Profile

Cover photo
ARUN SATHI
Works at SADHNA NEWS, Hindustan
Attended M G A H School, Babhanbigha, Barbigha, Sheikhpura, Bihar
Lives in barbigha, sheikhpura,bihar
2,832 followers|425,184 views
AboutPostsPhotosYouTube

Stream

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
एक सवाल
एक सवाल  ** सवाल यह नहीं है कि हम अपनों के लिए  क्यूँ करते है कर्म-कुकर्म  पुण्य-पाप..? ** सवाल तो यह भी नहीं है  कि हम अपनों के लिए  जीते क्यूँ है..? ** सवाल तो यह है  कि हमारा अपना है कौन....?
 ·  Translate
2
Add a comment...

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
**
निराश मत हो... शनै: शनै: अस्ताचल की ओर जाते सूरज को देख बहुत आशान्वित हो जाता हूं, जैसे  उर्जा की एक नई किरण समाहित हो अन्तः को जागृत कर रही हो.... ......... जैसे  कह रही हो, फिर होगी सुबह, फिर निकलेगा सूरज, नई उर्जा, नई आशा, नया दिन और नई चुनौतियों के साथ,...
 ·  Translate
निराश मत हो... शनै: शनै: अस्ताचल की ओर जाते सूरज को देख बहुत आशान्वित हो जाता हूं, जैसे  उर्जा की एक नई किरण समाहित हो अन्तः को जागृत कर रही हो.... ......... जैसे  कह रही हो, फिर होगी सुबह, फिर निकलेगा सूरज, नई उर्जा, नई आशा...
1
Add a comment...

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
बरसाती नेता....(व्यंग्य)
बरसाती नेता एक अति विशिष्ट विशेषण है और यदि आप अब तक इससे अपरिचित है तो खड़े खड़े आपको राष्ट्रद्रोही और असमाजिक घोषित कर दिया जायेगा । क्यों? क्योंकि तब आप चुनाव के समय एकाएक उग आये विचित्रवीर नेताओं को इसलिए नहीं जानते होंगे कि आप वोट या तो नहीं देते या फिर ...
 ·  Translate
बरसाती नेता एक अति विशिष्ट विशेषण है और यदि आप अब तक इससे अपरिचित है तो खड़े खड़े आपको राष्ट्रद्रोही और असमाजिक घोषित कर दिया जायेगा । क्यों? क्योंकि तब आप चुनाव के समय एकाएक उग आये विचित्रवीर नेताओं को इसलिए नहीं जानते होंगे कि...
3
vimal Kumar's profile photo
 
Democracy
Add a comment...

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
**
दिनकर की यादों को बिहार सरकार ने जमीनदोज किया। (पुण्य तिथि पर राष्ट्रकवि का नमन।) अरूण साथी/शेखपुरा/बिहार बिहार सरकार साहित्यकारों के प्रति किस प्रकार का भाव रखती है इसकी वानगी है दिनकर जी की स्मृति से जुड़ा शेखपुरा जिला मुख्यालय का ध्वस्त कचहरी भवन। इस भवन ...
 ·  Translate
दिनकर की यादों को बिहार सरकार ने जमीनदोज किया। (पुण्य तिथि पर राष्ट्रकवि का नमन।) अरूण साथी/शेखपुरा/बिहार बिहार सरकार साहित्यकारों के प्रति किस प्रकार का भाव रखती है इसकी वानगी है दिनकर जी की स्मृति से जुड़ा शेखपुरा जिला मु...
3
1
jairam tiwari's profile photo
 
Painful
Add a comment...

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
धर्म से बड़ा विज्ञान जगत में दूसरा कोई नहीं ...ओशो
ओशो कहते है :- विवेक और श्रद्धा मनुष्य के भीतर दो दिशाएं हैं । श्रद्धा का अर्थ है कि मैं मान लूँ, जो कहा जाय । दुनिया में जितने प्रचारवादी है, जितने प्रोपेगैंन्डिस्ट है, चाहे वे राजनीतिज्ञ हों, चाहे धार्मिक हों, वो चाहते है की वो जो कहें आप मान लें ।  उनकी ...
 ·  Translate
ओशो कहते है :- विवेक और श्रद्धा मनुष्य के भीतर दो दिशाएं हैं । श्रद्धा का अर्थ है कि मैं मान लूँ, जो कहा जाय । दुनिया में जितने प्रचारवादी है, जितने प्रोपेगैंन्डिस्ट है, चाहे वे राजनीतिज्ञ हों, चाहे धार्मिक हों, वो चाहते है ...
1
Add a comment...

ARUN SATHI

commented on a post on Blogger.
Shared publicly  - 
 
sarthak sanklan
 ·  Translate
चर्चामंच के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है. चर्चा के विशेष अंक की तरफ ध्यान आकर्षित न हुआ हो, तो पूछे बिने ही बता दूं, ये "अ" से अनूषा की दूसरी चर्चा है, और विशाल संख्या १९५१ के सामने २ अंक नितां...
1
Anusha Jain's profile photo
 
धन्यवाद
 ·  Translate
Add a comment...
In his circles
869 people
Have him in circles
2,832 people
Manoj Tiwari's profile photo
Mahan Bharatiya's profile photo
ranjeet kumar's profile photo
Alok thakur's profile photo
amarpal singh verma's profile photo
Titan's Day Out's profile photo
NIVAS KUMAR's profile photo
P.K. Sharma's profile photo
Shankar Chandraker's profile photo

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
अपनी लाश को ढोना...
(अपनी वेदना को शब्द दी है, बस...) पहाड़ सी जिंदगी  का बोझ पीड़ादायी होता है.. उससे अधिक पीड़ादायी हो जाता है किसी अपने का  पहाड़ सा  दिया हुआ दुख.... और जब आदमी  अपनी ही लाश को ढोते हुए जीने लगता है, तब उस असाह्य पीड़ा के प्रति भी वह संवेदनहीन सा हो जाता है! जान...
 ·  Translate
1
Add a comment...

