्यों ?
alpana-verma.blogspot.com

"आज तक मेरी तरफ आँख उठाकर देखने की हिम्मत भी किसी दुश्मन की नही हुई .. लेकिन आज मुझे अपनों ने ही लाठियों से पीटा" !! ------- पूर्व जनरल वी क

शिक्षण-प्रशिक्षण
alpana-verma.blogspot.com

मेरे विचार में दो तरह के अध्यापक ही देर तक याद रह जाते हैं एक वे जो बहुत स्नेहमयी होते हैं और अच्छा पढ़ाते भी हैं दूसरे वे जो ज़रूरत से ज्या

दक्षिण का बनारस -'रामेश्वरम -एक पवित्र तीर्थ'
bharatparytan.blogspot.com

पहले यह भारत की भूमि से जुड़ा हुआ था लेकिन समय बीतता गया , सागर की लहरों ने इस कड़ी को काट दिया और यह अलग हो गया.लंका पर चढ़ाई करने से पूर्व

जब मैं 'मैं' नहीं 'हम' होता है...
alpana-verma.blogspot.com

इसी नतीजे पे पहुँचते हैं सभी आखिर में, हासिल ए सैर ए जहाँ कुछ नहीं हैरानी है . --------------------------------- जुस्तजू जिसकी थी उसको तो न

Vyom ke Paar...व्योम के पार: बहुमुखी प्रतिभासंपन्न होना एक शाप ...
alpana-verma.blogspot.com

Vyom ke Paar...व्योम के पार. सिर्फ अँधेरे नहीं उजाले भी हैं... Subscribe. RSS Feed. Add to Google Reader · View RSS Feed. Loading. Send feed

व्योम के पार:अल्पना वर्माका ब्लॉग-नवभारत टाइम्स
author.blogs.navbharattimes.com

जब आप के किसी ख़ास गुण की तारीफ़ की जाती है तो सुन कर खुश होना स्वाभाविक है.लेकिन जब आप बहुमुखी प्रतिभासंपन्न हों तो आप के गुण ,आप की काबिलि