Profile cover photo
Profile photo
Abhishek Kumar
3,094 followers
3,094 followers
About
Posts

Post has attachment
Mobile Cases

Post has attachment

वक़्त-ए-रुख़सत अलविदा का लफ़्ज़ कहने के लिये
वो तेरे सूखे लबों का थरथराना याद है

Post has attachment

Post has attachment

कुछ तम्हारी निगाह काफिर थी,
कुछ मुझे भी खराब होना था
[ मजाज ]

तुम्हारे घर के सभी रास्तों को काट गई,
हमारे हाथ में कोई ऐसी लकीर थी

Post has attachment

Post has attachment

पढ़ते फिरेंगे गलियों में इन रेख्तों को लोग
मुद्दत रहेंगी याद ये बातें हमारियां  
Wait while more posts are being loaded