ARUN SATHI

commented on a post on Blogger.
Shared publicly  - 
 
BAHUT BEHTARIN RACHNA..
 ·  Translate
... हर रात कोई आता है मुझे सजाता है सुबह उठकर देखती हूँ आइना मन आत्म-मुग्ध हो जाता है कौन है ? मुझे सजाते चले जाने का उसे यह क्या शौक है ? वह भी बिना शोर... चुपचाप ! उसका मुझे सजाना मेरे ही भीतर बिना किसी आहट के उतर आना... कि...
1
vimal Kumar's profile photoVikash Kumar King Seven's profile photo
2 comments
 
Nice 
Add a comment...

ARUN SATHI

commented on a post on Blogger.
Shared publicly  - 
 
बहुत आभार आपका... सराहनीय  संकलन ...
 ·  Translate
मित्रों। शायद आदरणीय दिलबाग विर्क जी किसी अपरिहार्य काम में व्यस्त हो गे। इसलिए बृहस्पतिवार की चर्चा में  मेरी पसन्द के लिंक देखिए। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') -- दोहे   "धरा-दिवस"  उच्चारण -- विश्व पृथ्वी...
1
Add a comment...

ARUN SATHI

commented on a post on Blogger.
Shared publicly  - 
 
srahniya... snklan .. aabhaar 
 ·  Translate
चर्चामंच के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है. चर्चा के विशेष अंक की तरफ ध्यान आकर्षित न हुआ हो, तो पूछे बिने ही बता दूं, ये "अ" से अनूषा की दूसरी चर्चा है, और विशाल संख्या १९५१ के सामने २ अंक नितां...
3
Anusha Jain's profile photoDEEPENDRA SHUKLA's profile photo
2 comments
 
बहुत खूब...
 ·  Translate
Add a comment...

ARUN SATHI

Shared publicly  - 
 
बूढ़ा बरगद
बचपन का एक बड़ा हिस्सा इसी की गोद में बीता है और जाने कितनी ही यादों को समेटे हुए यह आज भी खिलखिला रहा है । हालाँकि अब यह बूढ़ा हो गया है पर जैसे ही इसके करीब गया तो लगा की इसने मुझे पहचान लिया है । एक अपनापन है मुझे इस बूढ़े बरगद से । जैसे यह भी कोई अपना ही ह...
 ·  Translate
बचपन का एक बड़ा हिस्सा इसी की गोद में बीता है और जाने कितनी ही यादों को समेटे हुए यह आज भी खिलखिला रहा है । हालाँकि अब यह बूढ़ा हो गया है पर जैसे ही इसके करीब गया तो लगा की इसने मुझे पहचान लिया है । एक अपनापन है मुझे इस बूढ़े बर...
1
Guru Misra's profile photo
 
Super memories...
Add a comment...

ARUN SATHI

commented on a post on Blogger.
Shared publicly  - 
 
behtarin rachna...
 ·  Translate
धरा-दिवस पर कीजिए, यही प्रतिज्ञा आज। भू पर पेड़ लगाइए, जीवित रहे समाज।१। -- हरितक्रान्ति से मिटेगा, धरती का सन्ताप। पर्यावरण बचाइए, बचे रहेंगे आप।२। -- पेड़ लगाकर कीजिए, अपने पर उपकार। करो हमेशा यत्न से, धरती का सिंगार...
1
Add a comment...
People
In his circles
869 people
Have him in circles
2,832 people
Manoj Tiwari's profile photo
Mahan Bharatiya's profile photo
ranjeet kumar's profile photo
Alok thakur's profile photo
amarpal singh verma's profile photo
Titan's Day Out's profile photo
NIVAS KUMAR's profile photo
P.K. Sharma's profile photo
Shankar Chandraker's profile photo
Work
Occupation
Reporting
Employment
  • SADHNA NEWS, Hindustan
    Reporting, present
  • SADHNA NEWS, Hindustan
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
barbigha, sheikhpura,bihar
Previously
barbigha, sheikhpura,bihar - barbigha, sheikhpura,bihar
Contact Information
Home
Phone
7870285651
Email
Address
Barbigha, Sheikhpura; Bihar
Story
Introduction
पेशे से नहीं कर्म से पत्रकार, जुर्म के खिलाफ लड़ने की आदत ने ही इस जूनून को जिन्दा रखा है पर कभी खुद से हारा हुआ भी पाता हूँ. बिहार के शेखपुरा जिले का एक क़स्बा बरबीघा में रह कर अपने ही ईमान को बचाने के लिए संघर्ष करता हुआ...

बुरा जो देखन मै चला, बुरा न मिलया कोई.
जो दिल खोजा अपना, मुझसा बुरा न कोई,
Education
  • M G A H School, Babhanbigha, Barbigha, Sheikhpura, Bihar
    1988 - 1990
Basic Information
Gender
Male
Other names
babloo