Profile cover photo
Profile photo
डा.संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी
71 followers -
साथ में कोई नहीं चल सकता परवाह नहीं मैं चलता हूं!
साथ में कोई नहीं चल सकता परवाह नहीं मैं चलता हूं!

71 followers
About
Posts

Post has attachment
समय प्रबन्धन-५
प्रसिद्ध प्रबंधशास्त्री हेनरी फेयोल के अनुसार, ‘ उपक्रम में उपलब्ध समस्त संसाधनों का उसके उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए यथासंभव सर्वोत्तम उपयोग के लिए प्रयास करना ही प्रबंधन का कार्य है।’ वास्तव में प्रबंधन के बिना अन्य सभी संसाधन संसाधन मात्र ही रह जायेंगे...
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
समय प्रबन्धन-४
जब हम समय को एक संसाधन के रूप में स्वीकार करते हैं, तब हमें यह भी देखना पड़ेगा कि उस संसाधन का पर्याप्त और सही प्रयोग हो रहा है या नहीं। प्राचीन समय में लोग धन को जमीन में गाढ़कर रखते थे और कई बार यह भी भूल जाते थे कि उन्होंने धन रखा कहां है? ऐसे धन का कोई उप...
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
समय प्रबंधन-3
व्यक्ति के जन्म से लेकर मृत्यु तक के समय को आयु के नाम से जाना जाता है। देश, काल और परिस्थितियों के अनुरूप आयु विभिन्न होती हैं और अनिश्चित होती हैं। आयु के बारे में केवल अनुमान लगाये जा सकते हैं किंतु किसी व्यक्ति की कितनी आयु होगी, इसका पता लगाने का कोई व...
Add a comment...

Post has attachment
समय प्रबंधन-2
वर्तमान समय में हम किसी से बातचीत में सामान्यतः पहला या दूसरा प्रश्न यह करते हैं, ‘और भाई! क्या हो रहा है?’ इस प्रश्न का उत्तर भी बड़ा ही सामान्य होता है, ‘कुछ नहीं ऐसे ही टाइमपास हो रहा है।’ यह अधिकांश व्यक्तियों के बीच के वार्तालाप का भाग रहता है। यही यह न...
Add a comment...

Post has attachment
समय प्रबन्धन-१
मानव संसार का सर्वश्रेष्ठ प्राणी है, ऐसा माना जाता है। व्यक्ति ने तुलनात्मक रूप से अन्य समस्त प्राणियों की अपेक्षा अपने बौद्धिक स्तर का विकास करके ऐसा सिद्ध भी किया है। मानव अपने बौद्धिक विकास के बल पर प्रकृति के अन्य उपादानों का न केवल कुशलतम उपयोग करने के...
Add a comment...

Post has attachment
दिखावटी प्रेम से बचो मेरे यार
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded